Koshi Live-कोशी लाइव ब्रेकिंग/बिहार: JDU नेता हत्याकांड में पुलिस ने 2 संदिग्धों को उठाया, शूटरों की जल्द हो सकती है गिरफ्तारी - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Monday, December 7, 2020

ब्रेकिंग/बिहार: JDU नेता हत्याकांड में पुलिस ने 2 संदिग्धों को उठाया, शूटरों की जल्द हो सकती है गिरफ्तारी


बिहार के खगड़िया जिले के बंदेहरा पंचायत के पूर्व मुखिया और जदयू नेता राजेश कुमार रमण उर्फ पप्पू मुखिया हत्याकांड में पुलिस ने शहर के दो संदिग्धों से पूछताछ की है। तिलकामांझी और तातारपुर इलाके से दो संदिग्धों को पूछताछ के लिए उठाया गया है। पुलिस को ऐसी सूचना मिली है कि मारे गये शूटर रतन का यहां के लोकल अपराधियों से संपर्क रहा है। उसके पहले से ही बरारी इलाके में छिपकर रहने की बात पहले ही सामने आ चुकी है। सोमवार तक शूटरों की गिरफ्तारी हो सकती है।

चार जिलों में कई टीम कर रही छापेमारी
पप्पू मुखिया हत्याकांड में नामजद आरोपियों और शूटरों की गिरफ्तारी के लिए भागलपुर के अलावा खगड़िया, नवगछिया और मुंगेर में पुलिस की कई टीम छापेमारी कर रही है।

मारे गये शूटर के मोबाइल से मिले डिटेल और सीसीटीवी फुटेज मिलने के बाद पहचान में आये शूटर की गिरफ्तारी के लिए कई जगहों पर पुलिस की टीम पहुंच चुकी है। जिले के कई थानाध्यक्षों को इस काम में लगाया गया है। रविवार को शहर के कई थानाध्यक्ष छापेमारी के लिए दूसरी जगहों पर गये थे।

सीडीआर से भी पुलिस को मिली है मदद
पुलिस ने मारे गये शूटर रतन साह के मोबाइल नंबर की सीडीआर (कॉल डिटेल रिकॉर्ड) निकालने पर पुलिस को कई अहम जानकारी मिली है। सीडीआर से ही अन्य शूटर की पहचान हुई है। रतन के दाह-संस्कार में पहुंचे उसके चाचा से भी पुलिस ने लंबी पूछताछ की जिससे महत्वपूर्ण जानकारी मिली है। खगड़िया के बंदेहरा पंचायत के आरोपी और खगड़िया के ही गोगरी के रहने वाले आरोपी फरार हो गये हैं जिनकी तलाश की जा रही है। हत्याकांड के एक आरोपी टिंकू यादव का मोबाइल घटना के लगभग दो घंटे बाद तक सक्रिय था पर उसके बाद से वह स्विच ऑफ बताया जा रहा है। उसके लास्ट लोकेशन पर भी पुलिस की टीम पहुंची थी।

घटना में शामिल अपराधियों की संख्या बढ़ सकती है
पप्पू मुखिया की हत्या के समय वहां मौजूद उनके साले चश्मदीद आदित्य के बयान और सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद यही पता चला था कि इसमें छह से सात अपराधी शामिल हो सकते हैं। अभी तक पुलिस की जांच और घटना में लोकल कनेक्शन खंगालने के बाद अपराधियों की संख्या बढ़ सकती है। बाहर के शूटरों को लोकेशन की जानकारी देने, वहां तक पहुंचाने और रेकी एवं लाइन देने में अन्य अपराधी के शामिल होने की आशंका पुलिस अधिकारी जता रहे हैं।

Followers

MGID

Koshi Live News