Koshi Live-कोशी लाइव MADHEPURA NEWS/मधेपुरा के प्राइवेट स्कूल में 4th क्लास के छात्र की मौत, परिजन और ग्रामीणों ने किया हंगामा - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Thursday, April 8, 2021

MADHEPURA NEWS/मधेपुरा के प्राइवेट स्कूल में 4th क्लास के छात्र की मौत, परिजन और ग्रामीणों ने किया हंगामा

Koshi Live/Madhepura News:

मधेपुरा के प्राइवेट स्कूल में 4th क्लास के छात्र की मौत, परिजन और ग्रामीणों ने किया हंगामा

Bihar News: बिहार के मधेपुरा जिले के एक प्राइवेट स्कूल के चौथे क्लास के एक छात्र की संदिग्ध मौत के बाद हंगामा मच गया. एक तरफ जहां कोरोना संकट के कारण राज्य के सभी शैक्षणिक संस्थाऩों के बंद करने का आदेश है तो वहीं मधेपुरा के प्राइवेट स्कूल में बच्चे की मौत की खबर जगंल में आग की तरह फैली. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, गम्हरिया थाना क्षेत्र के गम्हरिया बाजार स्थित सेंट माइकल प्ले स्कूल के छात्रावास में रहकर पढ़ाई कर रहे सत्यम कुमार की मौत की सूचना के बाद छात्र के परिजनों और ग्रामीणों ने सड़क जाम कर दिया.


सत्यम कुमार पिछले 4 साल से गम्हरिया स्थित प्ले स्कूल का छात्र था. बुधवार की सुबह करीब 6:00 बजे स्कूल संचालक गौरव कुमार के द्वारा परिजनों को सूचना दिया गया कि सत्यम की तबियत खराब है. उसे इलाज के लिए जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. इस सूचना पर परिजन आनऩ फानन में अस्पताल पहुंचे. मगर वहां का नजारा देख बिफर पड़े. उनके कलेजे का टुकड़ा लावारिस अवस्था में सड़क किनारे पड़ा था. उसकी मौत हो चुकी थी.

तब परिजनों ने शव को उठाकर गम्हरिया के टोका गो स्थित सिंहेश्वर सुपौल मुख्य पथ को जाम कर दिया. कई घंटे बाद जाम की सूचना मिलने पर थाना अध्यक्ष अमित कुमार राय दल बल के साथ मौके पर पहुंचे. उन्होंने समझाने की कोशिश की मगर परिजन स्कूल संचालक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अड़े थे. साथ ही शीर्ष अधिकारियों को मौके पर आने की मांग कर रहे थे. इधर, उनके प्रदर्शन के कारण सड़क पर वाहनों की लंबी कतार लग गई.


इधर, स्कूली छात्र की मौत की सूचना के बाद आसपास में खुले सभी स्कूल बंद कर दिए गए और बच्चों को घर भेज दिया गया. मौके पर जुटे लोग इस बात की चर्चा करते रहे कि जब बिहार के सारे शैक्षणिक संस्थान बंद हैं तो जिले में किसके आदेश पर स्कूल खुल रहे हैं. यही नहीं कई स्कूल में हॉस्टल भी संचालित किया जाता है. इस बाबत बताया गया कि जिला से जिला पदाधिकारी के द्वारा बंद की कोई चिट्ठी नहीं दिया गया है जिस कारण स्कूल खुला है.

वहीं मृतक की मां पविता देवी ने बताया कि बच्चे इस साल क्लास 4 में गया है. 1 सप्ताह पूर्व किताब कॉपी खरीद कर दिया गया था. स्कूल फी बीते मंदगलवार को जमा किया गया लेकिन बच्चे से नहीं मिलने दिया गया. कहा गया कि स्कूल में कई बच्चे हैं और आपसे मिलने के बाद घर जाने की मांग करने लगेंगे.

वहीं परिजनों का आरोप है कि बच्चों की तबीयत खराब थी तो वह सूचना पूर्व में क्यों नहीं दिया और ऐसी क्या तबीयत खराब हो गई थी कि गम्हरिया के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बच्चों का इलाज नहीं कराया गया.

Followers

MGID

Koshi Live News