Koshi Live-कोशी लाइव मधेपुरा:डीएम ने लिया संज्ञान, मंदिर पुनर्निर्माण की बनी उम्मीद - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Thursday, February 4, 2021

मधेपुरा:डीएम ने लिया संज्ञान, मंदिर पुनर्निर्माण की बनी उम्मीद


मधेपुरा। बाबा सिंहेश्वरनाथ शिव मंदिर पुनर्निर्माण के लिए दैनिक जागरण द्वारा लगातार समाचार प्रकाशित किए जाने के बाद न्यास समिति हरकत में आ गई है। न्यास समिति के अध्यक्ष सह जिलाधिकारी ने इस मामले पर संज्ञान लिया है। डीएम सह न्यास समिति के अध्यक्ष श्याम बिहारी मीणा के निर्देश पर बुधवार को न्यास समिति कार्यालय में मंदिर न्यास समिति की अनौपचारिक बैठक हुई।

एसडीओ सह सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में न्यास समिति के अगले बैठक की रूप रेखा तय की गई। इसमें मंदिर पुनर्निर्माण के मुद्दे को प्राथमिकता में रखा गया है। जल्द ही मंदिर न्यास समिति की बैठक होगी। बैठक में मंदिर पुनर्निर्माण को लेकर चर्चा कर निर्णय लिया जाएगा। मंदिर पुर्ननिर्माण को लेकर अब न्यास समिति के सदस्य भी मुखर होकर सामने आने लगे हैं। सबों का मानना है कि मंदिर का पुर्ननिर्माण व सुंदरीकरण काफी आवश्यक है। वहीं स्थानीय लोग भी इस बात पर सामने आने लगे हैं कि सिंहेश्वर व जिले की पहचान ही सिंहेश्वर मंदिर से है। मंदिर के भवनों की जर्जर हालत यहां तक पहुंच गई है वो कभी ध्वस्त भी हो सकती है। स्थानीय लोग भी इस बात को सामने रखने के लिए जल्द ही बैठक करने वाले हैं। आय की नहीं है कमी डीएम सह मंदिर न्यास समिति के अध्यक्ष द्वारा मंदिर पुनर्निर्माण के मामले में संज्ञान लेने के बाद अब उम्मीद हो चली है। अब लोगों को उम्मीद है कि मंदिर पुनर्निर्माण कार्य हो सकता है। दरअसल न्यास को न तो आय की कमी है और न ही संसाधन की। न्यास समिति के खाते में मंदिर पुनर्निर्माण के लिए आवश्यक राशि से भी अधिक है। लेकिन कमी न्यास समिति के इच्छाशक्ति में रही थी। जिस वजह से जैसा था वैसा चलता आ रहा था। बाबा मंदिर के खाते में अभी तकरीबन 11 करोड़ रुपया है। इससे पहले भी कई करोड़ रुपया सड़क, कार्यालय आदि बनाने पर खर्च किया गया। लेकिन बाबा मंदिर के पुर्ननिर्माण व सुंदरीकरण के लेकर कभी कोई ठोस कार्ययोजना नहीं बनाई जा सकी। धार्मिक पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा बाबा मंदिर के पुनर्निर्माण से यहां धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। वैसे तो बाबा के भक्तों की संख्या लाखों करोड़ों में है ही। जो बिना किसी सुविधा की परवाह किए बिना बाबा के दर्शन व जलाभिषेक को आते हैं। लेकिन अगर यहां मंदिर का पुर्ननिर्माण कर दिया जाय व श्रद्धालुओं की सुविधाओं में विस्तार कर दिया जाये। तो यहां आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में और काफी इजाफा होगा। लोग बाबा के दर्शन के अलावा यहां घूमने भी आएंगे। अभी वर्तमान समय में जो भी मंदिर बन रही उसे इस तरह बनाया जा रहा है कि लोग मंदिर की एक झलक देखने जाते हैं। इसका ताजा उदाहरण गनपतगंज के पास बनाई गई मंदिर है। इसे दक्षिण भारतीय मंदिर की शैली में बनाई गई है। जिसे देखने काफी लोग जाने लगे हैं। वहां काफी शादी ब्याह भी हो रहा है।

कोट बाबा मंदिर पुनर्निर्माण के लिए न्यास समिति की बैठक में निर्णय लिया जाएगा। बुधवार को आगामी बैठक की रूपरेखा तय करने के लिए एक अनौपचारिक बैठक की गई। इसमें आगामी बैठक में शामिल किए जाने एजेंडे पर सदस्यों ने चर्चा की। मंदिर पुर्ननिर्माण को सर्वाधिक प्राथमिकता में रखा गया है। अगली बैठक में मुख्य रूप से इसी पर चर्चा की जाएगी। मंदिर न्यास समिति के पास मंदिर पुनर्निर्माण के लिए पर्याप्त राशि है। मंदिर पुर्ननिर्माण होना आवश्यक है। मनीष सर्राफ, कोषाध्यक्ष, सिंहेश्वर मंदिर न्यास समिति, सिंहेश्वर(मधेपुरा)

Followers

MGID

Koshi Live News