Koshi Live-कोशी लाइव Bihar School Examination Board: इस बार मैट्रिक व इंटरमीडिएट की परीक्षा की मॉनीटरिंग के लिए नई व्यवस्था - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Saturday, December 12, 2020

Bihar School Examination Board: इस बार मैट्रिक व इंटरमीडिएट की परीक्षा की मॉनीटरिंग के लिए नई व्यवस्था


मुजफ्फरपुर। Bihar School Examination Board: मैट्रिक और इंटर की परीक्षा की मॉनीटरिंग के लिए अब तकनीक की मदद ली जाएगी। बोर्ड की ओर से इसबार एग्जामिनेशन एप विकसित किया गया है। तकनीकी रूप से सक्षम शिक्षकों को इससे मॉनीटरिंग करने के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा।

बोर्ड की ओर से एप विकसित किया गया

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से तकनीकी शिक्षकों की सूची मांगी गई है। डीईओ अब्दुस सलाम अंसारी ने बताया कि मैट्रिक और इंटर की परीक्षा कदाचार मुक्त संचालित हो इसके लिए बोर्ड की ओर से एप विकसित किया गया है। दोनों परीक्षाओं में हर केंद्र पर एक कंप्यूटर के विशेषज्ञ शिक्षक नियुक्त होंगे।

इन शिक्षकों की नियुक्ति डीईओ ही करेंगे। इनके पास स्मार्ट फोन रहना आवश्यक होगा। डीईओ ने बताया कि 21 और 22 दिसंबर को तिरहुत प्रमंडल के विभिन्न जिलों के इन शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिसके बाद उन्हें परीक्षा के समय किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना होगा।

पुराने समय से ली गई डीएलएड की परीक्षा, नाराजगी

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से शहर के छह केंद्रों पर संचालित की जा रही डीएलएड पार्ट टू की परीक्षा में नए निर्देश के तहत समय का अनुपालन नहीं करने पर परीक्षार्थियों ने नाराजगी जताई। बोर्ड की ओर से पहले से पहली पाली सुबह 10 से एक बजे और दूसरी पाली दोपहर दो से शाम पांच बजे तक निर्धारित की गई थी। बाद में इसे संशोधित कर पहली पाली 10 से 12 बजे और दूसरी पाली दोपहर दो से चार बजे से कर दी गई थी।

केंद्राधीक्षकों ने बताया कि नया निर्देश उन्हें प्राप्त ही नहीं हुआ था। इसी कारण यह स्थिति उत्पन्न हो गई। बता दें कि डीएलएड दूसरे वर्ष की परीक्षा में सभी परीक्षाॢथयों ने प्रश्न का उत्तर डेढ़ घंटे में ही दे दिया था। ऐसे में सभी केंद्रों पर तीन घंटे तक रुकने का आदेश दिया गया था। इसका परीक्षाॢथयों ने विरोध किया फिर भी उन्हें ढाई घंटे तक केंद्र के अंदर रोका गया। पहले शिफ्ट में स्वयं की समझ पेपर की परीक्षा 35 अंकों की ली गई। दूसरे शिफ्ट में समय से पहले उत्तर लिख लेने पर भी दो घंटे बाद ही परीक्षाॢथयों को जाने की अनुमति दी गई।

Followers

MGID

Koshi Live News