Koshi Live-कोशी लाइव BIHAR NEWS DESK/सुशांत सिंह राजपूत के गांव की बेटी हत्या मामले की फारेंसिक टीम ने की जांच - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Wednesday, March 31, 2021

BIHAR NEWS DESK/सुशांत सिंह राजपूत के गांव की बेटी हत्या मामले की फारेंसिक टीम ने की जांच



संवाद सूत्र, उदाकिशुनगंज (मधेपुरा) : सुशांत सिंह राजपूत के (पूर्णिया मलडीहा) गांव की बेटी स्नेहा हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने मंगलवार को भागलपुर से फारेंसिक जांच टीम पहुंची। उनके साथ उदाकिशुनगंज के एसडीपीओ सतीश कुमार भी मौजूद रहे। जांच अधिकारी गांव में करीब ढाई घंटा बिताया। इस दौरान फोरेंसिक टीम ने घटना के पहलू से जुड़े बचे अवशेष की पड़ताल की। कई बिदुओं पर स्थानीय पुलिस अधिकारी से बात की। वहीं गांव वालों से भी घटना के संबंध में बात की। एसडीपीओ सतीश कुमार ने बताया कि पुलिस जांच जारी है। उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया मामला हत्या का है। इस वजह से आरोपितों की गिरफ्तारी होगी। आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इधर विवाहिता के भाई पूर्णिया के मलडीहा निवासी लाल मुनि सिंह ने फारेंसिक टीम की जांच पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि जब टीम जांच को पहुंची तो मायके वालों को खबर नहीं दी। जांच टीम के अधिकारी गांव वालों के बातों में उलझे रहे। उसे बगल के दूसरे लोगों से फारेंसिक टीम और उदाकिशुनगंज के डीएसपी के पहुंचने की जानकारी मिली। उन्होंने कहा कि घटना 48 घंटे बीत गए लेकिन मुख्य आरोपित गिरफ्तार नहीं हो पाया है। आखिर स्थानीय पुलिस क्या कर रही है। उल्लेखनीय हो कि रविवार को उदाकिशुनगंज थाना क्षेत्र के नयानगर गांव में दहेज के खातिर विवाहित को केरोसिन छिड़कर जिदा जला कर मार डालने का मामला सामने आया है। मामले में विवाहिता के भाई पूर्णिया जिले के बड़हरा कोठी थाना क्षेत्र के मलडीहा गांव के अंजन कुमार सिंह के बयान पर छह लोगों के खिलाफ उदाकिशुनगंज थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है। प्राथमिकी में विवाहिता के पति सहित सुसराल पक्ष के लोगों को आरोपित किया गया है। मालूम हो कि पूर्णिया जिले के बरहरा थाना क्षेत्र अंतर्गत मल्डीहा निवासी मदन प्रसाद सिंह की पुत्री स्नेहा कुमारी की शादी उदाकिशुनगंज थाना क्षेत्र के नयानगर पंचायत के वार्ड संख्या 13 निवासी प्रभाकर सिंह के पुत्र अनुरंजन सिंह उर्फ सिटू सिंह के साथ वर्ष 2011 में हुई थी। शादी के बाद विवाहिता ने चार बच्चे भी हुए। इसमें दो लड़का व दो लड़की शामिल है। आरोप है कि विवाहिता के सुसराल वाले दहेज के लिए प्रताड़ित किया करते थे। दहेज के लिए मांगी की रकम और समान नहीं देने पर ही विवाहिता को जला कर मार दिया गया। क्या है मामला सहरसा सदर थाना पुलिस को दिए गए बयान में विवाहिता के भाई अंजन कुमार सिंह ने बताया है कि 28 मार्च की सुबह उसे फोन पर बहन के जलने की सूचना सुसराल गांव के पड़ोस वालों ने फोन पर दी। उसके बाद वह छोटे भाई के साथ उदाकिशुनगंज पीएचसी पहुंचे। वहां विवाहिता नहीं मिली। बाद में पता चला कि विवाहिता का ईलाज आलमनगर के एक नीजी नर्सिंग होम में चल रहा है। वहां जाने पर विवाहिता क्लीनिक में अकेली बेहोश के हालत में पड़ी मिली। क्लीनिक में विवाहिता को जख्मी हालत में छोड़कर फरार हो गया। मायके वालों ने विवाहिता को आलमनगर सीएचसी में भर्ती कराया। जहां चिकित्सक ने रेफर कर दिया। सहरसा सदर अस्पताल में ईलाज के दौरान विवाहिता की मौत हो गई। सहरसा सदर अस्पताल में ही वहां के पुलिस ने विवाहिता के मायके वाले के बयान दर्ज किए।
सहरसा पुलिस ने उदाकिशुनगंज थाना को फारवर्ड किया बयान की कॉपी सहरसा पुलिस ने दर्ज बयान को उदाकिशुनगंज थाना के लिए फारवर्ड कर दिया है। बयान के आधार पर उदाकिशुनगंज थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई। सहरसा सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराने के बाद मायके वालों ने महिला के शव नयानगर गांव लाकर घर के आगे रखकर सड़क जाम कर दिया था।

पुलिस के खिलाफ दिखी थी नराजगी

वही विवाहिता के मायके वालों का पुलिस के खिलाफ नाराजगी भी दिखी। मायके वालों का कहना था कि इतनी बड़ी वारदात के बाद पुलिस के किसी वरीय अधिकारियों का नहीं पहुंचना क्या दर्शाता है। पुलिस पर आरोप लगाते मायके वालों ने कहा कि सूचना देने के बावजूद भी पुलिस विलंब से पहुंची। इतना ही नहीं प्रशासन द्वारा मामले को दबाने का भी प्रयास किया। इधर घटित मामले को लेकर पुलिस ने बताया कि दिए गए आवेदन के आधार पर छह लोगों को नामजद आरोपित किया गया है। जल्द ही सभी आरोपी पुलिस के गिरफ्त में होंगे।

Followers

MGID

Koshi Live News