Koshi Live-कोशी लाइव PURNEA NEWS:यहां एमवीआई की जगह ड्राइवर चला रहा था दफ्तर, पैसा वसूली करते वीडियो वायरल... जानिए क्या हुआ - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Saturday, February 6, 2021

PURNEA NEWS:यहां एमवीआई की जगह ड्राइवर चला रहा था दफ्तर, पैसा वसूली करते वीडियो वायरल... जानिए क्या हुआ

Koshi Live DESK:
पूर्णिया। परिवहन विभाग में पदस्थापित मोटरयान निरीक्षक (एमवीआई) निशांत कुमार के चालक पप्पू कुमार का अवैध उगाही वाला वीडियो वायरल होने के बाद पदाधिकारी ने उसकी छुट्टी कर दी है। हटाए गए चालक पप्पू वर्षों से एमवीआई के साथ वाहन के निजी चालक के रूप में काम कर रहा था। पूर्णिया एमवीआई पद पर स्थानांतरण के कई साल पहले से ही पप्पू उनके साथ जुड़ा हुआ था। बताया जाता है कि एमवीआई कार्यालय का अधिकांश काम उसके देखरेख में निपटारा किया जाता था।

चालक होने के बावजूद वो कार्यालय के बड़ा बाबू, मुंशी सहित अन्य कर्मियों के साथ बैठकर कार्यालय पहुंचने वाले लोगों को डील कर अवैध उगाही करता था। कार्यालय में साहब के खास आदमी होने की भूमिका निभाता था। ऐसा नहीं है कि चालक पप्पू पहली बार कोई उगाही कर रहा हो। जिस तरह से वीडियो में उसकी धौंस है और कई कर्मियों के सामने बिचौलिया का काम कर रहा है उससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह बेपरवाह होकर वसूली करता था।

सवालों में घिरा एमवीआई कार्यालय

काम के एवज में रुपये उगाही का वीडियो वायरल होने के बाद एमवीआई ने अपने निजी चालक पप्पू का छुट्टी कर दिया लेकिन अब भी एमवीआई कार्यालय सवालों में घिरा हुआ है। वायरल वीडियो में पप्पू जिस तरह खुलेआम कार्यालय के कई कर्मियों के पास बैठकर रुपये की मांग कर रहा है यह सबसे बड़ा सवाल है। इस तरह सबों के सामने रुपये वसूली की बात करने के बाद भी कार्यालय के कोई भी कर्मी इसका विरोध नहीं किया। किसी ने जोर-जोर से हो रही बातचीत की ओर ध्यान तक नहीं दिया। इससे यह प्रतीत होता है कि कार्यालय के कर्मी भी ऐसे अवैध उगाही के कार्य को बढ़ावा दे रहे हैं या कार्यालय के कर्मी भी इसी तरह अवैध उगाही की नियत रखते हैं। जब कई लोगों के सामने वह उगाही की बात कर रहा था तो मौजूद अन्य कोई कर्मी अपने वरीय अधिकारी को इसकी सूचना क्यों नहीं दी। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कार्यालय से एक पप्पू की तो छुट्टी हुई है लेकिन कई पप्पू अभी भी मौजूद है।

दफ्तर में बैठकर कई बाहरी लोग करते हैं काम

परिवहन कार्यालय में कई ऐसे बाहरी लोग हावी हैं जो कार्यालय में बैठकर काम करते हैं। परिवहन मित्र का टैग लगाकर बिना किसी विभागीय पद पर रहते सालों से काम कर रहे ऐसे लोगों पर परिवहन विभाग के अधिकारी की नजर नहीं पड़ती है। आखिर ऐसा क्या घालमेल है कि बाहरी लोग कार्यालय में बैठकर टेबल-कुर्सी का काम करते हैं। विभाग के पदाधिकारी की मेहरबानी ऐसी कि ऐसे लोग कार्यालय में बैठकर कार्य का निष्पादन करते हैं। बताया जाता है कि ऐसे लोग अपने चंगुल में काम कराने पहुंचने वाले लोगों को फंसाकर वसूली कर काम करवाने का काम करते हैं। इस बारे में कार्यालय सहायक योगेश झा से पूछे जाने पर कहा कि ऐसे व्यक्ति गुरुवार तक काम करते थे। कार्यालय के कुछ कर्मियों की ड्यूटी बदली गई है। बिना बद पर रहकर काम करने वाले व्यक्ति को हटाया गया है या नहीं यह यह वरीय अधिकारी ही बता पाएंगे।


एमवीआई को चालक को हटाने का निर्देश देकर कार्यालय में कार्यरत कई कर्मियों का ड्यूटी बदली गई है। कुछ बाहरी लोगों के प्रवेश करने पर रोक का भी गार्ड को निर्देश दिया गया है। परिवहन कार्यालय का कार्य ऑनलाइन होने के बाद ऐसे बिचौलिए की सक्रियता अब नहीं के बराबर रही है। वे स्वयं इसकी निगरानी करते रहते हैं। -विकास कुमार, डीटीओ।

Followers

MGID

Koshi Live News