Koshi Live-कोशी लाइव SAHARSA/खुलासा:आखिर क्यों की गई मुखिया की हत्या,मुख्य आरोपी रंजीत यादव ने कर दिया खुलासा, शूटर के साथ भागने के फिराक में था.... - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

Translate

Sunday, April 10, 2022

SAHARSA/खुलासा:आखिर क्यों की गई मुखिया की हत्या,मुख्य आरोपी रंजीत यादव ने कर दिया खुलासा, शूटर के साथ भागने के फिराक में था....


खजूरी पंचायत के युवा मुखिया रंजीत साह की शुक्रवार को गोली मारकर की गई थी हत्या
सुपारी किलर के साथ भागने की तैयारी में थे राजद के पूर्व नेता, घेराबंदी कर शुक्रवार की रात किया गिरफ्तार
खजूरी पंचायत के मुखिया रंजीत साह की हत्या मामले का पुलिस ने 24 घंटे के भीतर खुलासा कर दिया है। मामले में मुख्य सूत्रधार रहे पूर्व राजद नेता रंजीत यादव सहित तीन मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। बताया गया कि भाजपा समर्थक मुखिया रंजीत ने पंचायत चुनाव में राजद के पूर्व नेता रंजीत यादव के समर्थक जीवन पोद्दार को हराया था। जो विरोधियों को रास नहीं आया। गिरफ्तार पूर्व राजद नेता रंजीत यादव भी पहले खजूरी का मुखिया रह चुका है। आरक्षण के कारण उसे चुनाव से हटना पड़ा था। जिसके बाद उसने अपने समर्थक जीवन पोद्दार को खड़ा करवाया जो रंजीत साह को चुनौती नहीं दे पाया और चुनाव हार गया। परिजनों और पुलिस का कहना है कि रंजीत की जीत के बाद से ही उसे रास्ते से हटाने की साजिश शुरू हो गई थी। हत्या कराने में राजद के पूर्व नेता व सूत्रधार रंजीत यादव ने महती भूमिका निभाई। वह पूर्व में सोनवर्षा विधानसभा क्षेत्र से राजद के टिकट पर चुनाव भी लड़ा था जिसमें उसे हार का सामना करना पड़ा था। बीते विधानसभा चुनाव में पार्टी के अंदर भीतरघात करने के आरोप में राजद से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है। फिलहाल वे पंचायत राजनीति में गहरे रूप से जुड़ा था।


सभी अपराधियों ने कबूली हत्या करवाने की बात
एसपी ने बताया कि गिरफ्तार तीनों अपराधियों ने हत्या की वारदात को अंजाम देने की बात स्वीकारी है। पुलिस द्वारा पूछताछ में अपने अन्य सहयोगियों का भी नाम बता दिया है। जिसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। एसपी ने बताया कि रंजीत यादव और जीवन पोद्दार ने साजिश रच कर कुछ ही दिन पूर्व जेल से जमानत पर बाहर निकले दीपक यादव को मुखिया की हत्या की सुपारी दी थी। जिसके बाद उनकी रेकी की गई। फिर लाइनर से इशारा मिलते ही उनकी हत्या कर दी गई है। मुखिया को काफी नजदीक से दो गोली मारी गई। जिनसे उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। मुखिया को गोली मारने की घटना के दौरान उनके मोबाइल पर किसका फोन आया था इसकी भी जांच की जा रही है।

शव के साथ एनएच-107 जाम करने वाले 5 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज
डीएम ने शनिवार को खजुरी पंचायत के मुखिया हत्याकांड के विरोध में बैजनाथपुर चौक पर सड़क जाम कर यातायात बाधित करनेवाले 5 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है। साथ ही सड़क जाम कर रहे अन्य लोगों की पड़ताल की जा रही है। सड़क जाम करने के लिए जिन ट्रकों को सड़क पर खड़ा कर यातायात बाधित किया गया उन ट्रकों का परमिट निरस्त करने का आदेश दिया है। 2 अप्रैल को अपने कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेस में स्पष्ट शब्दों में कहा था कि सड़क जाम की स्थिति को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सड़क जाम से आम अवाम को परेशानी होती है।

विलाप करती मृतक रंजीत साह की पत्नी।
विलाप करती मृतक रंजीत साह की पत्नी।

जेल से बाहर निकला लक्ष्मिनियां गांव निवासी दीपक यादव ने ली थी सुपारी
पीसी में एसपी लिपि सिंह ने बताया कि मुखिया एवं सपहा गांव, वार्ड नंबर-16 निवासी सुरेंद्र प्रसाद साह के 32 वर्षीय पुत्र रंजीत साह हत्या कांड का उद्भेदन कर लिया गया है। उनकी हत्या में शामिल मुख्य साजिशकर्ता खजूरी गांव निवासी राजद से निष्कासित नेता रंजीत यादव की गिरफ्तारी हो गई है। वहीं, बीते कुछ दिन पूर्व जेल से जमानत पर जेल से बाहर निकला लक्षमिनियां गांव निवासी राजेंद्र यादव के अपराधी पुत्र दीपक यादव की भी गिरफ्तारी हो गई है। उन्होंने ही मुखिया की हत्या की सुपारी ली थी। ये दोनों सहरसा से भागने का प्रयास कर रहे थे। इसी दौरान उन्हें हिरासत में ले लिया गया।

34 वोट से मुखिया चुनाव जीते थे रंजीत, जनवरी में दी थी धमकी
एसपी ने बताया कि रंजीत साह ने पंचायत चुनाव में जीत हासिल की थी। वहीं, उक्त चुनाव में रंजीत यादव समर्थित उम्मीदवार एवं खजूरी गांव, वार्ड नंबर-9 निवासी जीवन पोद्दार मात्र 34 मत से चुनाव हार गया था। यह हार रंजीत यादव को नागवार गुजरा। इसके बाद से ही वर्तमान मुखिया और रंजीत यादव में अदावत चली आ रही थी। बीते 26 जनवरी को भी उक्त दोनों अपराधियों ने मुखिया को जान से मार देने की धमकी दी थी। जिसके बाद मौका मिलते ही उनकी हत्या करवा दी गई। मुखिया रंजीत साह की मौत के बाद उनके परिवार की कमर ही टूट गई है।



Followers

MGID

Koshi Live News