Koshi Live-कोशी लाइव बिहार में खिलौना बन गया है पिस्टल:गोल्डेन कार्ड के लिए सिर्फ कतार में लगने के लिए बोला तो तान दिया कट्‌टा, ग्रामीणों से भी की मारपीट। - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Saturday, February 27, 2021

बिहार में खिलौना बन गया है पिस्टल:गोल्डेन कार्ड के लिए सिर्फ कतार में लगने के लिए बोला तो तान दिया कट्‌टा, ग्रामीणों से भी की मारपीट।

बिहार में खिलौना बन गया है पिस्टल:गोल्डेन कार्ड के लिए सिर्फ कतार में लगने के लिए बोला तो तान दिया कट्‌टा, ग्रामीणों से भी की मारपीट

बिहार में पिस्टल खिलौना बन गया है। चाहे गांव हो या शहर, लोग बात-बात पिस्टल तान देते हैं। मधेपुरा में आयुष्मान भारत योजना का गोल्डन कार्ड बनाने वाले केंद्र संचालक ने एक युवक को सिर्फ लाइन से आने को कहा तो उसने पिस्टल तान दिया। केंद्र पर कतार में लगे लोगों ने जब युवक को ऐसा करने से मना किया तो केंद्र संचालक से हाथापाई कर वह भाग गया। इसका वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने आकर मामले की छानबीन की। घटना मधेपुरा के घैलाढ़ प्रखंड अंतर्गत परमानंदपुर ओपी क्षेत्र के बलुआहा वार्ड- 7 की है।

आरोपी युवक की नजर में गोल्डन कार्ड बनाने वाले की गलती यह थी कि उसने युवक को लाइन से आने को क्यों कहा। पीड़ित कर्मी मोहम्मद तौफीक ने बताया कि 11 बजे से उसने काम करना शुरू किया। लोग कतार में लगकर बारी-बारी से अपना काम करवा रहे थे तभी लगभग 1 बजे नशे में धुत होकर इंदल शर्मा हाथ में देशी कट्टा लिए सपरिवार आया। उसने कहा कि उसका कार्ड पहले बना दो। इस पर कर्मी ने उससे कहा कि जो पहले आया है, उसका कार्ड पहले बनेगा। इतना सुनते ही इंदल ने कर्मी पर कट्टा तान दिया और जन से मारने की धमकी देने लगा।

ग्रामीणों से भी की मारपीट
पीड़ित ने बताया कि इसके बाद जब वार्ड सदस्य के पति नंदकिशोर शर्मा और अन्य ग्रामीणों ने बीच-बचाव करना चाहा तो ग्रामीणों के साथ ही मारपीट करना शुरू कर दिया। इस बाबत ओपी अध्यक्ष झोंटी राम ने बताया कि घटना की जानकारी मिली है। जांच के लिए गश्ती दल को भेजा गया है। स्थिति का जायजा लेकर आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के क्या फायदे हैं
आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड एक ऐसा कार्ड है, जिसकी मदद से आप आयुष्मान भारत योजना में चुने गए सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटलों में 5 लाख रुपए तक का अपना मुफ्त इलाज करवा सकता हैं। यह गोल्डन कार्ड उन गरीब लोगों को मिलेगा, जो आयुषमान भारत योजना में आते हैं।

कैसे बनवा सकते हैं यह कार्ड
गोल्डन कार्ड आप अपने नजदीकी किसी भी रजिस्टर्ड सरकारी या प्राइवेट अस्पताल या कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) जाकर बनवा सकते हैं। रजिस्टर्ड सरकारी या प्राइवेट अस्पताल की लिस्ट वेबसाइट pmjay.gov.in पर भी देख सकते हैं। योजना का लाभ लेने के लिए आपको सिर्फ आधार, वोटर ID या राशन कार्ड के जरिए अपनी पहचान साबित करनी होगी। प्रत्येक योजना से जुड़े अस्पताल में आयुष्माण मित्र हेल्पडेस्क होता है, जहां लाभार्थी योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

ऑनलाइन आवेदन का तरीका

  • सबसे पहले आपको mera.pmjay.gov.in पर जाना होगा
  • इसके बाद आपको HHD कोड चुनना होगा
  • इसके बाद आपको इस कोड को कॉमन सर्विस सेंटर में आयुष्मान मित्र को देना होगा
  • आयुष्मान मित्र कॉमन सर्विस सेंटर के आगे की प्रक्रिया पूरी करेंगे
  • इसके बाद आवेदक को 30 रुपए का भुगतान करना होगा

Followers

MGID

Koshi Live News