Koshi Live-कोशी लाइव पूर्णियां:मनरेगा के पैसे से बने पशुशेड में चल रहा कोचिंग, इस तरह फर्जी किसानों ने उठा लिया सरकारी योजना का पैसा - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, February 7, 2021

पूर्णियां:मनरेगा के पैसे से बने पशुशेड में चल रहा कोचिंग, इस तरह फर्जी किसानों ने उठा लिया सरकारी योजना का पैसा

कोशी लाइव डेस्क:

पूर्णिया [सुजीत कुमार]। भवानीपुर प्रखण्ड के सुपौली पंचायत के वार्ड नंबर 6 में मनरेगा से बने पशुशेड के दुरुपयोग होता दिखाई दे रहा है । गरीब लोगों का पशु बाहर ठंढ़ में ठिठुर रहे और संपन्न परिवार के लोग इसे बनवा कर दुरूपयोग करते नजर आ रहे है । सुपौली पंचायत में जब मनरेगा से बने पशुशेड की पड़ताल की गई तो कई चौकाने वाली बात सामने आई । गरीब लोगों का पशु बाहर ठंड में ठिठुरते नजर आए और संपन्न परिवार के लोग पशुशेड बना उसका खुलेआम दुरूपयोग करते नजर आए ।

सबसे बड़ी बात यह है कि जो लोग शेड का दुरुपयोग कर रहे है उनके पास रखने के लिए मवेशी ही नही है । जबकि मनरेगा मापदंड के अनुसार शेड का लाभ वही लाभुक ले सकते है जिनके पास मवेशी हो और यहाँ तो बिना मवेशी वाले ही शेड बना रखा है ।

इस बात की जानकारी जब वहाँ मौजूद लोगों से ली गई तो पता चला कि सभी शेड मुखिया पति मुबारक आलम के द्वारा बनाया गया है । लाभुक को इसके बारे में कुछ पता नही है । वार्ड नंबर 6 के अनवर आलम के दरवाजे पर बने पशुशेड को गृहस्वामी के द्वारा उसे बेड रूम में बदल दिया गया ।

जिसमें चारपाई पर बिस्तर के आलावा कुर्सी और पंखे भी लगे नजर आए । वहीं वार्ड नंबर 6 के मुहम्मद इंशुल अपने मवेशी शेड को कोचिंग संस्थान चला रहे है। पूछने पर बताया की पशु नही है शेड खाली रहता था जिसके वजह से कोचिंग चला रहे है । रौशन खातून के घर बने पशु सेड बेकार पड़ा है जब मवेशी ही नही हो मवेशी शेड किस काम का । इस संबंध में मनरेगा कार्यक्रम पदाधिकारी अभिलाष कुमार से पूछने पर उन्होंने बताया कि मवेशी शेड का लाभ सिर्फ उन्हीं लाभुक को मिलना है जिनके पास मवेशी है । इसकी जांच कराने के बाद दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

पशु शेड मामले में अनिमितताओं की जानकारी मिली है मनरेगा पीओ के द्वारा इसकी जांच करवाई जाएगी अगर इसमें कोई दोषी पाए जाते है तो उसके ऊपर कार्रवाई की जाएगी राजेश्वरी पांडेय, अनुमंडल पदाधिकारी धमदाहा

Followers

MGID

Koshi Live News