Koshi Live-कोशी लाइव जन वितरण प्रणाली मधेपुरा : घटिया और सड़ा चावल देख लाभुक हुआ नाराज, हंगामा व तोड़फोड़, डीएम ने दिए यह निर्देश - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Monday, March 15, 2021

जन वितरण प्रणाली मधेपुरा : घटिया और सड़ा चावल देख लाभुक हुआ नाराज, हंगामा व तोड़फोड़, डीएम ने दिए यह निर्देश

MADHEPURA NEWS- कोशी लाइव
 पीडीएस दुकानों में सड़ा हुआ चावल बांटा जा रहा है। उपभोक्ताओं के हंगामा करने के बाद मामला सामने आया है। पुरैनी प्रखंड की प्रमुख सविता कुमारी को मामला का पता चलने पर जांच किया। जांच में पता चला कि कई माह से प्रखंड क्षेत्र के लाभार्थियों को पीडीएस दुकानों के द्वारा सड़ा हुआ चावल दिया जा रहा था। बिहारीगंज स्थित एफसीआइ गोदाम से उपलब्ध कराए गए चावल काफी घटिया व खाने लायक नहीं था। जबकि 2020-21 में निर्मित लेवल बोरा पर लगा था। लेकिन अंदर तीन से चार साल पुराना व घटिया अरबा चावल था। इसकी शिकायत जिलाधिकारी से की गई है।

उन्होंने बताया कि पहले भी बसंत पंचमी के मौके पर आयोजित कृषि यांत्रिकीकरण सह विकास मेले का उद्घाटन करने पहुंचे डीएम से प्रखंड क्षेत्र के लोगों ने पीडीएस दुकानों से घटिया चावल मिलने की लिखित शिकायत किया था। इसके बाद भी सुधार नहीं हुआ। फिर शिकायत किए जाने पर जिला पदाधिकारी ने मामले को गंभीरता से लिया है। जिला आपूर्ति पदाधिकारी रामप्रताप बैठा को मामले की जांच कर अविलंब रिपोर्ट समर्पित करने का निर्देश दिया है। एसओ ने बताया कि मामला खेद जनक है। जांचोपरांत दोषियों पर निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी। साथ ही किसी भी सूरत में घटिया चावल लाभार्थियों के बीच वितरण नहीं की जाएगी।


डीएसओ के निर्देशानुसार एफसीआइ बिहारीगंज के सहायक गोदाम प्रबंधक रवि शंकर व पुरैनी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी अजय कुमार ने गणेशपुर पंचायत पीडीएस विक्रेता मनीषा कुमारी, निशा कुमारी, अमरेंद्र सिंह, विकास कुमार मेहता के अलावा राजकिशोर चौधरी के दुकानों का निरीक्षण किया तो उन सभी के स्‍टॉक में घटिया चावल पाया गया। जो बिहारीगंज के एफसीआइ गोदाम से भेजा गया था। निरीक्षण के दौरान एफसीआइ गोदाम के एजीएम ने बताया कि क्वालिटी कंट्रोल के जांचोपरांत ही एफसीआइ को चावल उपलब्ध कराया जाता है। जो भी गड़बड़ियां है ऊपरी स्तर की है। हमें जो चावल मिलता है, उसी चावल को पीडीएस विक्रेता को उपलब्ध कराते हैं।

जबकि एसडीएम राजीव रंजन कुमार सिन्हा ने बताया कि विभागीय निर्देशानुसार अप्रैल माह के बाद पीडीएस लाभार्थियों के बीच उसना चावल का वितरण किया जाएगा। प्रखंड प्रमुख सविता कुमारी ने कहा कि घटिया चावल मामले की अगर निष्पक्ष तरीके से उच्चस्तरीय जांच कराई जाए निश्चित रूप से जिला से लेकर प्रखंड तक एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ होगा।

 

Followers

MGID

Koshi Live News