Koshi Live-कोशी लाइव मधेपुरा:आक्रोश:शिक्षक के सोशल मीडिया लाइव से आक्रोशित हुए छात्र, थाने में की तोड़फोड़, 17 गिरफ्तार - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Friday, January 22, 2021

मधेपुरा:आक्रोश:शिक्षक के सोशल मीडिया लाइव से आक्रोशित हुए छात्र, थाने में की तोड़फोड़, 17 गिरफ्तार

कोशी लाइव:

  • वाहन जांच में बिना हेलमेट के थे कोचिंग संचालक, वीडियो बना सोशल मीडिया पर किया था लाइव
  • शिक्षक आरपी यादव के घर की तलाशी में 7 लाख रुपए बरामद, जांच में जुटी पुलिस

कोचिंग संचालक की एक भड़काऊ पोस्ट ने न सिर्फ विधि-व्यवस्था की समस्या उत्पन्न की, बल्कि उनके यहां पढ़ने वाले छात्रों को भी परेशानी में डाल दिया। वाहन जांच के दौरान वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल करने पर कोचिंग संचालक आरपी यादव को पुलिस गिरफ्तार कर थाने ले आई। जिसके विरोध में बुधवार की रात सैकड़ों छात्रों ने आधे घंटे तक सदर थाने में तोड़फोड की। पत्थरबाजी में पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए, आधा दर्जन से अधिक छात्रों को भी चोटें आई है। हंगामा की खबर एसपी योगेंद्र कुमार तथा सदर डीएसपी अजय नारायण यादव को दी गई। उसके बाद पुलिस ने छात्रों को दौड़ा-दौड़ा पीटा। एसपी व डीएसपी के नेतृत्व में भारी संख्या में पुलिस पदाधिकारी तथा जवानों ने शहर में गश्ती करना शुरू कर दिया। इस दौरान 17 छात्रों को पकड़ा गया। कोचिंग संचालक श्री यादव के घर पर छापेमारी कर उसे गिरफ्तार कर लिया। घर की तलाशी में सात लाख रुपए बरामद हुए। हालांकि पुलिस पदाधिकारी का कहना है कि अभी बरामद की गयी राशि की गिनती की जा रही है। पुलिस ने गुरुवार को कोचिंग संचालक समेत 16 नामजद पर प्राथमिकी दर्ज कर उसे कोर्ट में पेश किया है। पुलिस की माने तो सदर पुलिस पूर्णिया गोला के पास बाइक जांच कर रही थी। इस दौरान कोचिंग संचालक एक बाइक पर सवार रतन कुमार और ललित कुमार के साथ बिना हेलमेट का उस होकर गुजर रहे थे। पुलिस ने हेलमेट नहीं पहने होने पर जुर्माना की राशि जमा करने को कहा। किंतु कोचिंग संचालक जुर्माना जमा करने के बजाय पुलिस से उलझ गए और इस दौरान उस होकर गुजरने वाले बाइक चालकों का वीडियो बनाकर वायरल करने लगे कि बिना हेलमेट के कई बाइक चालकों को छोड़ दिया, और उन्हें पकड़ लिया।

घायल दारोगा के बयान पर केस दर्ज
सदर अस्पताल में इलाज करा रहे दारोगा प्रदीप कुमार राय ने सदर थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद सिंह के समक्ष दिए गए बयान में कहा है कि वे बुधवार की रात 9.45 बजे थाना सरिस्ता कक्ष में कांड दैनिकी लिख रहे थे। कुछ लोगांे की हल्ला सुनाई दी। बाहर निकले तो देखा कि लगभग 150 लोग अपने हाथों में लाठी-डंडा, ईंट-पत्थर व लोहे का रड से लैस होकर थाना परिसर में घुस गए और पुलिस प्रशासन के विरुद्ध आपत्तिजनक एवं अपशब्दों का प्रयोग करते हुए परिसर में खड़ी गाड़ियों, सीसीटीवी कैमरे तथा अन्य सामानों की तोड़फोड़ कर रहे हैं। थाने में मौजूद अन्य पदाधिकारी एवं पुलिसकर्मी उनलोगों को अपशब्द का प्रयोग करने, हंगामा करने, तोड़फोड़ करने से मना करते हुए शांतिपूर्वक थाना से वापस जाने को कहा तो वे लोग अपने हाथ में लिए लाठी-डंडा एवं ईट पत्थर से पुलिस पर जानलेवा हमला कर दिया। जिससे उनके गर्दन एवं दाहीने हाथ में चोटें आयी।

पुलिस ने आत्मरक्षा के लिए आक्रोशित छात्रों को खदेड़ा
हमले के दौरान थाना के चालक राजकुमार, होमगार्ड चंद्रिका चौधरी, अभय कुमार, दीपक कुमार तथा संजीव कुमार जख्मी हो गए। जब उपद्रवी शंात नहीं हुए तो आत्मरक्षा के लिए खदेड़ कर 17 उपद्रवियों को पकड़ लिया। पकड़े गए उपद्रवियों में शंकरपुर थाना के भलुवाहा निवासी नीतीश कुमार, मंजीत कुमार, अनिल यादव, सोनू कुमार, अमित कुमार, राहुल कुमार, मुन्ना कुमार, आशीष कुमार, दिलखुश कुमार, मो. फरमान अली, ललित कुमार, प्रभाष कुमार, नीतीश कुमार, सतीश कुमार, अंकित कुमार, विकास कुमार, गौतम कुमार शामिल हैं।

पत्थरबाजी में थाने में रखी वाहन क्षतिग्रस्त
वाहन जांच में सदर थाने की पुलिस कोचिंग संचालक समेत दो अन्य को लेकर थाना चली गई। आक्रोशित छात्रों ने कोचिंग संचालक को रिहा करने के लिए टीपी कॉलेज के पास सड़क जाम कर दिया। सूचना पर कोचिंग संचालक रिहा कर दिया। इसके बाद संचालक ने छात्रों के साथ थाने में तोड़फोड़ मचाया। दर्जनों गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया। पत्थरबाजी में पांच पुलिसकर्मी घायल हुए। एसपी के अादेश पर पुलिस छात्रों को खदेड़ा। लोगों की माने तो उत्पाद मचा रहे कई छात्रों ने कॉलेज चौक से थाना तक सड़क से गुजर कई वाहनों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। दुकानदारों के साथ भी मारपीट की। घायल पुलिसकर्मी का इलाज सदर अस्पताल में कराया गया। छात्र कहां इलाज करा रहे हैं, इसकी तलाश पुलिस कर रही है।

Followers

MGID

Koshi Live News