Koshi Live-कोशी लाइव जरूरी खबरें/BSEB Bihar Board exam 2021: बिहार बोर्ड परीक्षा में किया यह काम तो नहीं होगी कॉपी जांच - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Monday, December 21, 2020

जरूरी खबरें/BSEB Bihar Board exam 2021: बिहार बोर्ड परीक्षा में किया यह काम तो नहीं होगी कॉपी जांच


मैट्रिक और इंटर वार्षिक परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को स्कूल द्वारा यह निर्देश दिया जा रहा है। इसको लेकर दूरदर्शन पर भी छात्रों को परीक्षा टिप्स के तौर पर जानकारी दी जा रही है। ज्ञात हो कि बिहार बोर्ड द्वारा मैट्रिक और इंटर के प्रश्न पत्र पर ओएमआर सीट पर व्हाइटनर, ब्लेड, इरेजर, जेलपेन आदि इस्तेमाल ना करने की जानकारी दी जाती है। छात्रों को पढ़ने का निर्देश दिया जाता है। ज्यादातर छात्र उसे पढ़ते नहीं हैं। वस्तुनिष्ठ प्रश्न के उत्तर देने में छात्र अक्सर ब्लेड, व्हाइटनर और जेल पेन का इस्तेमाल करते हैं। इससे छात्रों को नुकसान होता है। उनके ओएमआर की जांच कंप्यूटर पर करने में काफी दिक्कतें होती हैं।

BSEB Bihar Board Matric Exam 2021 : बिहार बोर्ड मैट्रिक साइंस के पेपर में प्वॉइंट वाइज दें उत्तर, समय का ख्याल रखें
बिना निर्देश पढ़े उत्तर देना करते हैं शुरू : प्रश्न पत्र पढ़ने के लिए 15 मिनट का समय दिया जाता है। लेकिन इस दौरान छात्र प्रश्न पत्र पढ़ने के बदले वस्तुनिष्ठ प्रश्न देखने लगते हैं। इससे वो निर्देश नहीं पढ़ते हैं। इसका खामियाजा छात्र को उत्तर देने में भुगतना पड़ता है। यह गलती कोई एक छात्र नहीं बल्कि कई छात्र करते हैं। इसको देखते हुए फिर एक बार बिहार बोर्ड द्वारा अभी से छात्रों को ओएमआर सीट भरने के प्रति जागरूक किया जा रहा है।

व्हाइटनर, ब्लेड का इस्तेमाल ओएमआर पर ना करें। जेल पेन से ओएमआर सीट को नहीं भरें। अगर कोई छात्र यह गलती करेगा तो उनके कॉपी जांच नहीं हो पाएगी, क्योंकि कंप्यूटर ऐसे ओएमआर को स्वीकार नहीं कर पायेगा।

परीक्षा हॉल में ऐसा करते हैं छात्र
परीक्षा के दौरान वीक्षक द्वारा ऐसे ओएमआर पकड़ में आते हैं, जिस पर व्हाइटनर, ब्लेड का इस्तेमाल किया हुआ रहता है। राजधानी के कई परीक्षा केंद्र पर उत्तर बदलने के लिए छात्रों द्वारा ब्लेड, इरेजर, व्हाइटनर आदि का इस्तेमाल किया जाता है। नाम नहीं छापने की शर्त पर एक शिक्षक ने बताया कि छात्र छुपा कर अपने पास व्हाइटनर आदि रखे रहते हैं। जब ओएमआर शीट जमा होती है तो पता चलता है। वहीं, एक शिक्षक ने बताया कि इरेजर, ब्लेड से उत्तर को बदलते हैं।

Followers

MGID

Koshi Live News