Koshi Live-कोशी लाइव SAHARSA:बिना पढ़ाई पूरी किए मैट्रिक व इंटर में उत्तीर्ण हो रही छात्राएं - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Wednesday, January 20, 2021

SAHARSA:बिना पढ़ाई पूरी किए मैट्रिक व इंटर में उत्तीर्ण हो रही छात्राएं

कोशी लाइव/सहरसा:बिना पढ़ाई पूरी किए मैट्रिक व इंटर में उत्तीर्ण हो रही छात्राएं:

सहरसा। शहर के ओबीसी कन्या प्लस टू आवासीय विद्यालय में बगैर पढ़ाई पूरी किए ही हर साल छात्राएं मैट्रिक और इंटर की परीक्षाओं में उत्तीर्ण हो रही है।

ग‌र्ल्स हाई स्कूल परिसर के एक हिस्से में वर्ष 2004 से ओबीसी कन्या उच्च आवासीय विद्यालय का संचालन हो रहा है। ग‌र्ल्स हाई स्कूल के जर्जर भवन में चल रहे ओबीसी आवासीय विद्यालय की यह स्थिति है कि इस विद्यालय में प्रधानाध्यापक के अलावा चार शिक्षक ही कार्यरत हैं जिससे ही इंटर तक की पढ़ाई की व्यवस्था करायी जा रही है जबकि सृजित पदों की संख्या 12 शिक्षकों की है। मैट्रिक के लिए सिर्फ विज्ञान एवं सामाजिक विज्ञान के ही चार शिक्षक हैं। इन शिक्षकों के भरोसे ही इंटर की छात्राएं रहती है। कई महत्वपूर्ण विषयों हिदी, गणित, अंग्रेजी के शिक्षक नहीं है। वर्ग छह से लेकर इंटर तक 280 छात्राएं अध्ययनरत है। फिलहाल वर्ग नवम से बारहवीं तक की छात्राओं की वर्ग कक्षा संचालित की जा रही है। इसमें इंटर की परीक्षा फरवरी में आयोजित होनेवाली है जिसके कारण छात्राएं सेल्फ स्टडी में ही लगी हुई है। अभी वर्ग नवम की कक्षा चलाई जा रही है।

-------------- ---------

2017 से हो रही इंटर की पढ़ाई

ओबीसी कन्या आवासीय हाई स्कूल को वर्ष 2017 में इंटर में प्रोन्नत कर दिया गया, लेकिन न तो शिक्षकों की संख्या बढ़ाई गई है और न ही शिक्षकों की तैनाती की गई। इसके कारण हर वर्ष छात्राएं अपनी लगन और मेहनत बल पर ही इंटर की परीक्षा उत्तीर्णता हासिल कर रही है।

----------------

इन विषयों के नहीं है शिक्षक

ओबीस कन्या आवासीय प्लस टू स्कूल में हिदी, अंग्रेजी, संस्कृत, गणित, भूगोल, अर्थशास्त्र, गृह विज्ञान, राजनीति विज्ञान, संगीत सहित कई अन्य विषयों के शिक्षक वर्षों से नहीं है जिससे पठन पाठन प्रभावित होता है।

-----------------------

ओबीसी कन्या प्लस टू आवासीय स्कूल में कई बार शिक्षकों की डिमांड के लिए शिक्षा विभाग सहित वरीय अधिकारियों को अवगत कराया गया है। 10 विषयों के लिए शिक्षकों की डिमांड की गयी है जिससे अध्यापन कार्य सुचारू रूप से चल सकें।

नीलम कुमारी, प्रधानाध्यापिका

Followers

MGID

Koshi Live News