Koshi Live-कोशी लाइव बड़ी खबर/BIHAR:बालिका गृह में फिर एक नाबालिग ने की खुदकुशी, यहीं 13 वर्षीया किशोरी बनी थी मां - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Saturday, December 5, 2020

बड़ी खबर/BIHAR:बालिका गृह में फिर एक नाबालिग ने की खुदकुशी, यहीं 13 वर्षीया किशोरी बनी थी मां


 पटना/ बेगूसराय।  बेगूसराय के रतनपुर स्थित बालिका गृह में शुक्रवार (4 दिसंबर) को 17 वर्षीय किशोरी ने खुदकुशी कर ली। इसके बाद से बालिका गृह में हड़कंप मचा है। इस बालिका गृह में पहले भी कई भयावह घटनाएं हो चुकी है। बालिका गृह समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित है और यहां दो मंजिले मकान में 50 से अधिक संवासिन रहती हैं। मृत संवासिन की पहचान शेखपुरा के बरबीघा निवासी गुडि़या कुमारी के रूप में हुई है। खुदकुशी की जानकारी मिलते ही रतनपुर ओपी अध्यक्ष सुधा कुमारी ने मौके पर पहुंच मामले की जांच की और शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा है।

पिता के व्‍यवहार से आपत्ति थी

 जानकारी के अनुसार, शुक्रवार की दोपहर खाना लेने के बाद गुडि़या ऊपरी मंजिल पर गई और देर तक नहीं लौटने पर जब बालिका गृह की अधीक्षिका ने पड़ताल की तो बंद कमरे में पंखे से लटका शव देख कर सबके होश उड़ गए। तत्काल रतनपुर ओपीध्यक्ष सुधा कुमारी को सूचना दी गई जिसके बाद जिला प्रशासन द्वारा नियुक्त दंडाधिकारी सह सीओ उत्पल हिमबाण की मौजूदगी में लोहे का ग्रिल तोड़ कर शव बरामद किया गया।

शेखपुरा के बरबीघा स्थित मोर गांव निवासी राजीव कुमार सिंह की पुत्री गुड़िया कुमारी को बीते एक सितंबर को शेखपुरा बाल कल्याण समिति ने पटना के बाद बेगूसराय भेजा था। शुक्रवार की देर रात ही डीएम अरविंद कुमार के आदेश पर चिकित्सकों का बोर्ड गठन कर पोस्टमार्टम करा स्वजनों को सौंप दिया गया। इस संबंध में बालिका गृह की अधीक्षिका अनुजा कुमारी ने बताया कि वह पारिवारिक कारणों से गुमशुम रहती थी। उसने अपने पिता के व्यवहार से आपत्ति थी और वह अपनी बहन के यहां रहना चाहती थी। बहन के यहां जाने की कागजी प्रक्रिया चल ही रही है। बीते 27 नवंबर को उसने अपनी बहन से लंबी बातचीत की थी जिसके बाद तनावग्रस्त थी। पूछने पर उसने टालते हुए बाद में बताने की बात कही थी। इस दौरान उसने अपनी साथ रहने वाली अन्य लड़कियों को भी कुछ नहीं बताया था। शुक्रवार की दोपहर अचानक उसने ऊपरी मंजिल स्थित एक कमरे का ग्रिल अंदर से बंद कर दुपट्टे को फंदा कर लगा कर पंखे में लटक गई। इस संबंध में मृतका के पिता ने बालिका गृह प्रबंधन की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाते हुए प्रताड़ना देने और बहन को सौंपे जाने की कागजी प्रक्रिया में शिथिलता बरतने को आरोप लगाया है। कहा, बालिका गृह प्रशासन द्वारा पटना में रहने वाले दामाद अनुपम कुमार को जानकारी दी गई, जिसके बाद वे बेगूसराय सदर अस्पताल पहुंचे हैं।

पांच सितंबर को एक साथ भागी भी पांच संवासिन, चार बरामद :

बेगूसराय के रतनपुर निराला नगर स्थित बालिका गृह इसके पूर्व भी कई बार चर्चा में रह चुका है। बीते पांच सितंबर की सुबह महिला सुरक्षा प्रहरी को बंधक बना कर एक साथ पांच संवासिन फरार हो गई थी। रतनपुर ओपीध्यक्ष सुधा कुमारी ने रेलवे स्टेशन से चार संवासिन को बरामद कर लिया जबकि एक संवासिन अपने रिश्तेदार के यहां भागने में सफल रही थी।

13 वर्षीय किशोरी ने दिया था पुत्र को जन्म :

बीते 23 नवंबर को रतनपुर स्थित बालिका गृह की 13 वर्षीय संवासिन ने पुत्र रत्न को जन्म दिया था। संवासिन 10 जून 2019 को समस्तीपुर बाल कल्याण समिति की अनुसंशा पर बेगूसराय भेजी गई थी। मानसिक व शारीरिक रूप से निशक्त उक्त संवासिन चार माह की गर्भवती थी। हालांकि किशोरी के उम्र के संबंध में चिकित्सीय पुष्टि तो नहीं हुई थी लेकिन समस्तीपुर बाल कल्याण समिति ने उसकी उम्र 13 वर्ष ही बताया था।

Followers

MGID

Koshi Live News