Koshi Live-कोशी लाइव पूर्णियां:छह फर्जी पैथोलॉजी लैब पर हुई बड़ी कार्रवाई, प्राथमिकी होगी दर्ज - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Tuesday, February 9, 2021

पूर्णियां:छह फर्जी पैथोलॉजी लैब पर हुई बड़ी कार्रवाई, प्राथमिकी होगी दर्ज


पूर्णिया। फर्जी पैथोलॉजी लैब पर एक बार फिर से शिकंजा कसा जा रहा है। ऐसे लैब को चिह्नित कर टीम गठित कर दी गई है और उसकी जांच की जा रही है। सोमवार को सिविल सर्जन डॉ. उमेश शर्मा ने टीम गठित कर पैथोलॉजी की जांच का निर्देश दिया। टीम को मौके पर ही पत्र सौंपा गया और लैब में जांच के लिए भेजा गया। सोमवार को ऐसे छह लैब को टीम ने चिह्नित कर संबंधित थाने में प्राथमिकी दर्ज किया जाएगा। दरअसल शिकायत मिली थी कि लाईन बाजार बिहार टॉकिज रोड में बिना रजिस्ट्रेशन के फर्जी तौर पर गुप्त रूप से कई मकानों में पैथोलॉजी लैब संचालित किया जा रहा है। उसी के आधार पर टीम गठित कर जांच की गई है।
ऐसे पैथोलॉजी लैब जिस पर जांच की गई उसमें डायमंड पैथ लैब मिश्रा मार्केट लाइन बाजार, परस डायग्नोस्टक लैब मिश्रा मार्केट लाइन बाजार, राज डायग्नोस्टिक लैब मिश्रा मार्केट लाइन बाजार, मेडिका पैथोलॉजी, सुदामा कॉम्पलेक्स थर्ड फ्लोर लाइन बाजार, सना पैथोलॉजी सुदामा कंपलैक्स ग्राउंड, वेल केयर डायग्नोस्टिक लैब सुदामा कंपलेक्स, गुरू डायग्नोस्टिक लैब एस जे कंपलैक्स, नुरानी डायग्नोस्टिक लैब पीएन प्लाजा मार्केट शामिल है।

जांच करने वाली टीम में डॉ. सुभाष चंद्र पासवान, डॉ. मो. साबिर, डॉ. सुरेंद्र दास, डॉ. राजेंद्र प्रसाद मंडल, डॉ. ए अहद, डॉ. अमरनाथ झा, डॉ. विभाष कुमार झा, डॉ. सुधांशु कुमार, डॉ. विकास पासवान शामिल हैं। टीम ने निरीक्षण के दौरान पैथोलॉजी लैब कार्यरत चिकित्सक का प्रमाण पत्र, लैब टैक्निशियन का प्रमाण पत्र, डिग्री, लाइसेंसआदि कागजातों की जांच किया गया। गौरतलब है इससे पहले भी जिले में फर्जी लैब पर बड़ी कार्रवाई की गई थी और उसको नोटिस भेज कर सील भी किया गया था। इसके साथ ही ऐसे मकान जिसमें फर्जी जांच लैब का संचालन किया जा रहा है उस पर एफआईआर करने का निर्देश स्थानीय थाना को दिया गया है। जिले में नियम से संचालित लैब को चिह्नित कर उसके नाम पता के साथ अस्पताल, समाहरणालय, प्रखंड मुख्यालय आदि सार्वजनिक जगहों पर सूची टांगी गई थी। उसके बाद भी एक बार फिर कुकुरमुत्ते की तरह फर्जी लैब संचालित हो रहे हैं। अब एक बार फिर से ऐसे लैब पर शिकंजा कसा जा रहा है। अब मकान मालिक को सावधान रहने की आवश्यकता है क्योंकि ऐसे मकान मालिक जो बिना किसी जांच के बाद ऐसे लैब को मकान भाड़े पर देते हैं वे भी कार्रवाई की जद में आ जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग नियम के मुताबिक संचालित लैब की सूची पहले ही सार्वजनिक कर चुका है। इसलिए मकान मालिक को अब सावधानी बरतनी होगी नहीं तो वे भी कार्रवाई की जद में आ जाएंगे।

शिकायत के आधार पर टीम गठित कर पैथोलॉजी लैब की जांच की गई है। इसमें छह लैब फर्जी पाया गया है। उस पर कार्रवाई का आदेश दिया गया है। सभी थाने में प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। अभी ऐसे लैब में जांच जारी रहेगी। - डॉ. उमेश शर्मा, सिविल सर्जन

Followers

MGID

Koshi Live News