Koshi Live-कोशी लाइव SAHARSA/जनता दरबार: सर.. जांच रिपोर्ट के बाद भी सीओ नहीं कर रहे हैं जमाबंदी - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, March 14, 2021

SAHARSA/जनता दरबार: सर.. जांच रिपोर्ट के बाद भी सीओ नहीं कर रहे हैं जमाबंदी


SAHARSA NEWS: रविवार को शहर के बटराहा स्थित कला संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री डा. आलोक रंजन के आवास पर जनता दरबार आयोजित किया गया। जनता दरबार में जिले के विभिन्न इलाकों से बड़ी संख्या में पहुंचे लोगों ने अपनी समस्याओं से अवगत कराया।

अधिकतर मामलों में मंत्री ने तत्क्षण संबंधित अधिकारियों को दूरभाष पर ही मामलों में निष्पक्ष कार्रवाई करने को निर्देश दिया। सुबह से ही मंत्री से मिलने लोग पहुंचने लगे थे। बारी-बारी से लोगों की समस्या को सुनकर समस्या के निदान के लिए संबंधित अधिकारी को विधि सम्मत कार्रवाई करने का निर्देश देते रहे। नया बाजार से अनिल राम अपनी समस्या बताते हुए कहते है कि हुजूर जमाबंदी के लिए जांच रिपोर्ट रहने के बाद भी सीओ जमाबंदी कायम नहीं कर रहे है। इस पर मंत्री ने तत्क्षण ही सीओ कहरा से बातचीत कर विधिसम्मत कार्रवाई करने का निर्देश दिया। न्यू कॉलोनी निवासी सुनील सिंह ने कहा कि डीआरसीसी द्वारा शिक्षा लोन नहीं दिया जा रहा है। दुम्मा गांव निवासी अभिनदंन अपने कागजात को दिखाते हुए कहते है कि जमीन को बेचने के लिए कुछ लोग जबरदस्ती परेशान कर रहे हैं। उन्होंने एसपी से बातचीत कर उनकी समस्या को अवगत कराते हुए इन्हें हर संभव सहायता करने को कहा। शिवपुरी निवासी मनोज ठाकुर कहते है कि शिवपुरी बायपास सड़क में मेरी जमीन है और दस फीट रास्ता केवाला में अंकित है। इसके बाद भी कुछ लोग जबरदस्ती रास्ता को अवरूद्ध करने में लगे है। थाना चौक से लेकर सुपर बाजार तक के कई दुकानदारों ने कहा कि उनलोगों की दुकान जिला परिषद की है। अब जिला प्रशासन दुकान पर ही नाला बनाने की जिद पर अड़ी है। मंत्री ने कहा कि वे जिलाधिकारी से रविवार को मिलकर समाधान निकालेंगे। कहरा के रामवल्लभ कामत की मांग थी कि पोखर उड़ाही में विभाग से मदद दिलाने की बात कही। महिषी प्रखंड के पस्तपार पंचायत के झिटकी गांव निवासी सुभाष मुखिया ने कहा कि झिटकी के शुभंकर मुखिया का दो वर्षीय पुत्र रवि किशन की मौत पोखर में डूबने से हो गई थी। सात माह बाद भी मुआवजा नहीं मिला है। महिषी के शत्रुध्न चौधरी एवं मिथिलेश ने कहा कि स्टेडियम के लिए साढ़े पांच एकड़ जमीन है। जिसपर स्टेडियम का निर्माण कराया जा सकता है। तीन घंटे तक जनता दरबार में लोगों की समस्या को सुनकर मंत्री अधिकारियों को निर्देश देते रहे।

Followers

MGID

Koshi Live News