COVID-19 : खगड़िया के क्वारंटाइन सेंटर में प्रवासियों ने किया चौंकाने वाला काम, जाते-जाते चुरा ले गए ये सामान - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, June 15, 2020

COVID-19 : खगड़िया के क्वारंटाइन सेंटर में प्रवासियों ने किया चौंकाने वाला काम, जाते-जाते चुरा ले गए ये सामान


खगड़िया. खगड़िया (Khagaria) के जेएनकेटी स्कूल में बने क्वारंटाइन कैंप (Quarantine Camp) में रह रहे प्रवासी मजदूरों (Migrant laborers) ने कैंप खाली करते वक्त वहां लगे बल्ब, सरकारी दरी और चादर लेकर चले गए. यह शिकायत जेएनकेटी स्कूल के प्रिंसिपल मोहम्मद महताब ने की. उन्होंने बताया कि स्कूल में अभी ठीक से नहीं देखा गया है कि और क्या-क्या समान लेकर चले गए हैं. स्कूल के गार्ड कैलू शाव का कहना है कि प्रवासी लोग रहते थे, इस दौरान जाते-जाते कई डेक्स-बेंच तोड़ डाले और जब जाने लगे तब स्कूल में लगे आम के पेड़ से कई किलो आम तोड़कर वे लोग साथ लेते चले गए.

800 से अधिक प्रवासी रहे थे स्कूल के क्वारंटाइन कैंप में

खगड़िया जिला प्रशासन को जैसे ही प्रवासियों के आने की सूचना मिली थी, उसके बाद से यहां के जेएनकेटी इंटर विधालय को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया था. यहां लगभग 800 प्रवासियों को रखा गया था. इस केंद्र से एक कोरोना पॉजिटिव मरीज भी मिला था. कैंप खाली करने के बाद पुरा स्कूल की साफ-सफाई और सैनेटाइज करने की व्यवस्था की जा रही है.

प्रवासियों की हरकत से अचंभित हैं लोग

जेएनकेटी स्कूल के ही एक अन्य शिक्षक का कहना है कि सरकार ने खाना खिलाने से लेकर रहने और सोने तक की पूरी व्यवस्था मुफ्त की थी. उसके बाद भी प्रवासियों के द्वारा क्वारंटाइन कैंप से समान ले जाना और स्कूल के डेस्क-बेंच को क्षतिग्रस्त करना काफी हतप्रभ करता है. उन्हें स्कूल की संपति का नुकसान नहीं करना चाहिए था.

कैंप बंद, होम क्वारंटाइन की व्यवस्था की गई

बताते चलें कि सरकार के द्वारा 15 जून से बिहार के सभी क्वारंटाइन सेंटर को बंद करने का फैसला लिया गया, जिसके बाद से प्रवासियों के लिए होम क्वारंटाइन की व्यवस्था की गई और उन्हें कैंप से विदा किया गया. लेकिन प्रवासियों के द्वारा इस तरह की हरकत परेशान करने वाली है.

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews