Koshi Live-कोशी लाइव SUPAUL NEWS/गली नली योजना में जारी है अनियमितताओं का खेल, पैर देते ही टूट जाता है नाले का ढक्कन। - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Friday, March 26, 2021

SUPAUL NEWS/गली नली योजना में जारी है अनियमितताओं का खेल, पैर देते ही टूट जाता है नाले का ढक्कन।


सुपौल: भ्रष्टाचार रोकने को लेकर सरकार लाख कोशिश कर रही है। पर आलम ये है कि भ्रष्टाचार रुकने के वजाय बढ़ती ही जा रही है। ताजा मामला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट सात निश्चय से जुड़ा हुआ है। जिसके तहत गली नली योजना में निर्माणकर्ता ने अनियमितता की सारे हदों को पार कर दिया। दरअसल ये मामला पिपरा प्रखंड से जुड़ा हुआ है। जहां दुबियाही पंचायत के वार्ड नं 8 में इन दिनों सात निश्चय योजना से गली नाली का निर्माण किया जा रहा है। विभागीय सूत्र की माने तो करीब पांच सौ फीट नाले का निर्माण कार्य शुरू किया गया। जिसमें करीब दो से तीन सौ फिट नाले का निर्माण किया जा चुका है।
स्थानीय लोगों की माने तो नाले के निर्माण में बड़े पैमाने पर घटिया सामग्री का इस्तेमाल कर योजना में अनियमितता की गई है। जो तश्वीरों में भी देखा जा सकता है। नाले के ढक्कन पर पैर देते ही ढक्कन टूट जाता है। ऐसे में ग्रामीणों ने इसकी शिकायत विभागीय अधिकारी को कर दी। जिसके बाद संबंधित जेई संतोष कुमार स्थल पर पहुंच निर्माण कार्य का जायजा लिया जिसमे ब्यापक पैमाने पर अनियमितता की बात सामने आई है। हालांकि घटिया तरीके से बनाये गए नाले को फिलहाल तोड़ने का फरमान दिया गया है। लेकिन नाले के निर्माण में बरती गई अनियमितता चर्चा का विषय बन गया है। आखिर करीब तीन सौ फीट नाले का निर्माण कैसे हो गया, क्या संबंधित जेई के अनुपस्थिति में निर्माण किया गया है, क्या बिना जेई के उपस्थिति के बिना ही योजनाएं संचालित होती है, क्या एस्टीमेट के हिसाब से कार्य किया गया है, क्या ग्रामीण अगर शिकायत नहीं करते तो नाले निर्माण में अनियमितता की पोल नहीं खुलती या कुछ और भी बातें भी हो सकती है। बहुत सारे सवाल है जिसका उत्तर संबंधित विभाग को देना चाहिए। फिलहाल निर्मित नाले के ढक्कन को तोड़ने का निर्देश जेई साहब ने दे दिया है। लेकिन स्थानीय लोगों की माने तो नाली के निर्माण में व्यापक पैमाने पर अनियमितता की गई है। इसकी जांच की जानी चाहिए। क्योंकि सिर्फ नाले का ढक्कन तोड़ने के निर्देश से पूरे नाले निर्माण में बरती गई अनियमितता उजागर नहीं हो सकती। खैर जो भी हो इसकी जांच कर दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं इस बाबत पूछे जाने पर पिपरा बीडीओ लवली कुमारी ने बताया कि मामला उनके संज्ञान में आया है इसकी जांच की जा रही है।

रिपोर्ट - सुभाष चंद्रा।

Followers

MGID

Koshi Live News