Koshi Live-कोशी लाइव बिहार में जाम छलकाने वाले हो जाएं सावधान, शराब मामले में सिर्फ गिरफ्तारी नहीं, ये भी करेगी पुलिस - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, February 21, 2021

बिहार में जाम छलकाने वाले हो जाएं सावधान, शराब मामले में सिर्फ गिरफ्तारी नहीं, ये भी करेगी पुलिस

कोशी लाइव डेस्क:

राज्य ब्यूरो, पटना : शराबबंदी मामले में मद्य निषेध विभाग व पुलिस अब और सख्ती बरतेगी। शराबबंदी कानून के तहत पकड़े गए लोगों को गिरफ्तार करने के साथ उन्हें जल्द सजा दिलाने पर भी जोर होगा। हर माह कितने अपराधियों को शराब मामले में सजा मिली, इसका डाटा भी तैयार किया जा रहा है। इसे वेबसाइट व मीडिया के जरिए आमलोगों तक पहुंचाने की भी तैयारी है, ताकि शराबबंदी को लेकर तस्करों व अपराधियों में खौफ बन सके। सूत्रों के अनुसार, पिछले दिनों हुई समीक्षा बैठक में पदाधिकारियों को इस बाबत निर्देश दिया गया है।

जेल से जमानत पर उठे थे सवाल

राज्य में शराबबंदी एक अप्रैल, 2016 को लागू हुई थी।

मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन विभाग के आंकड़ों के अनुसार, इस साल 31 जनवरी तक 70,466 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। सूत्रों की मानें तो इनमें से बड़ी संख्या में अपराधियों को साक्ष्य के अभाव, चार्जशीट की कमी समेत अन्य कारणों से जमानत मिल गई। ऐसे में अब पुलिस के साथ उत्पाद टीम को साक्ष्य के साथ ससमय चार्जशीट आदि देने का टास्क दिया गया है, ताकि अपराधियों को निश्चित समय में सजा दिलाई जा सके।

सासाराम, गया, गोपालगंज और वैशाली के शराब तस्करों को मिली सजा

हाल के दिनों में रोहतास, गया, गोपालगंज और वैशाली में शराब तस्करों को सजा सुनाई गई है। इसी माह 18 तारीख को एडीजे-2, सासाराम की अदालत ने शराबबंदी एक्ट के तहत टुनटुन सिंह व जमुना सिंह को तीन माह की सश्रम कारावास और 50 हजार के अर्थदंड की सजा सुनाई है। इसके पूर्व गया, गोपालगंज और वैशाली में करीब एक दर्जन आरोपितों को तीन वर्ष से लेकर आजीवन कारावास तक की सजा सुनाई गई है।

होली को लेकर बढ़ाई गई सख्ती

होली को लेकर मद्य निषेध विभाग ने सभी जिला उत्पाद निरीक्षकों और चेकपोस्ट को और ज्यादा सतर्क रहने को कहा है। सभी गाडिय़ों की बाकायदा चेकिंग अनिवार्य की गई है। हर पाली में पुलिसकर्मियों को मुस्तैदी से काम करने को कहा गया है।

Followers

MGID

Koshi Live News