Koshi Live-कोशी लाइव Bihar News: गाना सुनते वक्त हाथ में ब्लास्ट हुआ मोबाइल, अस्पताल में भर्ती, तेज आवाज से थर्राया पूरा घर - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Monday, April 5, 2021

Bihar News: गाना सुनते वक्त हाथ में ब्लास्ट हुआ मोबाइल, अस्पताल में भर्ती, तेज आवाज से थर्राया पूरा घर

कोशी लाइव डेस्क:Bihar News: गाना सुनते वक्त हाथ में ब्लास्ट हुआ मोबाइल, अस्पताल में भर्ती, तेज आवाज से थर्राया पूरा घर
हाथ में ब्लास्ट हुआ मोबाइल

अगर आप हर वक्त अपने मोबाइल फोन से चिपके रहते है तो सावधान हो जाइये. आपका यह फोन बम से कम नहीं है. ये कभी भी ब्लास्ट हो सकता है. फोन के हाथ में या कान के पास ब्लास्ट होने से आप बुरी तरह जख्मी हो सकते हैं. अगर यह धमका कान के पास हुआ तो जान भी जा सकती है. ऐसा ही मामला औरंगाबाद जिले के ओबरा प्रखंड के चंदा गांव से सामने आया है.

चंदा गांव निवासी शिवनायक मिश्रा के 15 वर्षीय पुत्र अंकुर कुमार मोबाइल ब्लास्ट होने के कारण घायल हो गया.

घटना के बाद किशोर के परिजनों ने उसका इलाज दाउदनगर में कराया. हालांकि युवक की हालत खतरे से बाहर है. घटना की जानकारी देते हुए पीड़ित के चाचा डॉ हेरम्ब कुमार मिश्र ने बताया कि दोपहर के वक्त अंकुर हाथ में रेडमी गो का मोबाइल लिए हुए था. अचानक देखते ही देखते बहुत तेज आवाज के साथ फोन ब्लास्ट कर गया और मोबाइल में आग लग गई.

आग का छींटा किशोर के चेहरे एवं कपड़े पर पड़ने के कारण शरीर का कई भाग जल गया. मोबाइल फोन ब्लास्ट होने की आवाज इतनी तेज थी कि लड़का बहुत देर तक अचेत रहा और घर में भयावह स्थिति बन गई. दाउदनगर के एक निजी चिकित्सक द्वारा इलाज के बाद स्वास्थ्य में सुधार है. शिक्षक डॉ हेरम्ब कुमार मिश्र ने कहा कि जिस घटना को हम सभी सुनकर भयभीत हो जाते थे वह हमारे घर के परिवार के सदस्य के साथ ही घटित हुई. उन्होंने कहा कि मोबाइल के प्रयोग में हमेशा सावधानी बरतने की जरूरत है.

मोबाइल ब्लास्ट कैसे होता है

सीतयोग इंजीनियरिंग कॉलेज के सचिव व इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर राजेश कुमार सिंह ने बताया कि ज्यादातर मामले में मोबाइल फोन के फटने की वजह बैटरी होती है. फोन के गिरने या अन्य वजहों से कई बार बैटरी में लीकेज हो सकती है, जो बाद में फोन चार्ज करने पर आग पकड़ सकती है. बैटरी कई सारे सेल्स को जोड़कर बनती है.

यही बैटरी जब पुरानी हो जाती है तो कई बार सेल के बीच की लेयर टूट जाती है और बैटरी फूल जाती है. इससे शॉर्ट सर्किट होकर बैटरी के फटने का डर पैदा हो जाता है.फोन की बैटरी फटने का सबसे बड़ा कारण हीट यानि गरम होने से है. किसी वजह से बैटरी का तापमान बढ़ जाने पर फटने का चांस बहुत ही ज्यादा रहता हैं. इसके साथ ही प्रॉसेसर भी फोन के फटने में थोड़ा रोल अदा करता है.

मोबाइल को फटने से कैसे बचाएं

  • अगर आपके फोन की बैटरी फुल गयी हो तो अविलंब बदलवा लें.

  • फोन में ओरिजनल बैटरी व ओरिजनल चार्जर का ही प्रयोग करें.

  • रात के वक्त फोन को लेकर तकिये के नीचे न सोए.

  • गर्मी के मौसम में कभी बंद कार के अंदर अपना फोन न छोड़े.

  • घंटों लंबी बातचीत के लिए एयरफोन का इस्तेमाल करें वरना गरम होकर फोन फट सकता है.

  • मोबाइल को चार्ज में लगाकर गेम न खेलें,वाट्सएप न चलायें व बात न करें.इससे दुर्घटना हो सकती है.

Posted By: कोशी लाइव-Editor अक्की

Followers

MGID

Koshi Live News