Koshi Live-कोशी लाइव Bihar News : साथ जीने-मरने की कसमें खाई थी, एक ही चिता पर दुनिया को अलविदा कह गए रेणु-राजीव - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Sunday, December 6, 2020

Bihar News : साथ जीने-मरने की कसमें खाई थी, एक ही चिता पर दुनिया को अलविदा कह गए रेणु-राजीव


मधुबनी [ राजीव रंजन झा ] । शिक्षिका रेणु कुमारी और व्यवसायी राजीव साह ने एक साथ जीने-मरने की कसमें खाई थी। दोनों अपनी जिंदगी में खुश थे। चार बच्चों के साथ उनकी जिंदगी बेहतर कट रही थी। पांचवें बच्चे का आगमन होने वाला था। लेकिन, किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। गुरुवार की वह भयानक रात, चैन की नींद सो रहे पति-पत्नी को गोलियों से भून दिया गया। दोनों की मौत हो गई। दोनों की अर्थी एक साथ उठी। एक ही चिता पर दोनों को लिटाया गया और दोनों ने एक साथ दुनिया को अलविदा कह दिया। एकमात्र पुत्र चार वर्षीय अमन के अबोध होने के कारण नौ साल की बेटी वर्षा ने माता-पिता को मुखाग्नि दी। पिपराहा गांव स्थित मुनहारा नदी किनारे श्मशान घाट में दोनेां के दाह संस्कार में लोगों की भीड़ जुटी थी। इस दौरान पिपराही गांव की हर आंख नम थी।

शव पहुंचते ही चित्कार से गूंज उठा पिपराही गांव

रेणु और राजीव की हत्या उनके गोदाम टोल स्थित आवास पर की गई। वहां से पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मधुबनी भेज दिया था। राजीव के परिवार के अन्य सदस्यों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी थी। ऐसे में उनदोनों के अंतिम संस्कार का जिम्मा रेणु के मायके वालों ने उठाया। पोस्टमार्टम के बाद रेणु के स्वजनों को शव सुपुर्द कर दिया गया। रेणु का भाई उसके चारों बच्चों को भी पिपराही ले आया था। शव के इंतजार में पिपराही गांव में लोगों की टकटकी लगी रही। लेकिन, जैसे ही शव पहूंचा, स्वजनों के क्रंदन व चित्कार से पिपराही गांव गूंज उठा। वहां मौजूद कोई शख्स अपनी आंखों से बहते आंसु रोक ना पाया।

एक पल में उजड़ा राजीव का पूरा परिवार

व्यवसायी राजीव साह का पूरा परिवार एक ही पल में उजड़ गया। पत्नी समेत उसकी हत्या होते ही हत्यारे माता-पिता छेदी साह व वीणा देवी के साथ उसका बड़ा भाई संजय साह पुलिस की गिरफ्त में आ गए और उन्हें कानूनी प्रक्रिया पूरी कर जेल भेज दिया गया। भाभी रूणा देवी हत्या के बाद से फरार है। परिवार में बस राजीव व रेणु के चार मासूम बच्चे बच गए जिनके पास अब केवल अपने ननिहाल का सहारा रह गया।

अभी भी फरार है मृतक की भाभी

मृतक राजीव साह की भाभी रूणा देवी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। वह घटना के बाद से ही फरार चल रही है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है, लेकिन उसका अब तक कोई अता-पता नहीं चला। इधर, शनिवार को भी थानाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह ने गोदाम टोल जाकर घटनास्थल का मुआयना किया।

गोदाम टोल व पिपराही में मातम का माहौल :

इस घटना ने पूरे इलाके को झकझोर कर रख दिया है। मृतक के गांव गोदाम टोल व ससुराल पिपराही में मातम का माहौल है। रिश्तों का खून करने वाली इस घटना को लेकर लोग अचंभित हैं। पिपराहा गांव के चंदन कुमार साह, मनोज साह, दिलीप यादव, रामबाबू साह, विवेक कुमार साह, सूरज कुमार साह, विनय यादव, जगलाल यादव, हरेराम यादव, संतोष कुमार साह, प्रमोद कुमार साह, किशोर कुमार साह, अशोक कुमार साह आदि ने बताया कि इस तरह की घटना ना कभी देखा ना कभी सुना। कहा कि इस घटना ने खून के रिश्तों का भी खून कर दिया है। कोई सोच भी नहीं सकता कि माता-पिता अपनी ही संतान की जान लेने की साजिश कर सकते हैं। ग्रामीणों की मांग है कि मामले की स्पीडी ट्रायल कर हत्यारों को जल्द से जल्द से सजा सुनाई जाए।

Followers

MGID

Koshi Live News