Koshi Live-कोशी लाइव SAHARSA/पत्नी की हत्या कर शव को आंगन में दफनाया:पुलिस के डर से आरोपी ने की शादी, घर लाकर की हत्या; वारदात के बाद भागा दिल्ली - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

Translate

Saturday, November 27, 2021

SAHARSA/पत्नी की हत्या कर शव को आंगन में दफनाया:पुलिस के डर से आरोपी ने की शादी, घर लाकर की हत्या; वारदात के बाद भागा दिल्ली


सलखुआ थाना क्षेत्र के कोपरिया डीह टोला में शनिवार को पुलिस ने एक घर के आंगन में दफन युवती का शव बरामद किया। आरोप है कि युवती के पति ने उसकी हत्या कर शव को दफना दिया और खुद दिल्ली भाग गया।

युवती की मां ने शक के आधार पर पुलिस से मदद मांगी थी। इसके बाद मामले का खुलासा हुआ। पुलिस के अनुसार, आरोपी ने युवती का यौन शोषण किया था। पर शादी करने से कतरा रहा था। युवती ने जब कानून का सहारा लेना चाहा तो आरोपी ने पुलिस के डर से मंदिर में जाकर उससे शादी कर ली। इसके बाद घर लाकर उसकी हत्या कर दी।

इसी गड्‌ढ़े में दफन था शव।
इसी गड्‌ढ़े में दफन था शव।

मृतका की पहचान कंचन देवी उर्फ नंदिनी के रूप में की गई। इस हत्याकांड को लेकर सलखुआ थाने में कंचन के पति संजीत कुमार और उसके परिजनों के विरुद्ध दहेज उत्पीड़न, हत्या कर साक्ष्य को नष्ट करने की FIR दर्ज कराने की तैयारी चल रही है।

कंचन की मुलाकात संजीत से 2 साल पहले दिल्ली में हुई थी। दोनों वहीं जॉब करते थे। ये मुलाकात धीरे- धीरे प्यार में बदल गई और शारीरिक संबंध तक पहुंच गया। कंचन जब संजीत से शादी के लिए कहती तो वो उसे बहला- फुसला कर उसका यौन शोषण करता। कुछ दिनों बाद कंचन अपने घर लौट आई। संजीत भी अपने घर आया। कंचन शादी के लिए दबाव डालती तो वह रुपए की मांग करता। इस बीच कंचन ने उसे 50 हजार रुपए भी दिए। पर वह शादी के लिए तैयार नहीं हुआ।

शव मिलने के बाद आरोपी के घर पर जुटी भीड़।
शव मिलने के बाद आरोपी के घर पर जुटी भीड़।

कंचन ने थाने में दिया था आवेदन
कंचन ने करीब 6 महीने पहले महिला थाने में मामला दर्ज करने के लिए आवेदन दिया। रुपए देने के साक्ष्य के तौर पर कंचन ने संजीत के बैंक अकाउंट डिटेल्स पुलिस को दी थी। खुद को फंसता देख करीब एक महीने पहले संजीत ने कंचन से मंदिर में शादी कर ली और अपने घर ले आया। यहां कंचन की हत्या कर शव को आंगन के बगल में दफना दिया और खुद दिल्ली भाग गया।

थाने जाकर मां रोने-चिल्लाने लगी तो पुलिस ने शुरू की जांच
इधर, कंचन की मां, बेटी से बात करने के लिए परेशान होती रही। उसका मोबाइल भी बंद था। तब वह शुक्रवार को सलखुआ थाना पहुंच कर बेटी की हत्या की आशंका जताई। पुलिस संजीत के घर पहुंची तो सिर्फ संजीत की मां थी। पूछताछ के बाद चुपचाप पुलिस लौट आई। शनिवार को कंचन की मां फिर थाने पहुंची और रोते हुए चिल्लाना शुरू कर दिया। तब गांव के कुछ लोग उसके साथ संजीत के घर जाकर देखा। इसी क्रम में एक जगह नई मिट्टी दिखी तो ग्रामीणों ने उसे खोदना शुरू किया। थोड़ी ही खुदाई के बाद तेज दुर्गंध आने लगी और वहां से कंचन का शव बरामद किया गया।

Followers

MGID

Koshi Live News