Koshi Live-कोशी लाइव DGP बोले- 2020 की तुलना में 2019 में ज्यादा अपराध:कल CM नीतीश कुमार 2005 की याद दिला रहे थे, आज बिहार पुलिस के मुखिया ने 2019 की बात कह दी - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, January 17, 2021

DGP बोले- 2020 की तुलना में 2019 में ज्यादा अपराध:कल CM नीतीश कुमार 2005 की याद दिला रहे थे, आज बिहार पुलिस के मुखिया ने 2019 की बात कह दी



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को R ब्लॉक-दीघा सड़क के उद्घाटन के अवसर पर बिहार में बढ़ते अपराध पर साल 2005 की याद दिलाई तो शनिवार को बिहार पुलिस के मुखिया यानी DGP एसके सिंघल ने 2020 की बात कह दी। DGP ने मीडिया से बातचीत में कह दिया कि 2020 की तुलना में 2019 में राज्य के अंदर काफी अपराध हुए जिसकी कोई बात ही नहीं करता है। DGP की यह बात इशारों ही इशारों में कई सवाल खड़े करती है। इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रुपेश सिंह की हत्या मामले में DGP पटना SSP के ऑफिस पहुंचे थे। करीब दो घंटे की मीटिंग के बाद जब वे बाहर निकले तो मीडिया से भी मुखातिब हुए और ऐसा बयान दे दिया।

2019 में क्राइम बढ़ा, इसका डेटा भी है
DGP के इस बयान से कटघरे में सरकार के साथ-साथ उस वक्त के DGP भी आ जाते हैं। DGP ने कहा कि नवंबर 2019 की तुलना में नवंबर 2020 में अपराध कम हुए हैं। DGP ने कहा कि बगैर तथ्य के पुलिस की कार्यशैली पर कुछ लोग सवाल उठा रहे हैं, जो सही नहीं है। 2019 में क्राइम बढ़ा। इसका डेटा भी है। इस पर कोई चर्चा नहीं करता। उन्होंने कहा कि बिहार में 13 करोड़ की आबादी है। इसकी तुलना में पुलिस की जो स्ट्रेंथ है वह अच्छा काम कर रही है। हर दिन बिहार में 800 केस दर्ज होते हैं। पूरे देश में बिहार पुलिस काफी अच्छे से काम कर रही है।

रुपेश हत्याकांड केस बहुत संवेदनशील
भास्कर ने जब रुपेश हत्याकांड की जांच पर सवाल किया तो DGP ने कहा कि यह केस बहुत संवेदनशील और मुश्किल है। इस कारण हमारी जांच मल्टीपल बिन्दुओं पर चल रही है। जांच की बात को शेयर नहीं की जाएगी, वो भी तब तक जब तक हमारे हाथ कोई कंक्रीट चीज नहीं आ जाती। कई तरह के एंगल को देखा जा रहा है। पूरा भरोसा है कि इस केस का हमलोग खुलासा कर देंगे। इस केस के अंदर बहुत तरह के मामले हैं। जिस पर जांच चल रही है।

तीन-तीन ADG के साथ किया गया डिटेल एनालिसिस
DGP ने माना कि इंडिगो के मैनेजर रुपेश सिंह की हत्या का मामला काफी गंभीर और महत्वपूर्ण है। इसीलिए वे खुद इस केस का रिव्यू करने आए हैं। इस केस पर डिटेल एनालिसिस किया गया, एक-एक बिन्दु पर मीटिंग में बात की गई है। इस मीटिंग में DGP के साथ CID के ADG विनय कुमार, लॉ एंड ऑर्डर ADG अमित कुमार, ADG ऑपरेशन सुशील एम खोपड़े, पटना रेंज के IG संजय सिंह और SSP उपेंद्र कुमार शर्मा के साथ उनकी पूरी टीम थी। DGP ने बताया कि इस केस में आगे क्या करना है, इस पर बात की गई है।

कई टीमें इस केस पर काम कर रहीं
DGP ने बताया कि पटना पुलिस के अधिकारियों के साथ इस केस पर पूरे डिटेल से बात हुई। बहुत कॉम्प्लेक्स है इस केस में। हमारी कई टीमें इस केस पर काम कर रही है। अलग-अलग जगहों पर गई हैं। टेक्निकल टीम अलग से इंटेलिजेंस कलेक्ट कर रही है। एक टीम ह्यूमन इंटेलिजेंस कलेक्ट कर रही है। एक टीम साइंटिफिक तरीके से सबूत जुटाने में लगी हुई है। इसके अलावा बहुत बेसिक चीजें सामने आई है। पूरी तरह से यह कांट्रैक्ट किलिंग का मामला है। हत्या के पीछे की वजह को ढूंढ़ने की पुलिस टीम पूरी कोशिश कर रही है। पूरा भरोसा है कि इस केस का खुलासा हमलोग जल्द ही कर लेंगे।

पिछले 20 दिनों में हर घटना पर तेजी से कार्रवाई
DGP ने कहा कि पुलिस बहुत मजबूती के साथ काम कर रही है। किसी भी केस के डिटेक्शन में पेशेंस और मेहनत की जरूरत होती है। बिहार में बहुत बड़े-बड़े केस हैं, जो CBI के पास गए और उनका हल नहीं निकल पाया। वो केस ब्लाइंड रह गए। जबकि, बिहार पुलिस ने कुछ केस को छोड़ दें तो अधिकांश का खुलासा कर दिया है। पिछले 2-3 महीने में बिहार के अंदर हुए अपराध की बात करें तो हमारी पुलिस टीम ने हर केस का खुलासा बहुत अच्छे से किया है। इसमें कई बड़े और संवदेनशील मामले रहे हैं। पिछले 20 दिनों में हर घटना पर पुलिस ने तेजी से कार्रवाई की है और उसका खुलासा किया है। देर-सवेर रुपेश के केस में भी खुलासा हो जाएगा। दरभंगा लूट मामले में हमारी टीम ने बेहतर काम किया।

Followers

MGID

Koshi Live News