Koshi Live-कोशी लाइव BIHAR/एक शिक्षक के दो नाम:स्कूल में कार्यरत शिक्षक ने नियमित कक्षा कर किया इंटर उत्तीर्ण और उठाते रहे वेतन - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Thursday, December 10, 2020

BIHAR/एक शिक्षक के दो नाम:स्कूल में कार्यरत शिक्षक ने नियमित कक्षा कर किया इंटर उत्तीर्ण और उठाते रहे वेतन


  • प्राथमिक विद्यालय कुजरा टोला विशनपुर में कार्यरत शिक्षक नरेश कुमार ने जन्मतिथि बदलकर 1987 में दोबारा किया मैट्रिक पास, 1981 में पास सर्टिफिकेट में नथुनी प्रसाद यादव है नाम
  • आदर्श इंटर कॉलेज से शिक्ष्क ने की है नियमित पढ़ाई , यह वैधानिक रूप से गलत

नौकरी में रहने के बाद भी बिना विभागीय आदेश के एक शिक्षक द्वारा नियमित कक्षा कर इंटर परीक्षा उत्तीर्ण करने का मामला प्रकाश में आया है। इस दौरान शिक्षक (तथाकथित छात्र) हर दिन स्कूल में छात्र को पढ़ाते थे और अपनी शिक्षा लेने के लिए आदर्श इंटर कॉलेज में खुद पढ़ाई कर रहे थे। ऐसा नहीं है कि विभाग को मामले की जानकारी नहीं है, लेकिन जानकारी रहने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। मामला सदर प्रखंड के प्राथमिक विद्यालय कुजरा टोला विशनपुर में कार्यरत शिक्षक नरेश कुमार का है। यहां पदस्थापन के दौरान वे आदर्श इंटर कॉलेज में छात्र के रूप में पढ़ाई भी करते रहे। उपस्थिति भी दोनों जगह बनती रही। इतना ही नहीं शिक्षक नरेश कुमार ने जन्म तिथि बदलकर दो-दो स्कूल-कॉलेज से मैट्रिक एवं इंटर भी उत्तीर्ण की है। इधर, मामले को लेकर सदर प्रखंड के इटहरी गांव निवासी आदर्श कुमार ने डीईओ से लेकर वरीय पदाधिकारी तक को आवेदन देकर जांच कर शिक्षक पर कार्रवाई करने की मांग की है। शिक्षक नरेश कुमार का पंचायत शिक्षक के रूप में 2003 में नियोजन किया गया। इस दौरान शिक्षक नरेश कुमार ने 11 महीने तक नौकरी की। इसके बाद 2004 में पुनर्नियोजन नहीं लिया और 2006 में एकाएक आनन-फानन में नियोजन लेकर स्कूल में कार्यरत हो गए। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि पंचायत नियोजन इकाई द्वारा किस आधार पर दो वर्ष बाद पुनर्नियोजन किया गया।

जन्म तिथि बदलकर दो-दो बार शिक्षक ने किया मैट्रिक
शिक्षक नरेश कुमार ने वर्ष 1981 में नथुनी प्रसाद यादव के नाम से एसडीएसके भुवनेश्वरी उच्च माध्यमिक विद्यालय हरदी चौघाड़ा से मैट्रिक उत्तीर्ण हुआ है। इसमें 28 जून 1964 जन्म तिथि दर्शाया गया है। 1987 में नरेश कुमार के नाम से हाईस्कूल गम्हरिया से मैट्रिक उत्तीर्ण हुआ है। इसमें जन्म तिथि बदलकर 31 दिसम्बर 1973 दर्शाया है और इसी नाम से शिक्षक के रूप में कार्य भी कर रहे हैं।

संपत्ति बंटवारा में है नथुनी प्रसाद यादव, नौकरी में बने नरेश
नरेश कुमार सिर्फ नौकरी में ही इस नाम का प्रयोग कर रहे हैं। संपत्ति बंटवारे में नरेश कुमार की जगह पर नथुनी प्रसाद यादव दर्शाया गया है। संपति बंटवारे में हस्ताक्षर भी नथुनी प्रसाद यादव के नाम से ही अंकित किया गया है। 2004 के विधानसभा चुनाव के समय प्रकाशित मतदाता सूची में भी इनका नाम नथुनी प्रसाद यादव ही था। 2020 की मतदाता सूची में नथुनी प्रसाद यादव के बदले नरेश कुमार अंकित कर दिया गया है।

1987 में गम्हरिया हाईस्कूल से उत्तीर्ण नरेश के नाम से जारी अंक पत्र।
1987 में गम्हरिया हाईस्कूल से उत्तीर्ण नरेश के नाम से जारी अंक पत्र।

एक साथ नौकरी और नियमित क्लास अवैध
एक साथ नौकरी एवं नियमित क्लास कर इंटर परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर सकता है और न ही इस अवधि का वेतन भुगतान पा सकता है। अगर ऐसा है तो यह पूरी तरह से अवैध है। मामले की जांच करवा कर विधिसम्मत कार्रवाई की जाएगी।
सुरेन्द्र कुमार, डीई्ओ, सुपौल।

Followers

MGID

Koshi Live News