Koshi Live-कोशी लाइव MADHEPURA NEWS:पूर्व मुखिया के गोली मारने के मामले में अब तक दर्ज नहीं हुआ केस - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Wednesday, December 9, 2020

MADHEPURA NEWS:पूर्व मुखिया के गोली मारने के मामले में अब तक दर्ज नहीं हुआ केस


उदाकिशुनगंज प्रखंड क्षेत्र के बिहारीगंज थाना अंतर्गत मंजौरा पंचायत के पूर्व मुखिया सह वर्तमान जिला परिषद सदस्य रीना जायसवाल के पति अनिल जायसवाल को गोली मारने के मामलें में तीन दिन बाद भी प्राथमिकी दर्ज नहीं हो पाया है। इसकी वजह जख्मी का इलाजरत होना बताया गया। मामले में स्वजन भी लिखित शिकायत दर्ज नहीं कराया है। यद्यपि बिहारीगंज पुलिस लगातार दिनों से जख्मी और उसके स्वजनों के संपर्क में हैं। लेकिन कोई ठोस निष्कर्ष नहीं निकला पाया है। इस कारण पुलिस पेशोपेश में है। दूसरी ओर वारदात के बाद इलाके के लोग बेहद ग़ुस्से में है। गुस्साएं लोगों ने मंगलवार और बुधवार को बाजार बंद किया। वहीं सड़क जाम कर धरना दिया। गुस्साएं लोग बदमाशों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे। जहां लोगों से पुलिस अधिकारी ने कहा कि जबतक एफआइआर नहीं होता है, तबतक किसे उठा लाएं। मौका दीजिए एफआइआर होने दीजिए, हम भी बदमाशों का पता लगाने में जुटे हुए हैं। हमलावरों को बख्शा नहीं जाएंगे। अधिकारी के आश्वासन पर लोगों ने भरोसा जताया और बाजार खोलने को तैयार हुए। वहीं सड़क जाम हटाया।

पुलिस कैंप साधन से होगा मजबूत

मंजौरा पुलिस कैंप को लेकर लोगों ने सवाल उठाएं तो पुलिस अधिकारी ने कहा कि इसे और मजबूती प्रदान किया जाएगा। पुलिस अधिकारी ने लोगों से कहा कि मंजौरा कैंप में दो एएसआइ अधिकारी और पुलिस जवान तैनात होगी। एक अधिकारी पंचायत भवन में रहेंगे। दूसरा अधिकारी पुलिस कैंप में रहेगा। वही कैंप के पुलिस अधिकारी को गश्त के लिए गाड़ी उपलब्ध कराया जाएगा। साधन विहिन है कैंप यूं तो मंजौरा में वर्षों से पुलिस कैंप स्थापित है। यहां पर कैंप में जमेदार स्तर के एक पुलिस पदाधिकारी और आधा दर्जन बीएमपी जवानों की तैनाती है। पुलिस वालों को बदमाशों को पकड़ने अथवा इलाके में गश्त के लिए एक मोटरसाइकिल भी नहीं है। ऐसे में कैंप की उपयोगिता को समझा जा सकता है।

पूर्णिया और मधेपुरा की सीमा पर हैं मंजौरा बाजार उदाकिशुनगंज प्रखंड क्षेत्र के मंजौरा बाजार पूर्णिया और मधेपुरा जिले की सीमा पर अवस्थित है। पूर्णिया के भवानीपुर थाना का इलाका बाजार से सटा हुआ। उस इलाके से भी अपराधी आसानी से पहुंच जाते हैं। सीमावर्ती जिले से सटे होने के कारण बाजार का बड़ा महत्व है। यह बाजार दोनों जिले के लोगों के लिए फायदेमंद है। यहां पर दोनों जिले के लोग बाजार करने पहुंचते हैं। बाजार के सामरिक महत्व को भी समझ जा सकता है। सुरक्षा के लिहाज से भी बाजार के मायने को समझना जरूरी होगा। वारदात से लोगों में दहशत मंजौरा बाजार और इलाके में चर्चित चेहरे में सुमार रहने वाले पूर्व मुखिया वर्तमान जिला परिषद सदस्य रीना जायसवाल के पति अनिल जायसवाल को गोली मारकर गंभीर रूप से जख्मी होने के बाद इलाके में दहशत का माहौल बना हुआ है। मंजौरा के आलावा जौतेली, रामपुर, रहुआ, मोहीमडीह, बीड़ी, लक्ष्मीपुर लालचंद, चांय टोला आदि गांव के लोग दहशत में हैं।

Followers

MGID

Koshi Live News