Koshi Live-कोशी लाइव नाबालिग बेटे के सामने महिला से गैंगरेप:चाकू दिखा दबंगों ने की घिनौनी हरकत; विरोध करने पर चाकू मारा, घायल महिला बेटे संग 24 घंटे तक घर में बंद रही - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Wednesday, March 3, 2021

नाबालिग बेटे के सामने महिला से गैंगरेप:चाकू दिखा दबंगों ने की घिनौनी हरकत; विरोध करने पर चाकू मारा, घायल महिला बेटे संग 24 घंटे तक घर में बंद रही

कोशी लाइव डेस्क/

जुमई के चकाई थाना क्षेत्र में एक 12 वर्षीय नाबालिग बेटे के सामने उसकी मां के साथ दो दबंगों ने गैंगरेप किया। विरोध करने पर महिला पर लात-घूंसे व चाकू से वार कर उसे जख्मी कर दिया। इतना ही नहीं पुलिस से शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी देते हुए 24 घंटे तक मां-बेटे पर नजर बनाए रखा। किसी तरह महिला घटना के दूसरे दिन रात में अंधेरे का फायदा उठा अपने बच्चे के साथ घर से भाग निकली और थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराई। उसके बाद बेटे के साथ किसी तरह सदर अस्पताल पहुंची जहां उसका इलाज चल रहा है।

पीड़ित महिला के पति की कुछ वर्ष पहले मौत हो चुकी है। उसका बड़ा बेटा सूरत में मजदूरी करता है और वह अपने छोटे पुत्र के साथ अकेले घर में रहती है। सोमवार की रात उसी के गांव का सुकदेव यादव (पिता स्व. नुनेश्वर यादव) और पड़ोसी गांव नकटा निवासी महेंद्र यादव (पिता जालो यादव) उसके घर में घुस गए और हथियार के बल पर मां-बेटे को बंधक बना लिया।

पीड़िता के पुत्र ने बताया कि दोनों आरोपियों ने घर में घुसने के बाद हथियार के बल पर उसे तथा उसकी मां को बंधक बना लिया। शोर करने पर मारपीट करने लगे। फिर उसके सामने ही दोनों ने उसकी मां के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। मां ने जब विरोध किया तो दबंगों ने उस पर चाकू से हमला किया जिसमें वह बुरी तरह से घायल हो गई। जाते-जाते मां को कहा कि केस करने पर बेटे को जान से मार देंगे।

घटना के बाद जब महिला ने बाहर निकल कर पुलिस में शिकायत करना चाहा तो देखा कि दोनों आरोपी उसके घर पर नजर बनाए हैं। घायल अवस्था में महिला सोमवार की रात और मंगलवार को दिन भर अपने घर के अंदर ही दर्द से कराहती रही। मंगलवार की रात जैसे ही मौका मिला घायल महिला अपने नाबालिग बच्चे के साथ घर से भागकर थाने पहुंच गई और पुलिस को अपना बयान देकर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। पीड़िता के पुत्र ने बताया कि पुलिस ने पहले इलाज कराने की बात कही। तब वह मां को लेकर रेफरल अस्पताल चकाई पहुंचा और प्रारंभिक इलाज के बाद जब उसे सदर अस्पताल रेफर कर दिया तो वह अपनी मां को लेकर अकेला सदर अस्पताल पहुंच गया और मां को वहां भर्ती कराया।

सामूहिक दुष्कर्म के बाद किसी तरह पीड़ित महिला अपने बच्चे के साथ बचते हुए मंगलवार को शिकायत दर्ज कराने चकाई थाना पहुंची लेकिन वहां मौजूद पुलिसकर्मियों द्वारा मामूली मारपीट व छेड़खानी का मामला दर्ज कर उसे इलाज कराने के लिए अकेले ही भेज दिया। वह किसी बेटे के साथ घायल अवस्था में सदर अस्पताल पहुंची। उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। इधर, सूचना के बाद टाउन थाना के SI रविशंकर कुमार पुलिसकर्मियों के साथ सदर अस्प्ताल पहुंचे और घायल महिला का बयान दर्ज किया। सदर अस्पताल में पीड़ित महिला और उसके पुत्र ने सामूहिक दुष्कर्म और मारपीट की शिकायत कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

इस मामले में चकाई थानाध्यक्ष राजीव कुमार तिवारी ने कहा कि महिला ने मारपीट और छेड़छाड़ की बात कही थी। महिला घायल थी इसलिए बयान लेने के बाद उसे पहले इलाज कराने के लिए बोला गया। उसे सदर अस्पताल भेजा गया है। महिला ने सदर अस्पताल में यह बयान दिया है कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ है। लेकिन इस मामले में पूर्व में चकाई में प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी है। इसलिए उसके बयान को चकाई थाना भेजकर प्राथमिकी को अपडेट कराया जाएगा। पीड़िता के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

Followers

MGID

Koshi Live News