Koshi Live-कोशी लाइव बिहार में दफ्तर खोलेंगे तभी मिलेगा गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाने का काम - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

Translate

Monday, January 25, 2021

बिहार में दफ्तर खोलेंगे तभी मिलेगा गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाने का काम


पटना, राज्य ब्यूरो । सात निश्चय-2 के तहत गांव की गलियों में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाए जाने का काम हासिल करने को इच्छुक कंपनियों को बिहार में अपना एक दफ्तर भी खोलना होगा। बिहार रिन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी (ब्रेडा) ने सोलर स्ट्रीट लाइट लगाए जाने को जो नियमावली तैयार की है उसमें इसे एक अनिवार्य शर्त के रूप में शामिल किया गया है।

मेंटेनेंस की वजह से दफ्तर खोलने की शर्त

इस बाबत ब्रेडा के अधिकारियों का कहना है कि गांव-गांव सोलर स्ट्रीट लगाए जाने की योजना में यह प्राविधान किया गया है कि जो एजेंसी स्ट्रीट लाइट लगाएगी उसे ही अगले पांच वर्षों तक स्ट्रीट लाइट के रख रखाव का भी काम देखना है।

इसलिए जरूरी है कि संबंधित कंपनी का बिहार में अपना एक दफ्तर हो और वहां मेंटेनेंस देखने वाले उपलब्ध हों। जरूरत पडऩे पर पंचायत के लोग वहां संपर्क कर सकें।

एक पंचायत में औसतन डेढ़ सौ सोलर स्ट्रीट लाइट लगाए जाएंगे

पंचायती राज महकमे ने सोलर स्ट्रीट लाइट के लिए पंचायतवार जो सूची उपलब्ध करायी है उसके अनुसार एक पंचायत में औसतन डेढ़ सौ सोलर स्ट्रीट लगाए जाएंगे। पंचायतों के मुखियों की मदद से यह सूची तैयार की गयी है।

बगैर निरीक्षण के नही लग सकेंगे एक भी उपकरण

सोलर स्ट्रीट लाइट को लेकर जो नियमावली तैयार की गयी है उसमें इस बात का विशेष रूप से उल्लेख है कि बगैर ब्रेडा के अधिकारी के निरीक्षण के सोलर स्ट्रीट लाइट का एक भी उपकरण नहीं लगाया जा सकेगा। संबंधित जिले के डीएम की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित होगी। उक्त कमेटी में पंचायती राज व ऊर्जा विभाग के लोगों को भी शामिल किया जाएगा। पंचायत के लिए चयनित एजेंसी को उक्त कमेटी को यह जानकारी देनी होगी कि उसने स्ट्रीट लाइट का सामान पंचायत स्तर तक पहुंचा दिया है। इसके बाद ब्रेडा द्वारा उन उपकरणों का निरीक्षण होगा। निरीक्षण के बाद ब्रेडा द्वारा अनुमति मिलने के बाद ही सोलर स्ट्रीट लगाया जा सकेगा। काम पूरा होने के बाद पुन: ब्रेडा द्वारा इसका निरीक्षण किया जाएगा।

Followers

MGID

Koshi Live News