बड़ी खबर/पूर्णियां:रेड लाइट इलाके से देह व्यापार में संलिप्त 11 गिरफ्तार। purnea news - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, September 20, 2020

बड़ी खबर/पूर्णियां:रेड लाइट इलाके से देह व्यापार में संलिप्त 11 गिरफ्तार। purnea news




पूर्णिया। पटना से पहुंची सीआइडी कमजोर वर्ग, एनजीओ और चाइल्ड लाइन टीम के सदस्यों ने संयुक्त अभियान के तहत शनिवार को पूर्णिया के रेडलाइट इलाका में छापेमारी की। टीम ने कटिहार मोड़ और जीरो माइल स्थित रेड लाइट से देह व्यापार में संलिप्त 11 महिला-पुरुष को गिरफ्तार किया। इसमें नौ महिला और दो पुरुष हैं। नौ महिला में तीन नाबालिग लड़की है। टीम गिरफ्तार महिला एवं लड़कियों से पूछताछ कर रही है। पकड़े गए दोनों पुरुष से भी रेड लाइट इलाके में आने के बारे में पूछताछ की गई।

टीम का नेतृत्व सीआइडी कमजोर वर्ग के डीएसपी मुरली मनोहर मांझी और इंस्पेक्टर शशि कुमार कर रहे थे। छापेमारी में शामिल अधिकारियों ने बताया कि राज्य स्तर पर यह अभियान चलाया गया है। =======


बड़ी सफलता नहीं लगी हाथ

छापेमारी में कटिहार मोड़ से टीम को कोई बड़ी सफलता हाथ नहीं लग पाई। विशेष टीम द्वारा छापेमारी की सूचना स्थानीय स्तर पर लीक हो जाने के कारण अधिकतर घरों में ताला लगा हुआ मिला। टीम के पहुंचने से पहले ही रेड लाइट इलाके में सक्रिय लोग घर छोड़कर चले गए थे। टीम ने कुछ घरों का ताला तोड़कर भी जांच किया लेकिन घर खाली मिले। कटिहार मोड़ इलाके से सिर्फ एक लड़का और एक लड़की को बरामद किया गया। जीरो माइल से आठ लड़की और एक पुरुष को पकड़ा गया। ========

पुख्ता सबूत मिलने पर ही कार्रवाई पुलिस टीम के साथ आए सीसीएसटी नाम की एनजीओ और चाइल्ड लाइन के सदस्य काउंसिलिग कर रेड लाइट इलाके पहुंचने और देह व्यापार में शामिल होने की जानकारी ले रही हैं। कुछ पुख्ता सबूत के बाद ही पकड़े गए लोगों पर किसी प्रकार की कार्रवाई हो सकेगी। अधिकतर बार देखा गया है कि रेड लाइट में छापेमारी के बाद पकड़े गए लोगों पर कोई ठोस आरोप साबित नहीं हो पाता है इसलिए पकड़े गए लोग थाने से छूट जाते हैं या कुछ आरोप साबित होने पर भी कुछ दिनों में जेल से निकल जाते हैं।

=======

देह व्यापार में शामिल सरगना का सूचना तंत्र है मजबूत

चर्चा यह कि सदर थाना क्षेत्र में देह व्यापार संचालित करने वाले सरगना का सूचना तंत्र इतना मजबूत है कि उसे दोपहर में ही जानकारी हो गई कि शाम में छापेमारी होगी। नतीजा दोपहर 2 बजे तक सभी लोग घर बंद कर वहां से निकल गए। आसपास के लोगों ने बताया कि दोपहर में अचानक कटिहार मोड के रेड लाइट में हलचल शुरू हो गई। गली-मोहल्ले के पीछे के रास्ते सभी फरार हो गए।

=======

शुक्रवार रात ही आई थी टीम

पटना की टीम शुक्रवार की रात ही पूर्णिया पहुंच चुकी थी। यहां स्थानीय स्तर पर सूचना संकलन कर रेड लाइट इलाका को चिन्हित कर सदर अनुमंडल क्षेत्र के विभिन्न थाना के पुलिस पदाधिकारियों और पुलिस केंद्र से महिला और पुरुष पुलिस बल के साथ छापेमारी करने पहुंची थी।

Total Pageviews