Koshi Live-कोशी लाइव बिहार:कुख्यात खोखा सिंह की गोली मारकर हत्या,एक अन्य घायल। - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Wednesday, January 27, 2021

बिहार:कुख्यात खोखा सिंह की गोली मारकर हत्या,एक अन्य घायल।

कोशी लाइव:

भागलपुर। नवगछिया प्रखंड के कदवा ओपी के गोला टोला कदवा में 26 जनवरी 2021 को शाम चार बजे एक कुख्‍यात अपराधी खोखा सिंह की हत्‍या कर दी गई है। हत्‍या अपराधियों की आपसी रंजिश के कारण हुई है। मृतक के विरूद्ध नवगछिया सहित कई जिलों में हत्‍या सहित कई अन्‍य मामलों में प्राथमिकी दर्ज है। वह कदवा ओपी क्षेत्र के ही पचगछिया का रहने वाला था। घटना की सूचना मिलने पर गोपालपुर के जदयू विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल वहां पहुंचे। विधायक ने कहा कि खोखा सिंह जदयू का समर्थक रहा है। उसने जदयू को जिताने में काफी भूमिका निभाई है।

जानकारी के अनुसार खोखा सिंह अपने चचेरे भाई रंजीत कुमार के साथ घर से बाइक पर निकला था। रंजीत बाइक चला रहा था। गोला टोला कदवा के पास 14 नंबर रोड पर एक अपाची पर सवार तीन अपराधियों ने उसे ओवरटेक किया। उसके बाइक को रोका। फ‍िर खोखा सिंह और रंजीत पर गोली चला दी। दोनों को गोली मारने के बाद तीनों अपराधी अपनी बाइक पर सवार होकर फरार हो गए। गोली लगने से दोनों गंभीर रूप से जख्‍मी हो गया। खोखा सिंह को कदवा ओपी पुलिस ने इलाज के लिए अनुमंडल अस्पताल नवगछिया पहुंचाया। लेकिन इससे पहले ही उसकी मौत हो गई थी। खोखा सिंह को पंजरा में गोली मारी गई थी। शव का पोस्‍टमार्टम किया गया।

वहीं जख्‍मी रंजीत कुमार का इलाज ढोलबज्जा अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र में हो रहा हैं। रंजीत को हाथ में गोली लगी है। उसका दो अंगुली उड़ गया है। रंजीत भी अपराधी है। पुलिस की सुरक्षा में उसका इलाज चल रहा है। नवगछिया के पुलिस अधीक्षक सुशांत कुमार सरोज ने बताया कि जमीनी विवाद और अपराधियों की पुरानी रंजीश में खोखा सिंह की हत्या हुई है। पुलिस हत्‍या के आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी कर रही हैं।

घटना की जानकारी मिलने पर गोपालपुर के जदयू विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल अनुमंडल अस्पताल पहुंचे। मृतक के शव के पास गए। मृतक के स्‍वजनों को सांत्‍वना दी। उन्होंने पुलिस से हत्‍यारों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की है। उन्‍होंने कहा कि दोषियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। विधायक ने कहा कि मृतक खोखा सिंह जदयू का कार्यकर्ता था। पार्टी को हमेशा सहयोग किया है। उन्‍होंने कहा कि इस चुनाव में उनकी जीत में खोखा सिंह की काफी भूमिका रही है। विधायक ने कहा कि वे जदयू के समर्पित कार्यकर्ता थे।

बताया जाता है कि पहले खोखा सिंह किसान थे। कुलानंद सिंह गिरोह के आतंक के कारण वह यहां से भाग गया था। इस गिरोह के सदस्‍य में खोखा सिंह का फसल लूट लेते थे। इस कारण वह मधेपुरा चला गया। वह वहां चौसा रहने लगा। इसी दौरान वह फैजान गिरोह के संपर्क में आया। उनके इस गिरोह के साथ मिलकर अपराधी की दुनिया में कदम रखा। खोखा सिंह फैजान गिरोह का मुख्य सदस्य था। खोखा सिंह पर कई आपराधिक घटना को अंजाम देने का आरोप है। उसके विरूद्ध हत्‍या सहित कई मामलों में कई जिलों में प्राथमिकी दर्ज है।

Followers

MGID

Koshi Live News