Koshi Live-कोशी लाइव Purnia News: अगलगी के बाद रोड पर आग गए 31 परिवार, हर तरफ दिख रहा तबाही का मंजर - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, March 21, 2021

Purnia News: अगलगी के बाद रोड पर आग गए 31 परिवार, हर तरफ दिख रहा तबाही का मंजर

Purnia News: अगलगी के बाद रोड पर आग गए 31 परिवार, हर तरफ दिख रहा तबाही का मंजर

Rupauli पूर्णिया। रविवार को सुबह की पहली किरण के साथ ही गोडिय़र गांव के मालटोला का नजारा लोगों का दिल दहला देने वाला था। हर ओर आग की भेंट चढ़े घर एवं सामान और उसे देख-देखकर पीडि़तों की उठ रही सिसकियां माहौल को काफी गमगीन बना रही थी। यह बता दें कि टीकापटी थाना क्षेत्र के गोडिय़र मालटोला में शनिवार की रात्रि भीषण अगलगी की घटना हुई थी। जिसमें लगभग 31 परिवारों के घर आग की भेंट चढ़ गए थे।



 
घटना में लगभग तीन लाख नगदी सहित गहना, कपड़ा, अनाज, बर्तन आदि जलकर स्वाहा हो गए थे। सुबह की पहली किरण जैसे ही निकली वैसे ही घटनास्थल का नजारा सब कुछ बयां कर रहा था। हर ओर पीडि़त की सिसकियों से पूरा माहौल गमगीन हो रहा था। सभी अपने-अपने जले हुए सामान को देखकर चीत्कार कर रहे थे। दाने-दाने के मुहताज पीडि़त हो गए थे। इसमें रामानंद महतो समेत छह परिवारों के लगभग तीन लाख रूपए नगद जल गए थे। जबकि टुनटुन महतो जमीन खरीदने के लिए डेढ़ लाख रूपए रखे थे उसपर किसी ने हाथ साफ कर दिया था। महिलाओं की चीत्कार से हर किसी के आंखों में आंसू थे।


 

मौके पर रात को ही घटनास्थल पर पहुंची जिप अध्यक्ष क्रांति देवी ने सभी पीडि़तों के लिए चूड़ा-मूढ़ी का इंतजाम किया, जिसे खाकर पीडि़तों ने रात किसी तरह बिताया। इनके अलावा पूर्व विधायक शंकर ङ्क्षसह, जिप सदस्य सोनी देवी, प्रमुख रेखा देवी, सरपंच जूली देवी, पूर्व मुखिया सकलदेव महतो, सामाजिक कार्यकर्ता संजय महतो सहित सभी ने पीडि़तों को मुआवजा दिलवाने तथा आवास योजना का लाभ दिलवाने का भरोसा दिलाया। सभी पीडि़तों को मुआवजा देने के लिए राजस्व कर्मचारी द्वारा सूची बनाया गया है। नियमानुसार सभी को बैंक के माध्यम से मुआवजा दिया जाएगा।

 

अगलगी में लोगों के अमानवीय चेहरे भी देखने को मिला

संस, रूपौली (पूर्णिया) : कहते हैं रोम जल रहा था, तब उसका शासक वंशी बजाने में व्यस्त था। यही हाल शनिवार को गोडिय़र गांव में लगी अगलगी से एक ओर पीडि़तों की चीख-पुकार से पूरा माहौल गमगीन था तो दूसरी ओर यहां अमानवीय चेहरा भी देखने को मिला, जो बस पीडि़तों के सामान पर अपना हाथ साफ कर रहे थे। ठीक इसी तरह युवा जिन पर इस देश को बचाने का भार है, वे आग बुझाने के बदले मोबाइल से वीडियो बनाने में व्यस्त दिखे। एक ओर घर जल रहा था, दूसरी ओर असामाजिक तत्व सामान पर हाथ साफ कर रहे थे। एक युवक रोता थानाध्यक्ष के पास पहुंचा तथा अपना दुखड़ा सुनाते हुए कहा कि उसके सामान लूटे जा रहे हैं, तब पुलिस ने चौकीदारों का पहरा पर लगाया। अगलगी के शिकार पीडि़तों की दुर्दशा एवं उनके चीत्कार को देखकर लोगों के भी आंखों से आंसू आ रहे थे। सभी चित्कार कर कह रहे थे, सब जल गेले हो, कि खैबे हो, कहां रहबे हो, सब खत्म होय गेले हो।

Followers

MGID

Koshi Live News