Koshi Live-कोशी लाइव सहरसा/पिता का प्यार बेटे ने छीना:चार बच्चों की मां के साथ पिता का था अफेयर दिल्ली से घर लाया तो बेटे चांद को हुई मोहब्बत - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Thursday, December 31, 2020

सहरसा/पिता का प्यार बेटे ने छीना:चार बच्चों की मां के साथ पिता का था अफेयर दिल्ली से घर लाया तो बेटे चांद को हुई मोहब्बत


सदर थाना क्षेत्र के नरियार गांव में बुधवार को दो बेमेल प्रेमी जोड़े के खिलाफ पंचायत ने एक अनोखा फैसला सुनाते हुए प्रेमी युवक को अपने पति को छोड़कर दिल्ली से आई चार बच्चों की मां के साथ न सिर्फ घर से निकाला बल्कि उसके हिस्से की संपत्ति से बेदखल करने का फैसला दिया। खास बात यह कि इस पंचायत के दौरान पुलिस भी मौजूद थी। गांव की सैकड़ों महिला-पुरुष भी मौजूद थे। पंचायत शुरू होते ही नाबालिग से इश्क करने वाली आरोपी चार बच्चों की मां गुलशन खातून को बुलवाया गया। वहीं 18 वर्षीय नाबालिग युवक मो. चांद भी पंचायत में मौजूद रहा। खास बात यह कि उक्त महिला को दिल्ली से भगाकर पहले आरोपी नाबालिग युवक के पिता ने ही लाया था लेकिन महिला ने पिता के बदले उसके बेटे को ही जाल में फंसा लिया। परिवार सहित समाज के सभी लोगों ने दोनों को अलग करने के कई कड़े आदेश दिए लेकिन किसी की धमकी का कोई असर नहीं हुआ। चांद और गुलशन साथ में रहने की जिद करते रहे। ऐसे में पंचायत में लोग गुस्सा हुए और अंत में भरी पंचायत में चांद को पैतृक संपत्ति से अलग कर महिला के साथ गांव से भगा दिया गया।

अकेली महिला को लॉकडाउन में असलम खान का मिला साथ
एक महीने घर पर रहने के बाद गुलशन खातून से असलम खान का 18 वर्षीय नाबालिग पुत्र मो. चांद से इश्क हो गया। दोनों के प्रेम में डूबे होने की भनक असलम खान को लगी। इसके बाद असलम महिला को बच्चों समेत वापस दिल्ली छोड़ आया। लेकिन महिला का लगातार नाबालिग युवक से फोन पर बातचीत होती रही।

पति से तलाक होने के बाद महिला अकेली थी

सिमरी बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के तेलिया हाट गांव निवासी मो. सलाउद्दीन की पुत्री गुलशन खातून का निकाह कई साल पूर्व हुआ था। वो पति के साथ दिल्ली में रहती थी। इस दौरान उसे चार बच्चे हुए। जिनमें तीन लड़की और एक लड़का है। फिर उसके पति से तालाक हो गया। ऐसे में वो अकेले ही दिल्ली में रह रही थी। लॉकडाउन से पूर्व नरियार गांव के मो. असलम भी दिल्ली में काम कर रहा था। उसकी मुलाकात गुलशन खातून से हुई। इसके बाद गुलशन खातून असलम खान के साथ उसके घर नरियार गांव पहुंची।

महिला के वापस आने पर मारपीट
ऐसे में मंगलवार की देर रात महिला के वापस आने की सूचना चांद के परिजनों को मिली। उसके साथ परिजन मारपीट करने लगे। जिसकी भनक समाज को भी लगी। फिर बुधवार को जब उक्त महिला अपने बच्चों के साथ गांव पहुंची तो समाज के लोग पूर्व से पंचायत की तैयारी में बैठे थे। जहां आरोपी के रूप में मो. चांद को बुलवाया गया। महिला को भी पंचायत में बुलवाकर फतवा सुनाया गया। जिसे दोनों ने स्वीकार किया।

निकाह करने पर तुले रहे : एक-दूसरे से दोनों निकाह करने पर तुले रहे। जिद पर पांचयत में बैठे लोग गुस्से में आ गए। फिर चांद को पैतृक संपत्ति से बेदखल करने का एलान हुआ। साथ ही नरियार पंचायत से भी दोनों को बेदखल कर दिया जाएगा। इतने कड़े फतवे के बावजूद दोनों प्रेमी युगल ने भरी पंचायत में इसे स्वीकार कर लिया।

अलग होने के लिए दोनों तैयार नहीं हुए
पंचायत हुई। पहले उस महिला को कहा गया कि तूम उस लड़के को छोड़ दो उसकी जिंदगी बर्बाद नहीं करो। लेकिन दोनों मानने को तैयार नहीं हुए। ऐसे में पंच ने नाबलिग को पैतृक संपत्ति से बेदखल कर गांव से भगा दिया।
-दिनेश सिंह, नरियार पंचायत के मुखिया

Followers

MGID

Koshi Live News