Koshi Live-कोशी लाइव बिहार में उपभोक्ता अब खुद ही मीटर रीडिंग कर तैयार कर सकेंगे बिजली बिल, जानें कैसे - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Monday, March 8, 2021

बिहार में उपभोक्ता अब खुद ही मीटर रीडिंग कर तैयार कर सकेंगे बिजली बिल, जानें कैसे

कोशी लाइव डेस्क:

बिहार में मीटर रीडर अगर बिजली मीटर की रीडिंग करने नहीं आ रहे हैं तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। बिजली कंपनी ने ऐसा सेल्फ बिलिंग मोबाइल एप बनाया है जिससे उपभोक्ता खुद ही मीटर रीडिंग कर कंपनी से बिजली बिल प्राप्त कर सकते हैं। देश के कुछ राज्यों की तर्ज पर बिहार ने भी उपभोक्ताओं को खुद से ही मीटर रीडिंग की सुविधा देने का निर्णय लिया है। फिलहाल पटना के शहरी क्षेत्र पेसू में इस सुविधा का ट्रायल चल रहा है। अगले महीने से इसे पूरे बिहार में लागू करने की योजना है।

कंपनी अधिकारियों के अनुसार सुविधा मोबाइल एप से उपभोक्ताओं को अभी कई तरह की सुविधाएं मिल रही हैं। इसके तहत नए कनेक्शन से लेकर लोड बढ़ाने सहित अन्य सेवाओं को इस मोबाइल एप पर उपलब्ध कराया गया है।

इसी कड़ी में सुविधा मोबाइल एप को अब और विस्तार दिया गया है। इस मोबाइल एप के माध्यम से वैसे उपभोक्ता अपना बिजली बिल प्राप्त कर सकते हैं जिनको किसी महीने बिजली बिल नहीं मिल पाया हो। हालांकि इस एप से वही उपभोक्ता बिजली बिल प्राप्त कर सकते हैं जिन्हें पिछले 45 दिनों से बिजली बिल नहीं मिला हो। इस अवधि के पहले कोई उपभोक्ता चाहेंगे तो उनको सुविधा मोबाइल एप से बिजली बिल नहीं मिल सकेगा।

करना होगा यह
सबसे पहले उपभोक्ताओं को गुगल प्ले स्टोर से सुविधा मोबाइल एप डाउनलोड करना होगा। इस एप पर एक लिंक उपलब्ध रहेगा जो बिजली बिल प्राप्त करने के लिए रहेगा। इस लिंक को खोलते ही उपभोक्ता संख्या, मोबाइल नंबर सहित अन्य जानकारी देनी होगी। इसके बाद बिजली मीटर की तस्वीर खींचकर मोबाइल के माध्यम से एप पर अपलोड करना होगा। लिंक के माध्यम से सूचना मिलने पर कंपनी अधिकतम दो दिनों के भीतर यह छानबीन कर लेगी कि अमुक उपभोक्ता को पिछले 45 दिनों से बिजली बिल मिला है या नहीं। इसकी पुष्टि होते ही कंपनी उपभोक्ता के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर बिजली बिल भेज देगी। इसके बाद लोग अपने बिल का भुगतान ऑनलाइन या ऑफलाइन आसानी से कर सकेंगे।

होगा लाभ यह
कंपनी के नियमानुसार 23 से 30 दिनों के भीतर मीटर रीडिंग की जानी है। लेकिन लोगों की यह अक्सर शिकायत रहती है कि मीटर रीडर नियमित तौर पर मीटर की रीडिंग करने नहीं आते हैं। एक साथ दो-तीन महीने का बिल आने से अधिक पैसा जमा करने में परेशानी होती है। साथ ही बकाया होने पर कनेक्शन कटने का खतरा भी रहता है। ऐसे में अगर किसी कारणवश मीटर रीडिंग नहीं हो पाए तो लोग खुद ही मीटर की रीडिंग कर बिजली बिल प्राप्त कर सकते हैं। पेसू में चल रहे ट्रायल के तहत अभी लोगों को एक दिन में ही बिजली बिल देने की कोशिश की जा रही है। अधिक लोड होने पर भी दो दिनों के भीतर अनिवार्य तौर पर बिजली बिल दे दिया जाएगा।

Followers

MGID

Koshi Live News