Koshi Live-कोशी लाइव Bihar: बिना पैसेंजर के 103 किलोमीटर और 25 स्टेशनों तक खाली दौड़ी ट्रेन, सिर्फ ड्राइवर और गार्ड ही थे मौजूद - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Thursday, March 25, 2021

Bihar: बिना पैसेंजर के 103 किलोमीटर और 25 स्टेशनों तक खाली दौड़ी ट्रेन, सिर्फ ड्राइवर और गार्ड ही थे मौजूद


बिहार (Bihar Train Update) में एक पैसेंजर ट्रेन के बिना किसी यात्री के 103 किलोमाटर खाली चलाए जाने का मामला सामने आया है. ये ट्रेन 25 स्टेशनों से भी गुजरी जहां से कोई भी यात्री इसमें सवार नहीं हुआ. इस 103 किलोमीटर की दूरी तय करने के दौरान इस ट्रेन में सिर्फ ड्राइवर, असिस्टेंट ड्राइवर और गार्ड ही मौजूद रहे. ये ट्रेन थावे से छपरा कचहरी स्टेशन के बीच चलाई गयी थी.

रिपोर्ट के मुताबिक ये मामला बिहार में थावे से छपरा कचहरी तक जाने वाली एक अनारक्षित एक्सप्रेस ट्रेन से जुड़ा है. ट्रेन में पहले स्टेशन से ही कोई यात्री नहीं था और ट्रेन ने 103 किलोमीटर की दूरी ऐसे ही बिना किसी यात्री के पूरी की. ये ट्रेन 3 घंटे में 25 स्टेशनों पर ठहरती हुई चलती रही लेकिन कहीं से भी कोई पैसेंजर नहीं चढ़ा.

ये घटना 21 मार्च की बताई जा रही है. इस ट्रेन में 10 जनरल बोगियां थीं और थावे स्टेशन समेत अगले 25 स्टेशनों से इसे कोई यात्री नहीं मिला. ये ट्रेन 10 बजे खाली ही छपरा पहुंची और इस दौरान एक भी यात्री इस ट्रेन में सवार नहीं हुआ.

किराए के चलते लोग नहीं के रहे टिकट

बता दें कि थावे से छपरा कचहरी तक जाने वाली ऐसी अनारक्षित एक्सप्रेस ट्रेन और अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों का किराया अब एक जैसा हो गया है. ये ट्रेन धीमे चलती है और कई स्टेशनों पर ठहरती है ऐसे में यात्री इसमें चढ़ने से परहेज करते हैं. ये मामला तब सामने आया जब एनई रेलवे ने मंडल में चलाई जा रहीं सभी ट्रेनों का हिसाब-किताब मांगा. 21 मार्च को इस ट्रेन में एक भी यात्री के न यात्रा करने की बात सुनकर महकमे में हंगामा मच गया. इस ट्रेन में सीटों की कुल संख्या 772 है और इसमें यात्रियों की संख्या बेहद कम है.

सिर्फ ये ट्रेन ही नहीं जौनपुर से औड़िहार जाने वाली ट्रेन में भी कुल सीटों के मुकाबले सिर्फ 2% यात्री ही यात्रा कर रहे हैं. इसके अलावा गोरखपुर-सीवान पैसेंजर में भी 21 मार्च को महज 19 फीसदी यानी 143 यात्रियों ने ही यात्रा की थी. गोरखपुर-सीवान अनारक्षित एक्सप्रेस समेत पांच ट्रेनें शुरू 13 मार्च से शुरू हुई हैं जिनमें आठ दिन में सिर्फ 6 हजार यात्रियों ने ही सफ़र किया है.

Followers

MGID

Koshi Live News