Koshi Live-कोशी लाइव बिहार: 20 से अधिक मर्डर करने वाला साइको किलर गिरफ्तार, पिता के हत्यारे को मारी थी ताबड़तोड़ 32 गोलियां - Koshi Live-कोशी लाइव बिहार का नं1 ऑनलाइन न्यूज पोर्टल कोशी लाइव! विज्ञापन के लिए संपर्क करें MOB:7739152002

BREAKING

ADS

Translate

Saturday, December 19, 2020

बिहार: 20 से अधिक मर्डर करने वाला साइको किलर गिरफ्तार, पिता के हत्यारे को मारी थी ताबड़तोड़ 32 गोलियां


अपराध की दुनिया में साइको किलर के नाम से कुख्यात पटना के अविनाश श्रीवास्तव को एक बार फिर वैशाली की स्पेशल गठित टीम, डिस्ट्रिक्ट इंटेलीजेंस यूनिट (डीआईयू) और महनार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके साथ पुलिस ने पटना के फुलवारीशरीफ के रहने वाले स्मैक तस्कर अल्तमस को भी पकड़ा गया है।
20 से अधिक लोगों की हत्या का आरोपित रह चुका साइको किलर राजद के पूर्व एमएलसी ललन श्रीवास्तव का बेटा है। इनकी गिरफ्तारी महनार इलाके से की गई है। दोनों के कब्जे से पुलिस ने लगभग 20 किलो गांजा बरामद किया है। पूछताछ के बाद पुलिस ने दोनों को शुक्रवार को ही हाजीपुर मंडलकारा भेज दिया।

एसपी मनीष कुमार ने बताया कि महनार थाना क्षेत्र से दो अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है।

इसमें अविनाश श्रीवास्तव और पटना के फुलवारीशरीफ का रहने वाला अल्तमस शामिल हैं। दोनों का लंबा आपराधिक इतिहास रहा है। बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि कोई बड़ा अपराधी भारी मात्रा में गांजा के साथ आने वाला है। सूचना के बाद स्पेशल टीम का गठन किया गया। टीम दोनों आरोपितों को धर दबोचने में कामयाब रही। पकड़े जाने के बाद अविनाश की पहचान होने पर पुलिस टीम चौंक गई, क्योंकि अपराध जगत में यह साइको किलर, सीरियल किलर आदि नामों से चर्चित है।

कंकड़बाग का है अविनाश, जमानत पर छूटते ही फिर करने लगा अपराध
पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया कुख्यात अविनाश पटना के कंकड़बाग थाना क्षेत्र स्थित एमआईजी कॉलोनी के रोड नंबर-30 का रहनेवाला है। वह बिहार में करीब 20 से अधिक हत्याओं का आरोपित है। बीते 26 सितंबर 2020 को पटना पुलिस ने उसे रक्सौल से गिरफ्तार किया था। कुछ दिन पूर्व जमानत पर जेल से छूटते ही वह फिर अपराध करने लगा।

एमसीएस पास अविनाश पिता की हत्या का बदला लेने को बना अपराधी
पुलिस के मुताबिक अविनाश दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया से एमसीए है। इन्फोसिस कंपनी में वह 40 हजार रुपये प्रतिमाह के वेतन पर नौकरी भी कर चुका है। वर्ष 2002 में हाजीपुर में उसके पिता एवं तत्कालीन एमएलएसी ललन श्रीवास्तव की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। पिता की हत्या का बदला लेने के लिए ही उसने हथियार उठा लिया। वर्ष 2003 में अविनाश ने अपने पिता के हत्यारोपित मोइन खां उर्फ पप्पू खां को हाजीपुर में गोली मारकर हत्या कर दी। उसे 32 गोली मारी थी। हत्या के बाद वह लाश के पास करीब तीन घंटे तक बैठा रहा। इसके बाद उसने अपने पिता के हत्यारों को चुनचुन कर मारा।

मां के साथ सिलीगुड़ी में रहा
ताबड़तोड़ कई हत्या करने के बाद जब उसकी तलाश तेज हुई, तो मां उसे लेकर सिलीगुड़ी चली गयी। इस बीच वह बिहार आकर हत्या, लूट और चोरी की घटना को अंजाम देता रहा। वर्ष 2016 में हाजीपुर के महुआ थाना क्षेत्र के हरपुर बेलवा स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में चोरी करते उसे पकड़ा गया। उस समय जब पुलिस ने उसके बारे में पूछा तो उसने कहा कि गूगल में साइको किलर अमित सर्च करिये। जब पुलिस ने सर्च किया, तो पुलिस के होश उड़ गये, जबकि अविनाश खुश हो गया। उसने कहा कि फिल्म गैंग ऑफ वासेपुर में उसके ब्रस्ट फायर (दनादन गोली दागना) वाले क्लाइमेक्स को चोरी कर लिया गया है। इसके बाद पुलिस ने उसे जेल भेज दिया था।

जिउतिया के दिन छूटकर भाग रहा था नेपाल
इसी साल जिउतिया के दिन वह हाजीपुर जेल से छूटा था। जेल से निकलने के बाद वह नेपाल भागने के फिराक में था। इसकी जानकारी मिलने पर पटना पुलिस और रंगदारी सेल ने रक्सौल के एक होटल में छापेमारी करके गिरफ्तार कर लिया था।

पटना की डिप्टी मेयर के पति दीना गोप को एके-47 से भूना था
पुलिस के मुताबिक अविनाश श्रीवास्तव ने पटना के डिप्टी मेयर अमरावती देवी के पति दीना गोप को एके-47 से भून दिया था। इसके साथ ही उसने कैप्टन सुनील के भाई, विजय गोप, अजय गोप, लालू गोप, अजीत गोप, मोइन उर्फ पप्पू, अधिवक्ता सरदार जी, इम्तियाज, चनारिक गोप, स्वर्ण व्यवसायी मनोज सोनार, राहुल यादव समेत 20 लोगों की हत्या की।

स्मैक तस्कर है पकड़ा गया अल्तमस
फुलवारीशरीफ थाना प्रभारी रफीकुर्रहमान ने बताया कि वैशाली में गांजा के साथ पकड़ा गया आरोपित अल्तमस स्मैक तस्कर है। वह फुलवारीशरीफ के अल्मीजान नगर का रहनेवाला है। कुछ वर्ष पूर्व फुलवारीशरीफ थाने की पुलिस ने उसे स्मैक के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा था। जेल से छूटने के बाद वह साइको किलर अविनाश के संपर्क में आ गया।

Followers

MGID

Koshi Live News