Koshi Live-कोशी लाइव सहरसा: 72 वे गणतंत्र दिवस पर सहरसा स्टेडियम में शान से फहराया तिरंगा ,डीएम व एसपी ने किया पैरेड का निरीक्षण - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Wednesday, January 27, 2021

सहरसा: 72 वे गणतंत्र दिवस पर सहरसा स्टेडियम में शान से फहराया तिरंगा ,डीएम व एसपी ने किया पैरेड का निरीक्षण

कोशी लाइव:सहरसा 72 वे गणतंत्र दिवस पर सहरसा स्टेडियम में शान से फहराया तिरंगा.
बिहार सहरसा 72 वे गणतंत्र दिवस पर सहरसा स्टेडियम में शान से फहराया तिरंगा ,डीएम व एसपी ने किया पैरेड का निरीक्षण





सहरसा गणतंत्र दिवस समारोह को लेकर मुख्य कार्यक्रम स्थल स्टेडियम मैदान में मंगलवार को आयोजित किया गया । कोविड-19 के संदर्भ में गणतंत्र दिवस आयोजन से संबंधित गाइड लाइन के अनुसार राष्ट्रीय पर्व को बेहतर तरीके से हर्षोउल्लास पूर्ण वातावरण में मनाया गया ।पूर्व की भांति गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह स्टेडियम में आयोजित किया गया ।स्टेडियम में मुख्य अतिथि जिलाधिकारी कौशल कुमार द्वारा पूर्वाहन नौ बजे झंडोतोलन किया गया ।



इसके अतिरिक्त आयुक्त कार्यालय में 10 बजे आयुक्त के सचिव पुरूषोत्तम पासवान, पुलिस उप महानिरीक्षक कार्यालय में 10ः15 बजे प्रवीण कुमार प्रवीण, समाहरणालय में 10ः30 बजे डीएम कौशल कुमार, पुलिस अधीक्षक कार्यालय में 10ः40 बजे पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह, पुलिस लाईन में 10ः50 पुलिस अधीक्षक, विकास भवन में 11ः10 बजे जिप अध्यक्ष अड़हुल देवी व उप विकास आयुक्त राजेश कुमार सिंह, अनुमंडल कार्यालय सदर में 11ः20 बजे सदर एसडीएम शंभूनाथ झा,एसडीपीओ कार्यालय में संतोष कुमार, सदर थाना में 11ः40 में थानाध्यक्ष राजमणि ने झंडोतोलन किया।



मुख्य समारोह स्थल सहरसा स्टेडियम में राष्ट्रीय ध्वज की सलामी के लिए बीएमपी, गृह रक्षा वाहिनी, एनसीसी, स्काउट एण्ड गाइड के एक-एक प्लाटून परेड मे सम्मिलित हुए ।कोरोना संक्रमण के कारण इस बार रोक लग जाने के कारण विभिन्न विभागों द्वारा आकर्षक झांंकियां नहीं निकाली गयी। हालांकि स्वच्छता एवं आवास योजना की बनी झाँकी को समाहरणालय गेट पर रखा गया ।जहाँ बड़ी संख्या में लोगों ने सेल्फी तथा ग्रुप फोटोग्राफी करते नजर आये ।



वही बेहतर तथा उत्कृष्ट कार्य करने के लिए प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया ।जिसमें बीएमपी के प्लाटुन कमाण्डर विमल कुमार सिंह को प्रथम पुरस्कार,महिला प्लाटुन कमाण्डर हवलदार कैलाश मंडल को द्वितीय तथा डाॅग स्कावयड पलाटुन कमाण्डर नकुल को तृतीय पुरुस्कार दिया गया ।साथ ही चार लोगों को गुड सेनेटेरियन तथा चार लोगों को कोरोना योद्धा के रूप में सम्मानित किया गया ।मुख्य कार्यक्रम को जिलाधिकारी कौशल कुमार ने संबोधित करते हुए कहा कि महान भारत के 72वें गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दी ।



उन्होंने कहा कि आज के दिन 26 जनवरी 1950 को हमारा संविधान लागू हुआ था। इस गौरवशाली अवसर पर हम सब अपने राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के सम्मान में यहां उपस्थित है। यह तिरंगा हमारी आजादी के लिए बलिदान देने वालों की याद दिलाता है। हम सरदार भगत सिंह,राजगुरु, सुखदेव, चंद्रशेखर आजाद, खुदीराम बोस, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, अशफाक उल्ला खां, सहित असंख्य शहीदों को नमन करते हैं। उन्होंने कहा कि कोशी की धरती भी अनेक बलिदानों के रक्त से सीची गई है उन्हें भी हम श्रद्धांजलि देते हैं।



यहां की हरी भरी धरती कल कल छल छल बहती कोशी एवं अन्य सहायक नदियों ने यहां की निराली संस्कृति को जन्म दिया है। अपनी संस्कृति के अनुरूप खुशहाली समरसता और भाईचारा बनी रहे। इसके लिए हर नागरिक के मौलिक अधिकारों की रक्षा तथा विकास के लिए समान अवसर मिलने चाहिए। हमारी श्रम एवं मेधा शक्ति देश के विभिन्न राज्यों में जाकर अपनी प्रतिभा से वहां के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। हमें ऐसे उपाय करने चाहिए यहां के शिक्षित प्रशिक्षित हुनरमंद श्रमिकों के कौशल का सही उपयोग यही हो ।उद्योग धंधे विकसित हो। उन्नत और आधुनिक कृषि कार्य हो।

*सहरसा से सुभाष राम की रिपोर्ट*


इसी उद्देश्य को सामने रखकर बिना भेदभाव के बेहतर जीवन उपलब्ध कराने के लिए समावेशी विकास के विविध योजनाओं को अंतिम कतार के व्यक्तियों तक पहुंचाया गया है। उन्होंने कहा कोविड-19 कोरोना महामारी से पिछले वर्ष संपूर्ण विश्व में हाहाकार मच गया। लॉकडाउन के बाद रोजी रोजगार बंद हो गए विकास कार्य ठप हो गए ।परंतु देश एवं राज्य के हर नागरिक की जीवन रक्षा सरकार का दायित्व था ।केंद्र के सहयोग से राज्य सरकार ने लॉकडाउन एवं लॉकडाउन में महामारी रोकथाम और मानव जीवन रक्षा के अनेक उपाय किए ।



उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में जिला में 63211 प्रवासियों का विभिन्न राज्यों से आगमन हुआ ।इनमें से 36997 प्रवासी मजदूरों को 327 कोरेनटाइन सेंटर में 14 दिन तक स्वास्थ्य निरीक्षण के तहत रखा गया ।उनके खाने पीने की व्यवस्था की गई एवं डिग्निटी दिया गया शेष को उनके गृह में वाहनों की सुरक्षा में पहुंचाया गया। प्रवासी मजदूरों से उनकी कार्यकुशलता के आधार पर निर्माण कार्य कराया गया। जिला उद्योग योजना के तहत मसाला उद्योग देव ट्रेडर्स बैजनाथपुर, विश्वकर्मा फर्नीचर, दुर्गा फर्नीचर एवं पेभर ब्लाक समूह में जोड़ कर रोजगार दिया गया ।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत कोरोना काल में 2•40 लाख कुंटल चावल, 1•82 लाख कुंटल गेहूं, 19 हजार कुंटल चना, एवं 10 हजार कुंटल दाल मुफ्त कार्ड धारी परिवारों के बीच दिया गया। वहीं छात्र छात्राओं को मध्यान्ह भोजन, बाढ़ राहत, जल जीवन हरियाली अभियान लघु जल संसाधन प्रमंडल सहरसा के द्वारा जल जीवन हरियाली अभियान के तहत ही मत्स्यगंधा झील का जीर्णोद्धार कार्य कराया गया। उन्होंने कहा कि जीविका दीदियों महिलाओं को स्वावलंबी रोजी रोजगार उन्मुख बनाने के लिए जीविकोपार्जन के विविध क्षेत्र विस्तार किए गए हैं। नारी सशक्तिकरण हेतु महिलाओं को त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था एवं नियोजित शिक्षकों की नियुक्ति में 50% आरक्षण दिया गया है। वहीं कम उम्र में शादियों को रोकने के लिए बाल विवाह और दहेज निषेध कानून को सख्ती से लागू किया गया है। वही01 अप्रैल 18 से उन्हे कन्या उत्थान योजना का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि महादलित भाइयों के जीवन स्तर बढ़ाने और खुशहाली लाने भोजन आवास रोजगार देने की योजना लागू करने को कटिबद्ध है।नए वर्ष में अभियान रेन बसेरा के तहत 328 महादलित अनुसूचित जाति जनजाति के बीच बासगीत पर्चा वितरण किया गया वहीं प्रधानमंत्री आवास योजना से प्रथम चरण में 28100 आवास द्वितीय चरण में 29492 आवास पूर्ण हुए हैं। 14 जनवरी मकर संक्रांति के अवसर पर अभियान गृह प्रवेश के तहत 7336 लोगों को गृह प्रवेश

कराया गया है। उन्होंने कहा कि लोक शिकायत निवारण अधिनियम के तहत एक पुस्तिका निदान प्रकाशित की गई है जिसका विमोचन किया गया। लोक सेवा का अधिकार अधिनियम के तहत कुल मिलाकर 55 प्रकार की सेवाओं का निपटारा किया जाता है। जिलाधिकारी ने शराबबंदी अधिनियम को सफल बनाने में आम जनता का पूर्ण सहयोग का आह्वान किया।उन्होने कहा कि राज्य में नशा मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है जिसके तहत नशीली पदार्थों के सेवन का रोकथाम कर स्वस्थ समाज बनाने के लिए जागरूकता चलाई जा रही है। शराब के अवैध कारोबारी एवं पीने वालों के 39 मामलों में न्यायालय द्वारा आरोपित कर जेल भेजा गया और उनसे लगभग 82 लाख जुर्माना वसूल किया गया। कठोर सजा दिलाने में जिला प्रथम स्थान पर है ।अंत में जिलाधिकारी ने सभी जिला वासियों को स्वस्थ सुरक्षित शिक्षित विकसित बनने के लक्ष्य को लेकर शुभकामनाएं दी।कार्यक्रम में मंच संचालन मुक्तेश्वर सिंह मुकेश ने किया ।मौके पर डीआईजी,एसपी, डीडीसी, सदर एसडीओ,एडीएम,लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी सहित अन्य मौजूद थे.।

Followers

MGID

Koshi Live News