BIHAR:अब एनआईसी के माध्यम से जून के पूरक पोषाहार की राशि लाभार्थी के खाते में जाएगी - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Tuesday, June 16, 2020

BIHAR:अब एनआईसी के माध्यम से जून के पूरक पोषाहार की राशि लाभार्थी के खाते में जाएगी



•समाज कल्याण मंत्री ने किया कार्यक्रम का शुभारंभ

•राज्य के सभी जिलों के लिए
1601.78 लाख की राशि हस्तांतरित

• ई-लाभार्थी पोर्टल विकसित किया गया

पटना। कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों के लाभुकों को मिलने वाली जून महीने की पूरक पोषाहार की राशि अब आईसीडीएस निदेशालय स्तर से ही एनआईसी के माध्यम से सीधे लाभुकों के खाते में भेजी जाएगी। इस कार्यक्रम की शुभारंभ समाज कल्याण मंत्री ने अपने कार्यालय कक्ष में किया। राशि हस्तांरण के लिए एनआईसी के द्वारा ई-लाभार्थी पोर्टल विकसित किया गया है। जिससे कुल 832761 लाभार्थियों यथा - (06 माह से 03 वर्ष के सामान्य/कुपोषित बच्चे/06 माह से 03 वर्ष के सामान्य/अतिकुपोषित बच्चे/03 से 06 वर्ष के बच्चे एवं गर्भवती/धातृ महिलाओं) प्रति लाभार्थी निर्धारित राषि की दर से कुल 1601.78 लाख रू. की राशि हस्तांतरित की गई है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए इसी व्यवस्था के तहत राशि का हस्तांतरण लाभार्थियों के खाता में किया जायेगा । मंत्री, समाज कल्याण विभाग ने कहा कि यह एक अनोखा प्रयास पोषाहार वितरण को अधिक पारदर्शी बनायेगा। दरअसल पहले यह डीबीटी की राशि सीडीपीओ स्तर से ही लाभुकों के खाते में भेजा जाता था, लेकिन अब इस नियमों में बदलाव
किया है।
निदेशालय ने सभी बाल विकास परियोजना को पूर्व में आवंटित राशि को डीपीओ के माध्यम से निदेशालय को भेजना का निर्देश दिया है। सभी सीडीपीओ को आंगन एप के माध्यम से शत-प्रतिशत लाभार्थियों का डाटा पोर्टल पर डाटा अपलोड करने के बाद सेविका और महिला पर्यवेक्षिका के माध्यम से शत-प्रतिशत लाभुकों के डाटा का वेरिफिकेशन करवाने का निर्देश दिया है। निदेशालय से प्राप्त निर्देश के अनुसार सभी सीडीपीओ को राशि ट्रांसफर करने का निर्देश जारी कर दिया गया है। लाभुकों के खाते में जून महीने की राशि निदेशालय के द्वारा ही डीबीटी के माध्यम से भेजी जाएगी।

उक्त बैठक में अतुल प्रसाद, अपर मुख्य सचिव, समाज कल्याण विभाग, आलोक कुमार, निदेशक, आई.सी.डी.एस., एन.आई.सी. एवं अन्य विभागीय पदाधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews