Koshi Live-कोशी लाइव BIHAR/खबर का असर: 'शव' मामले में कटिहार एसपी ने दो ASI को किया निलंबित, मुख्यालय को भेजी गई रिपोर्ट - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, March 7, 2021

BIHAR/खबर का असर: 'शव' मामले में कटिहार एसपी ने दो ASI को किया निलंबित, मुख्यालय को भेजी गई रिपोर्ट

कोशी लाइव डेस्क:

वीडियो वायरल होने के बाद बिहार पुलिस की काफी किरकिरी हुई थी. कोशी लाइव पर भी यह खबर प्रमुखता से चलाई गई थी. ऐसे में मामले में संज्ञान लेते हुए एसपी विकास कुमार ने ये कार्रवाई की है.

कटिहार: बिहार के कटिहार जिले के कुर्सेला थाना के दो एएसआई को निलंबित कर दिया गया है. संवेदनहीनता और गैरजिम्मेदाराना रवैये की वजह से कटिहार एसपी विकास कुमार ने कुर्सेला थाने के एएसआई नंदलाल चौधरी और नवगछिया पुलिस जिला के गोपालपुर थाना सबइंस्पेक्टर राजदेव रमन निलंबित कर दिया है. दरअसल, बीते दिनों उक्त थाना क्षेत्र से एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें पिता अपने बच्चे के शव को थैले में ले जाता हुआ दिख रहा था.

पुलिस मुख्यालय को भेजी गयी रिपोर्ट


वीडियो वायरल होने के बाद बिहार पुलिस की काफी किरकिरी हुई थी.कोशी लाइव पर भी यह खबर प्रमुखता से चलाई गई थी. ऐसे में मामले में संज्ञान लेते हुए एसपी विकास कुमार ने ये कार्रवाई की है. वहीं, पूरे मामले में पटना पुलिस मुख्यालय को रिपोर्ट भेजी गयी है.


क्या है पूरा मामला ?


गौरतलब है कि भागलपुर के गोपालपुर थाना क्षेत्र के रहने वाले लेरू यादव के 13 वर्षीय बेटे हरिओम यादव की नदी में डूबने से मौत हो गई थी. नाव से उतरने के क्रम में वह गिर गया था और नदी में बह गया था. इस मामले में पीड़ित पिता ने स्थानीय थाना में बच्चे के लापता होने की सूचना लिखवाई थी. इसके बाद से उसकी खोजबीन जारी थी. इसी क्रम में शुक्रवार को कटिहार जिले के कुर्सेला थाना क्षेत्र के खोरिया घाट पर बच्चे की लाश बरमाद की गई. लाश मिलने की सूचना पाकर पिता मौके पर पहुंचा और शव के कपड़े को देखकर उसकी पहचान अपने बेटे के रूप में की थी. लाश पड़े रहने की वजह से उसे कुत्तों ने नोच लिया था.


पुलिस ने कही ये बात


इधर, घटना की सूचना पाकर कुर्सेला थाना पुलिस मौके पर पहुंची थी और पिता को कहा था कि मामले की जांच होगी. शव का पोस्टमार्टम होगा. ऐसे में हम जाते हैं, तुम शव लेकर सदर अस्पताल पहुंचो. ये कहकर पुलिस अपने वाहन पर बैठकर चलते बनी थी. इधर, लाचार पिता ने कोई साधन नहीं मिलने की वजह से अपने बच्चे के क्षत-विक्षत शव को थैले में भरा और चल पड़ा. तीन किलोमीटर चलने के बाद जब रास्ते में उसे कुछ लोग मिले, तब पुलिस का असंवेदनशील चेहरा सामने आया था. इसी मामले में आज कार्रवाई की गई है.


Followers

MGID

Koshi Live News