Koshi Live-कोशी लाइव BIHAR CRIME:मोस्टवांटेड अपराधी चुल्लू बाबा अपने शार्गिद के साथ गिरफ्तार, पास से दो अवैध हथियार व गोली बरामद। - Koshi Live-कोशी लाइव

BREAKING

ADS

Translate

Tuesday, December 8, 2020

BIHAR CRIME:मोस्टवांटेड अपराधी चुल्लू बाबा अपने शार्गिद के साथ गिरफ्तार, पास से दो अवैध हथियार व गोली बरामद।


आरा। सहार थाना क्षेत्र के पेहराप गांव निवासी प्रोफेसर संजय राय के पुत्र नीतीश उर्फ छोटू राय की हत्या के मामले में पुलिस ने मुख्य वांछित अपराधी चुल्लू बाबा उर्फ देव कुमार पांडेय के अलावा उसके एक शार्गिद को भी गिरफ्तार किया है। दोनों के पास से 315 बोर का दो देसी पिस्तौल व दो गोली बरामद किया गया है। तीन मोबाइल फोन भी जब्त किया गया है। इसकी जानकारी सोमवार को भोजपुर एसपी हर किशोर राय ने दी। उन्होंने बताया कि हथियार बरामदगी को लेकर दोनों के विरुद्ध सहार थाना में अलग से आ‌र्म्स एक्ट का केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने आ‌र्म्स एक्ट में दोनों को फिलहाल जेल भेजा है। इसमें चुल्लू पांडेय को पेरहाप हत्याकांड में रिमांड किया जाएगा।

पकड़े गए उसके उसके एक शार्गिद की मर्डर केस में संलिप्तता की बात अभी तक सामने नहीं है। पूछताछ में चुल्लू ने अपनी संलिप्तता कबूल कर ली है। पूर्व से उसका आपराधिक इतिहास रहा है। पटना जिले के बिहटा थाना के बिदौल गांव निवासी देव कुमार पांडेय उर्फ चुल्लू बाबा तथा गड़हनी थाना के पहरपुर निवासी नरेन्द्र मिश्रा को सहार के एकवारी मोड़ के समीप से पकड़ा गया है। तलाशी के दौरान दोनों के पास से दो देसी पिस्तौल व दो कारतूस बरामद किया गया है। पकड़े गए नरेन्द्र मिश्रा का अभी तक आपराधिक इतिहास नहीं मिला है।

-------------------

बिहटा के भी डबल मर्डर केस में दागी रहा है बाबा एसपी के अनुसार पटना जिले के बिहटा थाना के बिदौल गांव निवासी देव कुमार पांडेय उर्फ चुल्लू बाबा के विरुद्ध पटना जिले के बिहटा एवं पालीगंज में आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है। वह पहले से हिस्ट्रीशीटर रहा है। अभी तक पकड़े गए बाबा के विरुद्ध बिहटा थाना में दो केस मिला है। साल 2012 तथा साल 2016 में घटित हत्या के दोनों मामलों में दागी रहा है। पटना से भागकर सहार के पेरहाप, एकवारी व अजीमाबाद क्षेत्र में रहता था। बालू कारोबार से भी जुड़ा है। --------

तीन साथियों के साथ मिलकर की थी नीतीश की हत्या, दो के नाम बताए पकड़े गए कुख्यात चुल्लू बाबा ने अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर नीतीश की हत्या की थी। पूछताछ में अपने दो साथियों के नाम बताया है, जो भोजपुर जिले के ही बताए जाते हैं। शातिर बाबा पेरहाप में महिला के घर भी आया-जाया करता था। अवैध संबंधों को लेकर चर्चा थी। नीतीश को यह नागवार लग रहा था। पेरहाप गांव निवासी नीतीश उर्फ छोटू बालू ठेकेदारी के कारोबार से भी जुड़ा था। वह घर का इकलौता चिराग था। 30 अक्टूबर की शाम घटना के समय वह गांव के ही आरोपित इंदु देवी नामक महिला के घर पर गया हुआ था। महिला ने धोखे से पकौड़ा खाने के बहाने बुलाया था। जिसके बाद वह बाइक पर सवार होकर गया था। घर से निकलने की तैयारी कर रहा था, तभी चार की संख्या में घात लगाए हथियार बंद अपराधियों ने अचानक अंधाधुंध फायरिग कर गोलियों से हमला कर दिया था। मौके पर मौत हो गई थी।

Followers

MGID

Koshi Live News