Koshi Live-कोशी लाइव बिहार में बेखौफ हुए अपराधी, सीआरपीएफ जवान की हत्या, किसान को मारी गोली, छेड़खानी से आहत नाबालिग ने की खुदकुशी - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Thursday, December 24, 2020

बिहार में बेखौफ हुए अपराधी, सीआरपीएफ जवान की हत्या, किसान को मारी गोली, छेड़खानी से आहत नाबालिग ने की खुदकुशी


बिहार के मुख्यमंत्री एक ओर जहां सूबे के लॉ एंड आर्डर को लेकर लगातार आला अधिकारियों संग बैठक कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर अपराधी ताबड़तोड़ वारदातों को अंजाम देते जा रहे हैं। 24 घंटों के अंदर राज्य के अलग-अलग जिलों में अपराधियों ने एक के एक बाद कई वारदातों को अंजाम दिया। मोतिहारी में किसान की गोली मारकर हत्या कर दी गई, तो जहानाबाद में अपराधियों ने सीआरपीएफ जवान को भी मौत के घाट उतार दिया। मोतिहारी में एक नाबालिग ने छेड़खानी से तंग आकर आत्महत्या कर ली।

मोतिहारी में किसान की गोली मारकर हत्या
मोतिहारी के कुण्डवाचैनपुर थाना क्षेत्र के बड़वा खुर्द गांव में मंगलवार रात आठ बजे के करीब शौच के लिए निकले किसान की बदमाशों ने गोली मार हत्या कर दी।

गोली किसान के सीने में लगी, जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। मृतक बड़वा खुर्द गांव का उमेश सिंह(45) था। गोली चलने की आवाज पर परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। कुण्डवाचैनपुर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच शव को एक खेत से बरामद कर लिया।

परिजनों ने बताया कि उमेश सिंह कल किसी काम से बाहर गये थे। शाम को लौटने के बाद वे दरवाजे पर साइकिल लगाकर शौच के लिए घर के बगल में एक खेत की तरफ गये। जहां पर पहले से घात लगाये बदमाशों ने गोली मार दी। गोली की आवाज सुनकर लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया व पुलिस को सूचना दी। जब कुछ देर तक उमेश घर पर नहीं आया तब परिजनों ने खोजना शुरू किया। मृतक उमेश सिंह की पत्नी नीला देवी ने पुलिस को बताया कि आवाज के समय जब वह दरवाजे पर थी तभी बालापुर गांव के सरदार जी, भंगहा गांव के अरविन्द सिंह व कवैया गांव के रवि सिंह को भागते देखा। नीला देवी ने मामले में इन तीनों के अलावा एक महिला पर भी प्राथमिकी दर्ज करायी है।

मृतक की पत्नी ने उसके पति का नाजायज संबंध व पैसों के लेनदेन को लेकर पूर्व के विवाद को लेकर चारों पर पति की हत्या की आशंका जतायी है। कुण्डवाचैनपुर पुलिस सूचना पर घटनास्थल पर पहुंची । उमेश का शव घर से करीब बीस गज की दूरी पर खेत में पड़ा था। सिकरहना डीएसपी शिवेन्द्र कुमार अनभवी व इंस्पेक्टर जय प्रकाश सिंह ने भी पहुंच कर मामले की जांच की। थानाध्यक्ष संजीव रंजन ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

‘मृतक की पत्नी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच करेगी। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई की जा रही है।’
- शिवेन्द्र कुमार अनभवी, सिकरहना डीएसपी

छेड़खानी से तंग आकर नाबालिग ने की खुदकुशी
मोतिहारी के चकिया थाना क्षेत्र के एक गांव में मंगलवार देर शाम छेड़खानी से तंग आकर एक नाबालिग ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली। मूल रूप से वह पताही थाना क्षेत्र की रहने वाली थी। आर्थिक तंगी के कारण उसके माता-पिता ने उसे मौसा के यहां रख दिया था। कुछ सालों से मौसा के यहां रह रही थी। शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिये मोतिहारी सदर अस्पताल भेजा गया है। पुलिस टीम घटना की पड़ताल कर रही है।

नाबालिग की मां ने बताया कि गांव का ही एक युवक उससे हमेशा छेड़खानी करता था। 22 दिसम्बर को छेड़खानी को लेकर उसने घरवालों से शिकायत भी की। उसके बाद उसकी मौसी ने उसको समझाते हुए युवक से दूर रहने की हिदायत दी। कुछ देर बाद नाबालिग ने फसल पर छिड़काव के लिए रखी कीटनाशक दवा पी ली। इससे उसकी तबियत बिगड़ गई जिसकी सूचना उसके आठ वर्षीय भाई ने परिजनों को दी। इससे पहले कि परिजन कुछ कर पाते कि उसकी मौत हो गई। मृत नाबालिग के भाई ने बताया कि आरोपित युवक उसको भी दीदी का नाम लेकर अक्सर छेड़ा करता था। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए मोतिहारी भेज दिया। मामले में परिजनों ने अभी तक थाने में कोई आवेदन नहीं दिया है। मृतका के माता पिता खेतों में मजदूरी कर किसी तरह अपना जीविकोपार्जन करते हैं।

‘शरीरिक रूप से छेड़खानी की बात सामने नहीं आयी है। लड़की के नाबालिग भाई के सामने लड़की के बारे में कुछ गलत टिप्पणी की जाती थी। टिप्पणी करने वाला भी उसी गांव का है। प्रथम दृष्टया जहर खाने से मौत की बात सामने आ रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मौत का कारण सामने आयेगा।’
- राज, ट्रेनी आईपीएस सह चकिया एसएचओ

जहानाबाद में सीआरपीएफ जवान की गोली मारकर हत्या
जहानाबाद जिले के नगर थाना क्षेत्र के कड़ौना ओपी अंतर्गत कनौदी और लोदीपुर गांव के बीच एनएच किनारे संचालित सैनिक कल्याण कैंटीन के संचालक और अर्द्धसैनिक बल के जवान जितेंद्र कुमार (37 वर्ष) की अपराधियों ने बुधवार की सुबह गोली मारकर हत्या कर दी। सफेद रंग की एक अपाचे बाइक पर सवार होकर आए तीन अपराधियों ने उनके कैंटीन में घुसकर चेहरे में गोली मारी, जिससे उनकी मौत हो गई। पुलिस के अनुसार हत्या का कारण प्रथम दृष्टया आपसी रंजिश में टारगेट कर किया जाना बताया गया है। मृतक जितेंद्र कुमार पाली(काको) थाना क्षेत्र के बारा गांव के निवासी थे, जो लोदीपुर-कनौदी के बीच बुलेट बाइक के शोरूम के समीप अर्द्धसैनिक कल्याण कैंटीन का संचालन करते थे। बताया गया है कि उन्होंने अपनी ड्यूटी से वीआरएस ले रखा था।

वहीं एसपी के अनुसार अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस हर संभव प्रयास कर रही है। घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला जा रहा है। पुलिस को यह जानकारी मिली है की ग्राहक बनकर गए अपराधी ने कूलर खरीदने के नाम पर उनकी दुकान और गोदाम में प्रवेश किया था और चेहरे में गोली मारकर उजले रंग की अपाचे बाइक पर सवार होकर जहानाबाद की ओर भाग निकले, जिसे पकड़ने की कार्रवाई की जा रही है।

Followers

MGID

Koshi Live News