Koshi Live-कोशी लाइव MADHEPURA:दबंगई:कागजों में तैनात थी पुलिस, इसलिए प्रतिमा विसर्जन में हथियार के साथ नाचते रहे युवक - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, February 21, 2021

MADHEPURA:दबंगई:कागजों में तैनात थी पुलिस, इसलिए प्रतिमा विसर्जन में हथियार के साथ नाचते रहे युवक


पर्व-त्योहारों से पहले थानों में शांति समिति की बैठक आयोजित कर कमेटी और गणमान्य लोगों को सरकारी गाइडलाइन का फरमान तो सुना दिया जाता है पर इसे लेकर अधिकांश जगहों पर न तो कमेटी के लोग सजग रहते हैं और न ही प्रशासन व मजिस्ट्रेट। यही कारण है खासकर विद्या की देवी सरस्वती की पूजा, इस अवसर पर होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम और प्रतिमा विसर्जन के दौरान मनबढ़ टाइप के लड़के गाइडलाइन को धता बताते हुए शराब का सेवन करते हैं और हथियार का प्रदर्शन करते हुए भोजपुरी द्विअर्थी रिकॉर्डिंग गीतों पर सार्वजनिक रूप से झूमते हैं। ताजा मामला सदर प्रखंड के साहूगढ़ के भगवानपुर टोला से जुड़ा है। शनिवार को एक वीडियो सामने आया जिसमें सरस्वती प्रतिमा विसर्जन के दिन निर्धारित संख्या से अधिक लड़के मस्ती में झूमते हुए सड़कों पर डांस करते हैं। इस भीड़ में शामिल दो लड़कों को हाथ में बड़े हथियार के साथ डांस करते देखा जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि उक्त वीडियो साहूगढ़ के भगवानपुर टोला के प्रतिमा विसर्जन का है। उक्त वीडियो पुलिस महकमा के पास भी भिजवाया गया है। हालांकि दैनिक भास्कर ऐसे किसी भी वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

अश्लील भोजपुरी गाने पर किया डांस
वीडियो में 25 की संख्या में युवक भोजपुरी गाने पर डांस करते नजर आ रहे हैं। नशे में धुत युवा गिरते-पड़ते हथियार उठा रहे हैं और ताल से ताल मिला रहे हैं। 2-3 बड़े हथियार इनके हाथों में साफ-साफ दिख रहे हैं। बताया जा रहा है कि 17 और 18 फरवरी को प्रतिमा का विसर्जन किया गया। इस दौरान विभिन्न जगहों पर विसर्जन के दौरान निर्धारित संख्या से अधिक लड़के इसमें शामिल थे। साथ ही कई स्थानों पर भोजपुरी द्विअर्थी रिकॉर्डिंग गाने पर झूमते हुए लड़के डांस भी कर रहे थे।

वीडियो की हो रही जांच
प्रतिमा विसर्जन के दौरान हथियार के साथ कुछ लड़कों द्वारा डांस किए जाने के वायरल वीडियो की जांच की जा रही है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।
सुरेश प्रसाद सिंह, सदर थानाध्यक्ष

भीड़ नहीं लगाने का था निर्देश

विभिन्न जगहों पर शांति समिति की बैठकों में कहा गया था कि डीजे पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। कोविड-19 की गाइडलाइन के अनुसार पूजा में किसी तरह का कोई भीड़ एकत्र कर प्रसाद का वितरण नहीं किया जाएगा। बारी-बारी से प्रसाद बांटा जाएगा। पूजा स्थल पर किसी तरह से आपत्तिजनक, अश्लील गाना बजाने पर कार्रवाई की जा सकती है। जरूरत पड़ने पर सरस्वती पूजा व विसर्जन के दिन पुलिस जवान वर्दी व बिना वर्दी के रहेंगे। विसर्जन के दौरान कोई भी शस्त्र नहीं ले जाएं।

पिछले साल शंकरपुर में लहराया था कट्‌टा
पिछले साल 31 जनवरी को सरस्वती पूजा के दौरान भी एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें शंकरपुर के हरिराहा रामजानकी ठाकुरबाड़ी में बिना आदेश के आर्केस्ट्रा का आयोजन किया गया। आर्केस्ट्रा में मंच पर कुछ लड़कों ने शराब लहराते हुए उसका सेवन किए। जबकि यहीं पर लड़कियों के डांस के दौरान एक लड़के ने कट्‌टा से कई बार फायरिंग भी की। वीडियो वायरल होने के बाद स्थानीय पुलिस ने मामला दर्ज किया।

Followers

MGID

Koshi Live News