Koshi Live-कोशी लाइव BIHAR:DG सेल के 23 पुलिस अधिकारी जिलों में भेजे गए:मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गुस्से के बाद DGP एसके सिंघल ने लिया कड़ा एक्शन - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, January 10, 2021

BIHAR:DG सेल के 23 पुलिस अधिकारी जिलों में भेजे गए:मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गुस्से के बाद DGP एसके सिंघल ने लिया कड़ा एक्शन

कोशी लाइव डेस्क:


DSP, इंस्पेक्टर, SI, ASI और सिपाहियों का किया गया तबादला
दो दिन पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने की थी समीक्षा बैठक


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की समीक्षा बैठक के बाद DGP एसके सिंघल ने लिया कड़ा एक्शन लिया है। उन्होंने शुक्रवार को DG सेल में पदस्थापित 23 पुलिस पदाधिकारियों को बाहर कर दिया है। इन सभी पदाधिकारियों को वापस उनके जिले में योगदान करने का दिया निर्देश दिया गया है।

CM ने ली थी क्लास

DG सेल से बाहर होने वाले पुलिस पदाधिकारियों में DSP, इंस्पेक्टर, SI समेत ASI और सिपाही शामिल हैं। कार्य में लापरवाही पाए जाने पर DGP ने यह कार्रवाई की है। दो दिन पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पुलिस मुख्यालय पहुंच पुलिस अधिकारियों की क्लास ली थी। जिन पुलिस पदाधिकारियों का तबादला किया गया है, उनकी एक्सक्लूसिव जानकारी भास्कर के पास है।


इन पुलिस अधिकारियों को जिलों में भेजा गया

महानिदेशक सेल में तैनात DSP वीरेंद्र कुमार, इंस्पेक्टर विनय कुमार, कृष्णकांत त्रिपाठी और मनोज कुमार को पुलिस महानिदेशक रक्षित कार्यालय पटना में योगदान करने का निर्देश दिया गया है। इसी कार्यालय में भेजे गए अन्य पदाधिकारी हैं-महानिदेशक गोपनीय शाखा के आशु अवर निरीक्षक राकेश कुमार, महानिदेशक सेल के पुलिस अवर निरीक्षक श्रवण कुमार, गोपनीय शाखा के सहायक अवर निरीक्षक प्रेम प्रकाश तथा वीरेंद्र कुमार पासवान, महानिदेशक सेल के सहायक अवर निरीक्षक अजय द्विवेदी और गोपनीय शाखा के हवलदार प्रेम बहादुर, इनके अलावा DG सेल के विभिन्न विभागों में तैनात 7 सिपाहियों को भी पुलिस महानिदेशक रक्षित कार्यालय पटना भेजा गया है। वहीं सहायक अवर निरीक्षक BMP के शिवेंद्र कुमार सिंह के अलावा 5 सिपाहियों को उनके पैतृक जिले में योगदान करने का आदेश दिया गया है।

CM ने लॉ एंड आर्डर पर बैठक की थी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बुधवार की सुबह बिहार पुलिस के मुख्यालय पहुंचे थे। उन्होंने नए साल में पहली बार लॉ एंड आर्डर पर पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बैठक की थी। बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा था कि निर्दोष किसी भी हालत में जेल नहीं जाना जाना चाहिए और दोषी बचना नहीं चाहिए।

कहा था- कोई समझौता नहीं होगा

सीएम ने कहा था कि हमने अधिकारियों से कह दिया कानून-व्यवस्था पर किसी तरीके का कोई समझौता नहीं होगा। अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि जो भी घटनाएं हो रही हैं, उनकी वजह क्या है, उसके लिए कौन से लोग जिम्मेदार हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई हुई या नहीं, यह सुनिश्चित करें। अधिकारियों को खुद पूरे मामले की मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया गया है। हर स्तर पर अपराध रुकना चाहिए।

Followers

MGID

Koshi Live News