Koshi Live-कोशी लाइव बिहार क्रिकेट एसोसिएशन का नया कारनामा, BCCI की इजाजत के बिना ही कर दी खिलाड़ियों की नीलामी - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

Translate

Monday, March 1, 2021

बिहार क्रिकेट एसोसिएशन का नया कारनामा, BCCI की इजाजत के बिना ही कर दी खिलाड़ियों की नीलामी

कोशी लाइव डेस्क

बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (BCA) की जब भी बात होती है, तो किसी न किसी विवाद का जिक्र आ ही जाता है. अलग-अलग मुद्दों को लेकर लंबे समय से विवादों का घर रहे बिहार क्रिकेट एसोसिएशन ने अब एक नया बवाल खड़ा कर दिया है. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की इजाजत के बिना देश में कोई भी क्रिकेट संघ किसी तरह का टूर्नामेंट आयोजित नहीं कर सकता, लेकिन BCA की कहानी अलग है. BCA ने न सिर्फ एक टी20 टूर्नामेंट के आयोजन का कार्यक्रम तय कर लिया, बल्कि इसके लिए नीलामी भी आयोजित कर दी. इसके लिए एसोसिएशन ने बोर्ड से किसी भी तरह की इजाजत नहीं ली.

BCA ने इस टी20 टूर्नामेंट के आयोजन के लिए तारीख तय करने के साथ ही ब्रॉडकास्टर का भी इंतजाम कर लिया है और खिलाड़ियों की नीलामी के साथ आगे भी बढ़ चुका है.

हालांकि, अब ये पूरा मामला सामने आ गया है और इसको लेकर विवाद खड़ा हो गया है. बोर्ड के अधिकारी किसी भी तरह की इजाजत की बात से इंकार कर रहे हैं, जबकि BCA के अधिकारी सवालों से बच रहे हैं.

50 हजार की बोली, ब्रॉडकास्टर का भी इंतजाम

समाचार एजेंसी PTI की रिपोर्ट के मुताबिक, यह टूर्नामेंट 21 से 27 मार्च के बीच पटना में होना है. इसमें पांच फ्रेंचाइजी हैं- अंगिका एवेंजर्स, भागलपुर बुल्स, दरभंगा डायमंड्स, गया ग्लैडिएटर्स और पटना पायलट्स. इतना ही नहीं, लीग के सभी मैचों का एक निजी स्पोर्ट्स चैनल पर प्रसारण किया जाएगा. टूर्नामेंट के लिए हुए नीलामी में हर खिलाड़ी पर 50,000 रुपये की बोली रखी गयी थी.

चौंकाने वाली बात ये है कि शनिवार को हुई नीलामी में पूर्व भारतीय खिलाड़ियों मदन लाल और सबा करीम ने भी हिस्सा लिया था. करीम कुछ महीने पहले तक ही BCCI के डाइरेक्टर जनरल-क्रिकेट ऑपरेशंस थे.

BCCI को नहीं कोई जानकारी, BCA का टालमटोल

राज्यों में क्रिकेट लीग को मंजूरी देने से जुड़े BCCI के एक वरिष्ठ अधिकारी ने किसी भी तरह की इजाजत की बात से इंकार किया है. PTI से बात करते हुए उन्होंने कहा, “जहां तक मैं जानता हूं बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (BCA) को 28 फरवरी की शाम तक किसी टी20 लीग के आयोजन को लेकर कोई मंजूरी नहीं दी गयी है."

वहीं, BCA के अधिकारी इस पर बोलने से बच रहे हैं. संघ के अध्यक्ष राकेश तिवारी से जब इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने उसे बहुत टालने का प्रयास किया. तिवारी ने कहा, “हमने BCCI से अनुमति मांगी थी लेकिन अभी तक हमें कोई जवाब नहीं मिला है. मैं आपसे कल बात करूंगा."

एक महीने पहले मांगी थी इजाजत

वहीं टूर्नामेंट के आयोजन में बीसीए की मदद कर रही एजेंसी एलीट स्पोर्ट्स के निशांत दयाल ने कहा कि उन्हें बताया गया कि राज्य संघ ने बीसीसीआई से 22 जनवरी को मंजूरी देने के लिये कहा था. उन्होंने कहा, ''बीसीसीआई के नियमों के अनुसार बिहार क्रिकेट संघ ने 22 जनवरी को पत्र भेज दिया था. हमने बीसीसीआई एसीयू को टूर्नामेंट के सहज आयोजन में मदद करने के लिये भी पत्र लिखा था."

असल में, कर्नाटक और तमिलनाडु प्रीमियर लीग में सट्टेबाजी से जुड़े विवादों के बाद BCCI ने राज्य स्तर की क्रिकेट लीग को लेकर अतिरिक्त सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है और इसके चलते आसानी से इजाजत नहीं दी जा रही है. बिहार के केस में बोर्ड ने एक महीने से भी अधिक समय लगा दिया है. ऐसे में BCA अनुमति मिलने का इंतजार नहीं कर पाया.

Followers

MGID

Koshi Live News