Koshi Live-कोशी लाइव पूर्णियां/सहरसा के राजकुमार हत्याकांड में दो को गिरफ्तार कर भेजा गया जेल - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, February 21, 2021

पूर्णियां/सहरसा के राजकुमार हत्याकांड में दो को गिरफ्तार कर भेजा गया जेल

कोशी लाइव डेस्क:

पूर्णिया। सहायक खजांची थाना क्षेत्र के चित्रवाणी रोड में राजकुमार सिंह हत्याकांड मामले में पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। गिरफ्तार दोनों व्यक्ति महबूब खान टोला निवासी अविनाश कुमार सिंह और सिपाही टोला निवासी प्रशन्नजीत कुमार श्रीवास्तव उर्फ प्रशांत कुमार वर्मा राजकुमार के दोस्त थे। अविनाश ही राजकुमार सिंह को प्रशन्न श्रीवास्तव के भाई के शादी समारोह में घर से बुलाकर ले गया था। दोनों को हत्या में मुख्य साजिशकर्ता बनाया गया है। मामले में पुलिस गोली मारने वाले शूटर नेवालाल चौक निवासी सन्नी मंडल की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

मामले में शामिल अन्य लोगों की पहचान के लिए पुलिस जांच में जुटी है। इसके लिए पुलिस राजकुमार सिंह के अलावा अविनाश सिंह और प्रशन्न सिंह के मोबाइल नंबर का कॉल डिटेल रिपोर्ट (सीडीआर) भी खंगाल रही है। पुलिस शूटर की तलाश में भी जुटी हुई है। अब तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि सीसीटीवी फुजेट में हथियार लेकर आने वाला शख्स नेवालाल चौक निवासी सन्नी मंडल किसके बुलावे पर वहां आया था। कहीं वहां मौजूद किसी तीसरे पक्ष ने तो मौका का फायदा उठाते हुए अपने गुर्गे को बुलाकर वारदात को अंजाम दिया।

-----------------------------------

घटनास्थल की छानबीन में पुलिस लापरवाह::

राजकुमार सिंह हत्याकांड में सहायक खजांची थाना पुलिस की कार्यशैली बिल्कुल शिथिल रही। घटना बाद एक ओर जहां आठ घंटे बाद थाना पुलिस को हत्या के बारे में पता चला वहीं घटनास्थल के जांच में भी थाना पुलिस की लापरवाही सामने आ रही है। घटना की सूचना बाद गुरुवार की सुबह करीब नौ बजे जब सहायक खजांची थानाध्यक्ष अमित कुमार स्वयं पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर जांच में पहुंचे तो वहां रात में हुए गोलीबारी बाद गिरा खोखा, कारतूस या गिरे हथियार जैसे साक्ष्य तक ढूंढ़ने का प्रयास नहीं किए। खानापूर्ति के तौर पर सिर्फ सीसीटीवी कैमरा खंगालकर वहां से चलते बने। लेकिन घटनास्थल की छानबीन कर साक्ष्य इकट्ठा करने में खानापूर्ति किए। घटनास्थल के आसपास पुलिस पदाधिकारी से लेकर पुलिस बल घंटों मंडराते रहे लेकिन बारीकी से छानबीन नहीं किया। घंटों दो दुकान में सीसीटीवी फुटेज लेकर चली गई। दोपहर करीब दो बजे स्थानीय लोगों के छानबीन में सड़क किनारे एक खोखा गिरा पाया गया। इसके बाद स्थानीय लोग फोन कर पुलिस को सूचना दी। सूचना पर मोटरसाइकिल से पहुंचे दो पुलिस जवान वहां से खोखा लेकर गए। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि सहायक खजांची थाना पुलिस घटना की जानकारी प्राप्त करने से लेकर घटनास्थल की छानबीन में कितनी संजीदा से काम किए हैं।

Followers

MGID

Koshi Live News