Koshi Live-कोशी लाइव बिहार: शराब करोबार में संलिप्त होमगार्ड जवान गिरफ्तार, माफियाओं तक खबर पहुंचाता था आरोपी - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Monday, March 22, 2021

बिहार: शराब करोबार में संलिप्त होमगार्ड जवान गिरफ्तार, माफियाओं तक खबर पहुंचाता था आरोपी


थानाध्यक्ष अमित कुमार ने बताया कि रिटायर्ड होमगार्ड जवान शराब माफियाओं के साथ मिला हुआ था और पुलिस की गुप्त जानकारियों को शराब माफियाओं के साथ साझा कर शराब कारोबार में उनकी मदद करता था.

मधुबनी: बिहार में शराबबंदी कानून लागू है. ऐसे में सूबे की पुलिस अवैध शराब की कारोबार में संलिप्त शराब माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई कर रही है. इसी क्रम में मधुबनी पुलिस ने रिटायर्ड होमगार्ड जवान को शराब करोबार में लिप्त पाए जाने पर गिरफ्तार किया है. होमगार्ड की गिरफ्तारी के बाद कई चौंकाने वाली बात सामने आई है.


दरअसल, मधुबनी नगर थानाध्यक्ष अमित कुमार ने गुप्त सूचना पर शराब माफियाओं से सांठ-गांठ और अवैध शराब के कारोबार में लिप्त रिटायर होमगार्ड के जवान ललित यादव को हिरासत में लेकर पूछताछ की.

इस दौरान यह खुलासा हुआ कि उक्त जवान पुलिस की हर गतिविधि की जानकारी शराब कारोबारियों को दिया करता था. फिलहाल, रिटायर्ड होमगार्ड जवान को गिरफ्तार कर न्यायीक हिरासत में भेज दिया गया है.


इस संबंध में मधुबनी नगर थानाध्यक्ष अमित कुमार ने बताया कि रिटायर्ड होमगार्ड जवान शराब माफियाओं के साथ मिला हुआ था और पुलिस की गुप्त जानकारियों को शराब माफियाओं के साथ साझा कर शराब कारोबार में उनकी मदद करता था. साथ ही खुद भी शराब कारोबार में लिप्त था.


गिरफ्तार जवान के पास से चार मोबाइल बरामद


फिलहाल, शराब माफियाओं पर नकेल कसने के लिए ताबर तोड़ छापेमारी कर रहे एसएचओ अमित कुमार ने रिटायर्ड होमगार्ड जवान को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने आरोपित के पास से चार मोबाइल बरामद किया गया, जिससे शराब कारोबार से जुड़े कई सफेदपोश के नामों का खुलासा हुआ है. बता दें कि ललित यादव नगर थाने में तैनात के पूर्व थानाध्यक्ष के घर खाना बनाने का काम भी कर चुका है. वहीं, पुलिस के नाम पर वो लाखों की वसूली करता था.


बता दें कि 6 नवम्बर, 2020 को नगर थाना क्षेत्र के निधि चौक पर उत्पाद विभाग की टीम ने शराब की बड़ी खेप जब्त की थी. वहीं, मौके से तीन शराब माफियाओं को गिरफ्तार कर नगर थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिया. इसके बाद स्पेशल टीम की शिकायत के बाद नगर थाना के तत्कालीन थानाध्यक्ष धर्मपाल को पुलिस मुख्यालय ने निलंबित कर दिया था.


मामला थानाध्यक्ष के निलंबन तक ही नहीं रुका. थानाध्यक्ष के बाद नगर थाना के दारोगा महेश सिंह, चालक महाकान्त यादव, चौकीदार जागेश्वर पासवान और पेंथर मोबाइल के एक जवान को भी इसी मामले में निलंबित कर दिया गया था. जागेश्वर पासवान और महाकान्त यादव पर थाने की सूचना लीक करने का आरोप था.

Followers

MGID

Koshi Live News