Koshi Live-कोशी लाइव 21 दिसंबर को सौर मंडल में बड़ी घटना, 397 साल बाद शनि व बृहस्पति दिखेंगे बहुत करीब - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Friday, December 18, 2020

21 दिसंबर को सौर मंडल में बड़ी घटना, 397 साल बाद शनि व बृहस्पति दिखेंगे बहुत करीब


पटना। सौर मंडल (Solar System) में 21 दिसंबर को बड़ी और महत्वपूर्ण खगोलीय घटना (Celestial event) होने जा रही है। दरअसल, सौर मंडल के दो ग्रह शनि (Saturn) व बृहस्पति (Jupiter) एक-दूसरे के इतने करीब आ रहे कि इनके बीच की दूरी सिर्फ 0.1 डिग्री ही रह जाएगी। दोनों ग्रह 1623 में इतने करीब आए थे। इस घटना को लोग अपने घरों से भी शाम साढ़े पांच बजे से आधे से एक घंटे तक नंगी आंखों से भी देख सकेंगे। ऐसी घटना 60 साल बाद 15 मार्च 2080 को फिर होगी।

श्रीकृष्ण विज्ञान केंद्र में मिलेगी ग्रहों के गोचर की पूरी जानकारी :

श्रीकृष्ण विज्ञान केंद्र के निर्देशक अमिताभ ने बताया, इसे शीतकालीन संक्रांति वर्ष के रूप में भी जाना जाता है।

यह वह समय होता है, जब पृथ्वी की दक्षिणी गोलाद्र्ध को सूर्य का प्रकाश ज्यादा प्राप्त होता है। जबकि उत्तरी गोलार्ध को कम प्राप्त होता है। इस घटना का मुख्य कारण पृथ्वी के अपने अक्ष पर 23.45 डिग्री का झुकाव होता है। शीतकालीन संक्रांति में सूर्य का प्रकाश कम पडऩे के कारण दिन छोटा और रात लंबी होती है। यह घटना हर साल 21 या 22 दिसंबर और दक्षिणी गोलाद्र्ध में यह 20 या 21 जून को दिखती है।

ग्रेट कंजक्शन या महामिलाप :

21 दिसंबर को अंतरिक्ष में होने वाली खगोलीय घटना ग्रेट कंजक्शन घटनाओं की तरह होने वाली है। इसमें सबसे बड़े ग्रह बृहस्पति व शनि करीब आ जाएंगे। इन दोनों ग्रहों के बीच महज कोणीय दूरी 0.1 डिग्री ही होगी। निर्देशक ने बताया, ये ग्रह अपनी परिक्रमा में कई साल लगा देते हैं। इस कारण ऐसी घटनाएं अर्से बाद देखने को मिलती हैं। बृहस्पति ग्रह सूर्य की परिक्रमा करने में 11.86 साल लगाता है, जबकि शनि 295 साल में सूर्य की परिक्रमा पूरी करता है। ये दोनों ग्रह 196 साल बाद इतने करीब आते हैं। इस साल 21 दिसंबर के बाद ये 15 मार्च 2080 में फिर करीब दिखेंगे। इससे पहले शनि व बृहस्पति ग्रह 1623 में करीब आए थे।

आने वाले दिनों में इन ग्रहों के बीच दिखेगी इतनी दूरी :

अगले साल 13 जुलाई 2021 को शुक्र व मंगल ग्रह में 0.5 डिग्री, पांच अप्रैल 2022 को मंगल व शनि के बीच 0.3 डिग्री, 30 अप्रैल 2022 को शुक्र व बृहस्पति में 0.2 डिग्री और 29 मई 2022 को मंगल व बृहस्पति ग्रह के बीच 0.6 डिग्री ही होगी। विज्ञान केंद्र के निर्देशक अमिताभ ने बताया, खगोलीय घटनाओं के बारे में लोगों को ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों माध्यमों से विस्तृत जानकारी दी जाएगी। लोगों को 21 दिसंबर को ग्रहों के गोचर से जुड़ी जानकारी दी जाएगी।

Followers

MGID

Koshi Live News