Koshi Live-कोशी लाइव BIHAR POLITICS:RJD को बड़ा झटका, लालू यादव के करीबी पूर्व सांसद समेत कई नेता BJP में शामिल - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

Translate

Wednesday, January 27, 2021

BIHAR POLITICS:RJD को बड़ा झटका, लालू यादव के करीबी पूर्व सांसद समेत कई नेता BJP में शामिल


बिहार में विधानसभा चुनाव गुजरने के दो महीने बाद भी दलबदल का सिलसिला जारी है. लालू यादव के बेहद करीबी रहे सीताराम यादव समेत आरजेडी के कई नेताओं ने बीजेपी का दामन थाम लिया.

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के पूर्व सांसद सीताराम यादव, पूर्व विधान पार्षद दिलीप कुमार यादव सहित विभिन्न दलों के कई नेताओं ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रभारी भूपेंद्र यादव की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की. इस मौके पर बिहार प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल सहित कई नेता मौजूद रहे. बीजेपी प्रदेश कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह में आरजेडी के पूर्व सांसद और लालू यादव के बेहद करीबी रहे सीताराम यादव समेत आरजेडी के कई नेताओं ने बीजेपी का दामन थाम लिया.

आरजेडी के पूर्व विधायक सुबोध पासवान, नगीना देवी, रामजी मांझी और दिलीप कुमार यादव ने भी अपने समर्थकों के साथ बीजेपी का दामन थामा है. आरजेडी के इन सभी नेताओं ने बिहार बीजेपी प्रभारी भूपेंद्र यादव के सामने सदस्यता ग्रहण की है. इसके अलावा कांग्रेस की अनीता देवी, पटना की उपमहापौर मीरा देवी भी बीजेपी में शामिल हो गई. इस मिलन समारोह में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के विधि प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह, युवा रालोसपा के महासचिव रोशन कुशवाहा सहित कई नेता भी बीजेपी में शमिल हुए.


सीताराम यादव का जाना आरजेडी के लिए बड़ा झटका


इस मिलन समारोह के दौरान भूपेंद्र यादव के अलावा राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी, बिहार प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जयसवाल और मंत्री रामसूरत राय मौजूद रहे. पूर्व सांसद सीताराम यादव का बीजेपी में जाना आरजेडी के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है. इस मौके पर भूपेंद्र यादव ने कहा कि अगर आरजेडी, कांग्रेस सहित अन्य दलों के नेता उन्हें छोड़कर बीजेपी के साथ जा रहे हैं तो इसका सीधा मतलब है कि उनका अपने नेतृत्व की कार्यशैली पर भरोसा नहीं है. उन्हें भरोसेमंद नेतृत्व चाहिए, जो बीजेपी देश को दे रही है. नीति, नीयत व नेतृत्व विहीन दलों से लोगों का मोहभंग होना स्वाभाविक है.


उन्होंने कहा, "आरजेडी ने हमेशा वोटबैंक की राजनीति की और उसी वोटबैंक से छलावा किया. कांग्रेस ने भी वोटबैंक की राजनीति की और परिवार के अलावा किसी की तरफ देखा भी नहीं. आरजेडी, कग्रेस की आंखों पर परिवारवाद का ऐसा पर्दा चढ़ा है कि उन्हें बेटा-बेटी के अलावा कुछ दिखता ही नहीं."

Followers

MGID

Koshi Live News