Koshi Live-कोशी लाइव Good News बिहार के सहरसा में पीपीपी मोड में बनेगा गुडस टर्मिनल, रेलवे ने दी हरी झंडी - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, January 24, 2021

Good News बिहार के सहरसा में पीपीपी मोड में बनेगा गुडस टर्मिनल, रेलवे ने दी हरी झंडी


Good News रेलवे ने बिहार के सहरसा जिले के बैजनाथपुर में गुडस टर्मिनल बनाने की हरी झंडी दे दी है। समस्तीपुर मंडल के तहत आने वाले बैजनाथपुर स्टेशन पर गुडस टर्मिनल के सर्वे के लिए पहुंची चार सदस्यीय टीम को सीनियर अधिकारियों ने शीघ्र एस्टीमेट तैयार कर भेजने का निर्देश दिया है। पीपीपी मोड पर इसका निर्माण किया जाएगा। गुड्स टर्मिनल पर मालगाड़ी से मंगाई जाने वाली सामग्रियां उतारी जाएगी। यहां से बुक हुई सामग्रियां बाहर भेजी जाएगी।

समस्तीपुर मंडल के डीसीएम प्रसन्न कुमार ने शनिवार को बैजनाथपुर में गुडस टर्मिनल निर्माण स्थल का निरीक्षण के दौरान गुडस टर्मिनल के सर्वे के लिए पहुंची चार सदस्यीय टीम को शीघ्र एस्टीमेट तैयार कर भेजने का निर्देश दिया। डीसीएम ने कहा कि गुडस टर्मिनल के लिए बैजनाथपुर हर दृष्टिकोण से उपयुक्त जगह है। यहां से सहरसा,  मधेपुरा और सुपौल जिले तीनों जगहों के लिए रोड कनेक्टिविटी है। एनएच होकर गुडस टर्मिनल पर उतरी सामग्रियों को सड़क मार्ग से व्यापारी अपने गंतव्य स्थल को ले जा सकेंगे।

वहीं अभी बन रहे एनएच सड़क में प्रयुक्त होने वाली निर्माण सामग्रियां रेल के जरिए मंगाकर यहां उतारी जा सकेगी। मंडल वाणिज्य प्रबंधक ने कहा कि बैजनाथपुर में पीपीपी मोड पर गुडस टर्मिनल का निर्माण किया जाएगा। पीपीपी मोड से गुडस टर्मिनल बनाने के लिए टेंडर दस से पंद्रह दिन में निकाल दिया जाएगा। टेंडर के आधार पर चयन की प्रक्रिया रेलवे की गाइडलाइन के मुताबिक पूरी की जाएगी। उन्होंने कहा कि गुडस शेड के लिए 15 मीटर चौड़ा और 710 मीटर लंबा प्लेटफार्म का निर्माण होगा, जहां मालगाड़ी से सामग्रियां उतारी जाएगी। 

मालगोदाम प्रभारी ऑफिस व मजदूरों के लिए बनेगा कमरा
बैजनाथपुर गुडस टर्मिनल पर मालगोदाम प्रभारी ऑफिस बनेगा। मजदूरों के लिए कमरा बनेगा। शौचालय और स्नानागार बनेगा। डीसीएम ने कहा कि गुडस टर्मिनल को चारों तरफ से ग्रीन कवर किया जाएगा। बिजली व्यवस्था को लेकर ट्रांसफार्मर व लाइट लगाए जाएंगे। 

एक साल के अंदर निर्माण करना होगा
बैजनाथपुर की तीसरी रेललाइन गुडस लाइन हो जाएगी। जिस पर मालगाड़ी प्लेस होगी और खुलेगी। वहीं डीसीएम ने कहा कि बैजनाथपुर में गुडस टर्मिनल निर्माण के लिए चयनित प्रायवेट व्यक्ति या एजेंसी को एक साल के अंदर इसका निर्माण पूरा करते हुए इसे चालू करना होगा। गुडस टर्मिनल का मेंटेनेंस टेंडर प्राप्त व्यक्ति या एजेंसी को ही करना होगा। 

आबादी से दूर होने के कारण भी बैजनाथपुर जगह

आबादी से दूर होने के कारण भी बैजनाथपुर गुडस टर्मिनल के लिए उपयुक्त जगह है। यहां मालगाड़ी से निर्माण सामग्रियों के उतारने और ट्रक व ट्रैक्टरों की आवाजाही व ढुलाई के दौरान उड़ती धूल से आबादी प्रभावित नहीं होगी। वहीं  बगल में मौजूद सड़क से गाड़ियों की आवाजाही होगी।

डीआरएम द्वारा गठित टीम ने किया सर्वे 
समस्तीपुर मंडल के डीआरएम अशोक माहेश्वरी द्वारा गठित टीम में शामिल डीसीआई राजेश रंजन श्रीवास्तव, सीनियर सेक्शन इंजीनियर प्रभात कुमार, सीनियर सेक्शन इंजीनियर बिजली महेश कुमार सिन्हा और टीआई दिनेश कुमार ने शनिवार को बैजनाथपुर में गुडस टर्मिनल को लेकर सर्वे किया। गुडस टर्मिनल के तहत कहां कौन सी चीजें रहेगी उसका आकलन किया। डीसीएम ने सभी से विचार विमर्श करते आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

Followers

MGID

Koshi Live News