Koshi Live-कोशी लाइव बिहार में अब बूथ कैप्चरिंग नहीं, हो रहा बैंक कैप्चर! मुंगेर के बाद पूर्णिया में वोट डालते ही अकाउंट से रुपये गायब - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

Translate

Sunday, December 5, 2021

बिहार में अब बूथ कैप्चरिंग नहीं, हो रहा बैंक कैप्चर! मुंगेर के बाद पूर्णिया में वोट डालते ही अकाउंट से रुपये गायब


पूर्णिया: बिहार पंचायत चुनाव 2021 के दरम्यान मुंगेर के बाद अब पूर्णिया से नया मामला सामने आया है। यहां बायसी प्रखंड में चुनाव के दौरान एकाएक लोगों के अकाउंट से पैसे गायब होने लगे।
वोट डालने के बाद जैसे ही वे घर लौटे और अपना फोन चेक किया, उनके होश उड़ गए। ऐसे में ये कहना गलत नहीं होगा कि बिहार में अब बूथ से बैंक कैप्चर किया जा रहा है। पहले तो बूथ कैप्चर किया जाता था।

अब बायोमैट्रिक पर लिए गए अंगूठे के निशान का दुरुपयोग कर वोटर्स के खाते से राशि निकासी की जांच पुलिस ने शुरु कर दी है। अब तक कुल 18 वोटर्स ने इस संदर्भ का आरोप लगाकर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। इधर पुलिस की आरंभिक जांच में प्राथमिकी दर्ज कराने वाले कुछ ऐसे भी लाभुक मिले हैं, जिनके खातों से चुनाव की तिथि 29 नवंबर से पूर्व ही राशि की निकासी कर ली गई है। ऐसे में पुलिस ने हर बिंदू पर जांच शुरु कर दी है। पुलिस को यह भी आशंका है कि चुनाव की आड़ में कोई अन्य गिरोह भी फर्जीवाड़े का यह बड़ा खेल, खेल सकता है।

जिलाधिकारी राहुल कुमार ने भी बायसी बीडीओ से पूरे मामले की जानकारी ली और इस मामले की पूरी जांच जिला स्तरीय टीम से कराने की बात कही। बायसी प्रखंड की दुखनी देवी, प्रतिमा देवी, रुबीता देवी, विद्या देवी, प्रभा देवी सहित डेढ़ दर्जन लाभुकों ने बायसी थाना में यह आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है कि 29 नवंबर को चुनाव देकर घर लौटते ही उन लोगों के मोबाइल पर खाते से राशि की निकासी का मैसेज आने लगा। इस बात की जानकारी उन लोगों ने अगली सुबह संबंधित बैंक के प्रबंधक को दी।

'पोलिंग बूथ पर तो फोन ले जाने की अनुमति होती नहीं है। जैसे घर आई, देखा कि मैसेज पड़ा हुआ है कि आपके अकाउंट से पैसे कट गए हैं।'- दुखनी देवी, महिला मतदाता

इस घटना के बाद से बैंक के स्तर से सभी लाभुकों के खाते को होल्ड कर दिया गया है। फिलहाल इस संदर्भ के आरोप से जिले के दूसरे इलाकों के लोगों के हाथ-पांव भी फूलने लगे हैं। उन्हें भी अपने खाते से राशि निकासी की आशंका बेचैन करने लगी है। इतना ही नहीं 12 दिसंबर को अमौर प्रखंड में भी पंचायत चुनाव होना है। ऐसे में वहां के लोग कुछ ज्यादा ही सशंकित हो गए हैं।

बायसी बीडीओ ने बताया कि इस तरह की शिकायत लेकर जो भी लाभुक आ रहे हैं, उन्हें तत्काल थाना में प्राथमिकी दर्ज कराने की सलाह दी जा रही है। जिलाधिकारी लगातार पूरी स्थिति की जानकारी ले रहे हैं। पुलिस की अपनी जांच भी जारी है। जल्द ही पूरे मामले का उदभेदन हो जाएगा। इससे पहले मुंगेर से इस तरह का मामला सामने आ चुका है।

Followers

MGID

Koshi Live News