यादों में सुशांतः सहरसा की सड़कों पर घूमे थे, आज भी लोगों को है याद, देखिए अनदेखी तस्वीरें - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, June 14, 2020

यादों में सुशांतः सहरसा की सड़कों पर घूमे थे, आज भी लोगों को है याद, देखिए अनदेखी तस्वीरें

यादों में सुशांतः सहरसा की सड़कों पर घूमे थे।

सहरसा।डी बी रोड की तस्वीर

सहरसा में खेला था गली क्रिकेट

खगडि़या में मुंडन के सिलसिले में गए सुशांत तब सहरसा में अपने चचेरे भाई व सुपौल जिले के छातापुर विधायक नीरज कुमार बबलू के घर रुके थे। उनकी भाभी नूतन सिंह लोक जनशक्ति पार्टी की विधान पार्षद हैं। सहरसा में उन्‍होंने कुर्सी को विकेट बनाकर क्रिकेट भी खेला था। सहरसा प्रवास के दौरान उन्होंने बताया था कि मां उनके बेहद करीब थीं। उन्होंने ही उनके मुंडन का संकल्प लिया था, जिसे पूरा करने आए थे।

एक साल पहले सहरसा में गली क्रिकेट का मजा लेते सुशांत

कोसी नदी में की थी नाव की सवारी

सुशांत इस दौरान पैतृक गांव पूर्णिया जिले के बी.कोठी प्रखंड स्थित मलडीहा भी गए थे। ननिहाल जाने के दौरान उन्होंने कोसी में नाव की सवारी भी की थी।

पटना में होगा अंतिम संस्‍कार

सुशांत के परिवार में पिता के अलावा चार बहनें हैं। वे सभी बिहार से बाहर रहतीं हैं। उनमें एक मितू सिंह राज्‍य स्‍तरीय क्रिकेट खिलाड़ी हैं। बताया जा रहा है कि चंडीगढ़ में रहने वाली बड़ी बहन मुंबई जा रहीं हैं। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार वे शव को लेकर पटना आएंगी। अंतिम संस्‍कार पटना में ही संपन्‍न होगा।


यादों में सुशांतः सहरसा की सड़कों पर घूमे थे, आज भी लोगों को है याद, देखिए अनदेखी तस्वीरें

बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत की खबर से हर कोई हैरान है. बिहार के खगड़िया के लोगों ने बताया कि वह करीब 17 साल के बाद अपने ननिहाल आए थे. यहां आने के दौरान रिश्तेदारों के अलावा अन्य लोगों से भी उनका मिलने-जुलने का तरीका बेहद दोस्ताना था1/8

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews