Koshi Live-कोशी लाइव बिहारः 10 दिन भी जी न सका 3 थप्पड़ खाकर साढ़ू की हत्या करने वाला, आठ लोगों ने मिलकर ली जान - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Monday, February 15, 2021

बिहारः 10 दिन भी जी न सका 3 थप्पड़ खाकर साढ़ू की हत्या करने वाला, आठ लोगों ने मिलकर ली जान

कोशी लाइव डेस्क:
बिहारः 10 दिन भी जी न सका 3 थप्पड़ खाकर साढ़ू की हत्या करने वाला, आठ लोगों ने मिलकर ली जान

पटना सिटी: आलमगंज थाना क्षेत्र के चैलीटाड़ स्थित सरकारी मध्य विद्यालय के बाहर सोमवार की शाम सात-आठ की संख्या में रहे बदमाशों ने विक्की मोबाइल को गोलियों से छलनी कर दिया। गोली मारने के बाद भी विक्की का सिर पत्थर से कुचल दिया। आसपास की गलियों से निकल कर हत्या को अंजाम देने के बाद बदमाश उन्हीं गलियों में गुम हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि विक्की को आधा दर्जन से अधिक गोलियां बदमाशों ने मारी। हत्या की सूचना पर पहुंची आलमगंज पुलिस ने पंचनामा कर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए नालंदा मेडिकल कॉलेज भेजा। विक्की मोबाइल पर आधा दर्जन से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं।

गोली मारने के बाद सिर कुचला

घटना के संबंध में स्थानीय लोगों ने बताया कि शाम में लगभग 4:30 बजे जैसे ही स्व. हरि प्रसाद का 28 वर्षीय पुत्र विक्की कुमार उर्फ विक्की मोबाइल चैलीटाड़ स्कूल के पास पहुंचा। उसी समय आसपास की गलियों से सात-आठ युवक निकले और ट्रांसफार्मर के नीचे कूड़ा स्थल के सटे ताबड़तोड़ विक्की पर गोली चलाई। आधा दर्जन से अधिक गोली लगने के बाद भी उसकी सांस चलते देख गोली मारने वालों ने पत्थर से उसका सिर कुचल दिया। गोली मारने वाले जब आश्वस्त हो गए कि विक्की की मौत हो चुकी है, तब वे पिस्तौल लहराते निकल गए। लोगों ने बताया कि घटनास्थल पर डेढ़ दर्जन से अधिक गोली चली है। पुलिस छानबीन कर रही है।

तीन थप्पड़ के बदले साढ़ू की गोली मारकर हत्या की थी

आलमगंज थानाध्यक्ष सुधीर कुमार ने बताया कि माखनपुर ईदगाह स्थित गांधी मूर्ति के समीप छह फरवरी की सुबह साढ़ू लल्ला गोप की विक्की कुमार उर्फ विक्की मोबाइल ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। हत्या का कारण घटना के एक दिन पूर्व साढ़ू लल्ला द्वारा विक्की को तीन थप्पड़ मारना बताया गया था। पुलिस के अनुसार वर्ष 2015 में विक्की जेल गया था। कुछ दिनों बाद लल्ला गोप के भी जेल जाने के बाद उसकी पत्नी अपनी छोटी बहन के साथ लल्ला से मिलने जेल जाती थी। इसी दौरान विक्की ने लल्ला की साली से शादी का प्रस्ताव रखा। इसके बाद लल्ला की साली से शादी कर विक्की उसका साढ़ू बन गया। जेल से छूटने के बाद पांच फरवरी को मामूली बात पर उठे विवाद में साढ़ू लल्ला द्वारा तीन थप्पड़ मारे जाने पर अगले दिन विक्की ने साढ़ू को घर के समीप ही गोली मारकर फरार हो गया था।

तीन हत्या, रंगदारी, डकैती की योजना समेत सात मामले दर्ज

आलमगंज थानाध्यक्ष ने बताया कि महाराजगंज जल्ला का रहने वाला विक्की मोबाइल वर्ष 2015 के 26 मई को कांड संख्या 121/15 तथा उसी वर्ष सात जून को कांड संख्या 133/15 में हत्याकांड में नामजद था। वहीं वर्ष 2013 में 18 दिसंबर को कांड संख्या 469/13, वर्ष 2018 में 14 जून को कांड संख्या 304/18, वर्ष 2020 में 8 फरवरी को कांड संख्या 99/20, 15 फरवरी को कांड संख्या 114/20 दर्ज हैं। छह फरवरी 2021 को लल्ला हत्याकांड संख्या 82 दर्ज हुआ था। विक्की पर हत्या के अलावा रंगदारी तथा डकैती की योजना जैसे गंभीर धाराएं दर्ज थी।

Followers

MGID

Koshi Live News